Asianet News Hindi

अजीब मामला: थाली में खून लेकर पहुंचे लोग, कहा-खून ही चूसना है तो ये लो पीलो..बस तंग मत करो..

First Published Jun 4, 2020, 8:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भीलवाड़ा (राजस्थान). पूरे देश में लॉकडाउन जारी है, जिसके चलते लोगों का रोजगार छिन गया और व्यापार व उद्योग धंधे बंद है। जिसकी वजह से जनता को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। इसी बीच राजस्थान में बिजली का बिल भरने का जनता को अल्टीमेटम दे दिया गया। इसके विरोध में लोगों ने अनूठा प्रर्दशन किया, जहां वह थानी में खून लेकर बिजली दफ्तर पहुंचे। बता दें कि बिजली निगम ने 31 मई के बाद से 2 प्रतिशत पेनाल्टी लगाने व कनेक्शन काटने शुरू कर दिए है। जिसके बाद राज्य में इसका विरोध किया जा रहा है।

दरअसल, यह अजीब मामला भीलवाड़ा में देखने को मिला, जहां गुरुवार को विद्यार्थी परिषद् के छात्र-छात्राओं ने सिक्‍योर मीटर्स कार्यालय पर एक अनूठा प्रदर्शन कर बिजली कंपनी में हड़कंप मंचा दिया। वह अपना-अपना खुन निकाल एक थाली में भरकर पहुंचे थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा-लो इसको पी लो, अगर खून ही चूसना है तो यह लो हमारा पीओ।

दरअसल, यह अजीब मामला भीलवाड़ा में देखने को मिला, जहां गुरुवार को विद्यार्थी परिषद् के छात्र-छात्राओं ने सिक्‍योर मीटर्स कार्यालय पर एक अनूठा प्रदर्शन कर बिजली कंपनी में हड़कंप मंचा दिया। वह अपना-अपना खुन निकाल एक थाली में भरकर पहुंचे थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा-लो इसको पी लो, अगर खून ही चूसना है तो यह लो हमारा पीओ।

छात्रों ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान बंद दुकानों के भी सिक्‍योर मीटर्स कम्‍पनी ने बिजली के बिल पुराने बिलों के हिसाब से निकालकर भेज दिए। जब व्‍यापारी अपना व्‍यापार बन्‍द रखे हुए हैं तो ऐसे में वह दस-दस हजार रुपए के बिजली का बिल कहां से भरेगा।

छात्रों ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान बंद दुकानों के भी सिक्‍योर मीटर्स कम्‍पनी ने बिजली के बिल पुराने बिलों के हिसाब से निकालकर भेज दिए। जब व्‍यापारी अपना व्‍यापार बन्‍द रखे हुए हैं तो ऐसे में वह दस-दस हजार रुपए के बिजली का बिल कहां से भरेगा।

वहीं एबीवीपी कार्यकर्ताओं का कहना था कि जब खून ही चूसना है तो फिर अप्रत्यक्ष क्यों? हम प्रत्यक्ष में खुन लेकर आपके लिए आए हैं। हालांकि घटना की जानकारी लगते ही प्रतापनगर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया।
 

वहीं एबीवीपी कार्यकर्ताओं का कहना था कि जब खून ही चूसना है तो फिर अप्रत्यक्ष क्यों? हम प्रत्यक्ष में खुन लेकर आपके लिए आए हैं। हालांकि घटना की जानकारी लगते ही प्रतापनगर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया।
 

एबीवीपी के विभाग सहसंयोजक शंकर गुर्जर ने कहा- अब भी सिक्योर कम्पनी बिलों में छूट नहीं देती है तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।

एबीवीपी के विभाग सहसंयोजक शंकर गुर्जर ने कहा- अब भी सिक्योर कम्पनी बिलों में छूट नहीं देती है तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios