Asianet News Hindi

पिता को बीच में कर लटके 2 बेटे..मां ने आंखों पर पट्टी बांध लगाई फांसी..इस वजह से परिवार को मरना पड़ा

First Published Sep 19, 2020, 1:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर. दो साल पहले देश की राजधानी दिल्ली के बुराड़ी कांड की तरह ही जयपुर में  एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक कारोबारी ने  सामूहिक तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैली हुई है। मामले की जानकारी लगते ही पुलिस के आला अफसर और  एफएसएल टीम मौके पर पहुंच गई है। फिलहाल घटनास्थल की जांच की जा रही है।


इस वजह से पूरा परिवार मर गया
दरअसल, यह दर्दनाक घटना जयपुर जिले के कानोता थाना क्षेत्र में शनिवार दोपहर में हुई। जहां भरत सोनी नाम के व्यापारी ने अपनी पत्नी ममता सोनी और दो जवान बेटों अजीत सोनी(23) और यशवंत सोनी(20)  के साथ मिलकर आर्थिक तंगी के कारण यह खौफनाक कदम उठाया। स्थानीय लोगों के मुताबिक, लॉकडाउन के बाद से ही पूरा परिवार परेशान चल रहा था। लेकिन यह नहीं सोचा था कि वह ऐसा कर जाएंगे।
 


इस वजह से पूरा परिवार मर गया
दरअसल, यह दर्दनाक घटना जयपुर जिले के कानोता थाना क्षेत्र में शनिवार दोपहर में हुई। जहां भरत सोनी नाम के व्यापारी ने अपनी पत्नी ममता सोनी और दो जवान बेटों अजीत सोनी(23) और यशवंत सोनी(20)  के साथ मिलकर आर्थिक तंगी के कारण यह खौफनाक कदम उठाया। स्थानीय लोगों के मुताबिक, लॉकडाउन के बाद से ही पूरा परिवार परेशान चल रहा था। लेकिन यह नहीं सोचा था कि वह ऐसा कर जाएंगे।
 


पिता के अलग-बगल लटके थे दोनों बेटे
पुलिस को लोगों ने बताया कि भरत सोनी के घर का दरवाजा सुबह से ही बंद था। दो तीन घंटे होने के बाद जब कोई हलचल नहीं हुई तो पड़ोसियों ने उनको आवाज दी, लेकिन कोई हलचल नहीं हुई। फिर लोगों को अनहोनि की अशंका हुई तो उन्होंने खिड़की से झांककर देख तो पूरा परिवार फंदे पर लटक रहा था।


पिता के अलग-बगल लटके थे दोनों बेटे
पुलिस को लोगों ने बताया कि भरत सोनी के घर का दरवाजा सुबह से ही बंद था। दो तीन घंटे होने के बाद जब कोई हलचल नहीं हुई तो पड़ोसियों ने उनको आवाज दी, लेकिन कोई हलचल नहीं हुई। फिर लोगों को अनहोनि की अशंका हुई तो उन्होंने खिड़की से झांककर देख तो पूरा परिवार फंदे पर लटक रहा था।

मां की बंधी हुईं थीं आंखें..बेटों के पैर पर थी रस्सी
घटना की जानकारी होते ही पुलिस को मौके पर पहुंची और घर  का दरवाजा तोड़ा। देखा तो पिता और दो बेटे एक हॉल में फंदे पर लटके मिले। वहीं बेड़रूम में पत्नी अकेली लटकी हुई थी। जिसकी आंख पर पट्टी बंधी हुई थी और दोनों बेटों के पैर बंधे थे।

मां की बंधी हुईं थीं आंखें..बेटों के पैर पर थी रस्सी
घटना की जानकारी होते ही पुलिस को मौके पर पहुंची और घर  का दरवाजा तोड़ा। देखा तो पिता और दो बेटे एक हॉल में फंदे पर लटके मिले। वहीं बेड़रूम में पत्नी अकेली लटकी हुई थी। जिसकी आंख पर पट्टी बंधी हुई थी और दोनों बेटों के पैर बंधे थे।

एक दिन पहले मौत की धमकी देकर गया था वो
मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी मनोज चौधरी ने बताया कि ज्वैलरी का काम करन वाले भरत सोनी ने किसी से ब्याज पर पैसा लिया था। पैसा देने ब्याज माफिया आए दिन उनको परेशान कर रहा था। बताया जाता है कि आरोपी एक दिन पहले रात में मृतक परिवार के घर आया था और पैने वापस नहीं देने पर उनको जान से मारने की धमकी देकर गया था। जिसके कारण परिवार ने परेशान होकर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। 

एक दिन पहले मौत की धमकी देकर गया था वो
मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी मनोज चौधरी ने बताया कि ज्वैलरी का काम करन वाले भरत सोनी ने किसी से ब्याज पर पैसा लिया था। पैसा देने ब्याज माफिया आए दिन उनको परेशान कर रहा था। बताया जाता है कि आरोपी एक दिन पहले रात में मृतक परिवार के घर आया था और पैने वापस नहीं देने पर उनको जान से मारने की धमकी देकर गया था। जिसके कारण परिवार ने परेशान होकर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। 


सुसाइड नोट के बारे में किसी को नहीं बताया
पुलिस मौके पर कोई सुसाइड नोट मिला है या नहीं, इस बारे में पुलिस ने किसी को अभी कुछ नहीं बताया। फिलहाल हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। वहीं चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है और उनके रिश्तेदारों को सूचित कर मौके पर बुलाया है।
 


सुसाइड नोट के बारे में किसी को नहीं बताया
पुलिस मौके पर कोई सुसाइड नोट मिला है या नहीं, इस बारे में पुलिस ने किसी को अभी कुछ नहीं बताया। फिलहाल हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। वहीं चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है और उनके रिश्तेदारों को सूचित कर मौके पर बुलाया है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios