Asianet News Hindi

राम मंदिर का चंदा देने से पहले सावधान, पढ़ लीजिए यह खबर..कहीं आप भी तो नहीं हो रहे धोखे के शिकार

First Published Jan 15, 2021, 2:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


उदयपुर (राजस्थान). भगवान राम की जन्म भूमि अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण को लेकर आज से चंदा एकत्रित यानि  निधि समर्पण अभियान कार्यक्रम की शरुआत हो गई है। देश भर में सवा लाख टोलियां इस अभियान में जुट गई हैं, जो घर-घर जाकर चंदा लेंगी। इसी बीच मंदिर निर्माण के नाम पर फर्जीवाड़ा करके वसूली का खेल शुरू हो गया। कुछ लोग भगवान के नाम पर लोगों को चूना लगाने के लिए तैयार हैं। इसलिए लोगों को ऐसे फर्जी लोगों से सावधान रहने की जरूरत है। पढ़िए एक चौंकाने वाला मामला...


दरअसल, उदयपुर में एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां श्रीराम मंदिर के भव्य निर्माण के नाम पर लोगों को गुमराह करके चूना लगाया जा रहा था। यहां विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं ने एक ऐसे युवक को पकड़ा है जो फर्जी रसीद बुक से मंदिर निर्माण के नाम पर पैसे वसूल रहा था। चंदे की यह रसीद देखकर कोई नहीं कह सकता है कि यह कोई फर्जी काम कर रहा है। 


दरअसल, उदयपुर में एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां श्रीराम मंदिर के भव्य निर्माण के नाम पर लोगों को गुमराह करके चूना लगाया जा रहा था। यहां विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं ने एक ऐसे युवक को पकड़ा है जो फर्जी रसीद बुक से मंदिर निर्माण के नाम पर पैसे वसूल रहा था। चंदे की यह रसीद देखकर कोई नहीं कह सकता है कि यह कोई फर्जी काम कर रहा है। 


भगवान के नाम पर जालसाजी करने वाला यह युवक शहर के एक स्थानीय हिंदु संगठन केसरिया हिंदू परिषद का कार्यकर्ता है। उदयपर विहिप महानगर प्रमुख अशोक प्रजापत ने बतया कि पिछले कई दिन से शहर में ऐसी जालसाजी की खबरें सामने आ रहीं थीं। हमने आरोपी को मौके पर रंगेहाथ पकड़ा है, उसके पास से फर्जी रसीद बुक और अन्य दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं। जिनको स्थानीय पुलिस थाने में जमा कर दिया गया है।  (फोटो में आरोपी)


भगवान के नाम पर जालसाजी करने वाला यह युवक शहर के एक स्थानीय हिंदु संगठन केसरिया हिंदू परिषद का कार्यकर्ता है। उदयपर विहिप महानगर प्रमुख अशोक प्रजापत ने बतया कि पिछले कई दिन से शहर में ऐसी जालसाजी की खबरें सामने आ रहीं थीं। हमने आरोपी को मौके पर रंगेहाथ पकड़ा है, उसके पास से फर्जी रसीद बुक और अन्य दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं। जिनको स्थानीय पुलिस थाने में जमा कर दिया गया है।  (फोटो में आरोपी)


बता दें कि भले ही अभी राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू नहीं हुआ। लेकिन राम मंदिर निर्माण के नाम पर फर्जीवाड़ा करके वसूली का खेल शुरू हो गया है। देशभर से ऐसी कई खबरें सामने आ रही हैं, जहां लोग इस तरह की जालसाजी कर रहे हैं। इसके लिए  विहिप कार्यकर्ताओं ने देश के कई शहरों में टोलियां बनाई हैं, जो ऐसे फर्जी लोगों को पकड़ रहे हैं। विहिप कहना है कि जो भी चंदा दे रहा है वह पहले विश्व हिंदू परिषद की रसीद को ध्यान से देखे, उस पर समीति का नाम और शहर प्रभारी के हस्ताक्षर के साथ मोबाइल नंबर दिए होंगे। पहले जांच परख ले इसके बाद भगवान के इस शुभ काम में चंदा दे। (आरोपी की यही है वो फर्जी रसीद)


बता दें कि भले ही अभी राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू नहीं हुआ। लेकिन राम मंदिर निर्माण के नाम पर फर्जीवाड़ा करके वसूली का खेल शुरू हो गया है। देशभर से ऐसी कई खबरें सामने आ रही हैं, जहां लोग इस तरह की जालसाजी कर रहे हैं। इसके लिए  विहिप कार्यकर्ताओं ने देश के कई शहरों में टोलियां बनाई हैं, जो ऐसे फर्जी लोगों को पकड़ रहे हैं। विहिप कहना है कि जो भी चंदा दे रहा है वह पहले विश्व हिंदू परिषद की रसीद को ध्यान से देखे, उस पर समीति का नाम और शहर प्रभारी के हस्ताक्षर के साथ मोबाइल नंबर दिए होंगे। पहले जांच परख ले इसके बाद भगवान के इस शुभ काम में चंदा दे। (आरोपी की यही है वो फर्जी रसीद)

मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व मंत्री पीसी शर्मा भोपाल में व्यापारियों के पास जाकर अपील कर रहे हैं कि आप लोग सीधे किसी को चंदा नहीं दें। सीधे राम मंदिर ट्रस्ट के अकाउंट में राशि ट्रांसफर करें। इससे फायदा यह होगा कि बिचौलिए बीच में नहीं रहेंगे। पहले भी राम मंदिर के नाम पर चंदा हुआ है लेकिन उन पैसों का हिसाब कहां हैं।

मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व मंत्री पीसी शर्मा भोपाल में व्यापारियों के पास जाकर अपील कर रहे हैं कि आप लोग सीधे किसी को चंदा नहीं दें। सीधे राम मंदिर ट्रस्ट के अकाउंट में राशि ट्रांसफर करें। इससे फायदा यह होगा कि बिचौलिए बीच में नहीं रहेंगे। पहले भी राम मंदिर के नाम पर चंदा हुआ है लेकिन उन पैसों का हिसाब कहां हैं।


तस्वीर में विश्व हिंदू परिषद के महानगर प्रमुख अशोक प्रजापत जिन्होंने उदयपुर में राम मंदिर के नाम पर इस फर्जी को रंगे हाथ पकड़ा  है।
 


तस्वीर में विश्व हिंदू परिषद के महानगर प्रमुख अशोक प्रजापत जिन्होंने उदयपुर में राम मंदिर के नाम पर इस फर्जी को रंगे हाथ पकड़ा  है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios