Asianet News Hindi

खतरनाक ड्राइविंग: मां खुश थी कि बेटा कुछ बनकर घर लौटेगा, इन दो लड़कियों ने खून के आंसू रुला दिए

First Published Nov 7, 2020, 9:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर, राजस्थान. किसी के लिए तेज रफ्तार गाड़ी चलाने का शौक किसी की जिंदगी कैसे छीन लेता है, यह एक्सीडेंट इसी का उदाहरण है। शुक्रवार को अजमेर रोड स्थित एलिवेटेड रोड पर इन दो लड़कियों ने 100 की स्पीड से अपनी ऑडी कार से इस युवक को उड़ा दिया था। एक्सीडेंट इतना भीषण था कि युवक 30 फीट हवा में उछलकर दूर एक दुकान की छत पर जाकर गिरा था। हादसे में उसका एक पैर कटकर अलग हो गया था। वहीं, सिर टकराने से उसकी मौत हो गई थी। मृतक माड़ाराम रैबारी जोधपुर के बाजवा गांव से 350 किमी दूर जयपुर पुलिस कांस्टेबल की भर्ती में शामिल होने आया था। उसकी मां ने गहने गिरवी रख, खेत बेचकर उसे पढ़ाया था। मां को उम्मीद थी कि बेटा भर्ती में सफल होकर घर लौटेगा, लेकिन खबर मौत की मिली। माड़ाराम एलिवेटेड रोड पर पैदल चलकर परीक्षा केंद्र जा रहा था, तभी चंद सेकंड में पीछे से मौत ने टक्कर दे मारी। माड़ाराम 4 भाई और 3 बहनें हैं। तीन भाई प्राइवेट नौकरी करते हैं। माड़ाराम सबसे छोटा था। वो पुलिस अफसर बनना चाहता था। गरीब परिवार का माड़ाराम कुछ बनकर अपने घर की आर्थिक स्थित संभालना चाहता था, लेकिन एक टक्कर से सब बिघर गया।

माड़ाराम की मौत की खबर सुनकर जयपुर पहुंचे भाई प्रकाश ने बताया कि वो 4-5 साल से जयपुर में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। जयपुर में उसकी बहन की ससुराल है। वो उसी के संग रहता था। कोचिंग की फीस के लिए मां ने अपने गहने तक गिरवी रख दिए थे। एक खेत तक बेच दिया था।
(इन्हीं लड़कियों ने माड़ाराम को अपनी ऑडी से टक्कर मारी थी)

माड़ाराम की मौत की खबर सुनकर जयपुर पहुंचे भाई प्रकाश ने बताया कि वो 4-5 साल से जयपुर में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। जयपुर में उसकी बहन की ससुराल है। वो उसी के संग रहता था। कोचिंग की फीस के लिए मां ने अपने गहने तक गिरवी रख दिए थे। एक खेत तक बेच दिया था।
(इन्हीं लड़कियों ने माड़ाराम को अपनी ऑडी से टक्कर मारी थी)

माड़ाराम गुरुवार रात को जोधपुर से ट्रेन में बैठकर जयपुर के लिए निकला था। शुक्रवार सुबह जयपुर रेलवे स्टेशन से उतरकर परीक्षा केंद्र की ओर चल पड़ा। इसी दौरान यह हादसा हुआ।

(अपने भाई की मौत पर बिलखता प्रकाश)

माड़ाराम गुरुवार रात को जोधपुर से ट्रेन में बैठकर जयपुर के लिए निकला था। शुक्रवार सुबह जयपुर रेलवे स्टेशन से उतरकर परीक्षा केंद्र की ओर चल पड़ा। इसी दौरान यह हादसा हुआ।

(अपने भाई की मौत पर बिलखता प्रकाश)

लड़कियां अपनी ऑडी 100 की रफ्तार से चला रही थीं। उन्होंने पीछे से माड़ाराम का इतनी जोरदार टक्कर मारी कि वो 30 फीट हवा में उछलकर सड़क के पास बनी दो मंजिला दुकान की छत पर जाकर गिरा। 

लड़कियां अपनी ऑडी 100 की रफ्तार से चला रही थीं। उन्होंने पीछे से माड़ाराम का इतनी जोरदार टक्कर मारी कि वो 30 फीट हवा में उछलकर सड़क के पास बनी दो मंजिला दुकान की छत पर जाकर गिरा। 

माड़ाराम को टक्कर मारने के बाद कार एक पोल से जा टकराई। पोल भी उखड़कर अजमेर रोड पर जा गिरा। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। दुकानदार को फोन करके बुलवाया और फिर लाश उठवाई। लेकिन लाश को एम्बुलेंस ने ले जाने से मना कर दिया, तो ऑटो में ले जाना पड़ी।

माड़ाराम को टक्कर मारने के बाद कार एक पोल से जा टकराई। पोल भी उखड़कर अजमेर रोड पर जा गिरा। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। दुकानदार को फोन करके बुलवाया और फिर लाश उठवाई। लेकिन लाश को एम्बुलेंस ने ले जाने से मना कर दिया, तो ऑटो में ले जाना पड़ी।

इसी छत पर आकर गिरा था माड़ाराम। हादसा इतना भीषण था कि मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

इसी छत पर आकर गिरा था माड़ाराम। हादसा इतना भीषण था कि मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने कार ड्राइव कर रही नेहा नामक युवती के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एक्सीडेंट के बाद एयरबैग खुलने से दोनों लड़कियों को कुछ नहीं हुआ।

पुलिस ने कार ड्राइव कर रही नेहा नामक युवती के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एक्सीडेंट के बाद एयरबैग खुलने से दोनों लड़कियों को कुछ नहीं हुआ।

इसी कार ने ली माड़ाराम की जान। मौके पर मौजूद पुलिस।

इसी कार ने ली माड़ाराम की जान। मौके पर मौजूद पुलिस।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios