Asianet News Hindi

रेगिस्तान बना बर्फिस्तान: ठंड ने तोड़ा 46 साल का रिकॉर्ड, हाथ-पैर पड़े सुन्न..मौसम विभाग की चेतावनी

First Published Dec 30, 2020, 1:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर. राजस्थान की पहचान रेगिस्तान से होती है, जहां गर्मियों में पारा 50 डिग्री के पार पहुंच जाता है। लेकिन अब यही रेगिस्तान  बर्फिस्तान बन गया है। प्रदेश में दो-तीन दिन से पड़ रही कड़कड़ाती सर्दी रिकॉर्ड तोड़ रही है। इस हाड़ कंपा देने वाली ठंड ने अपना ऐसा जाल बिछाया है कि कई शहरों में पारा शून्य से नीचे यानि माइनस में आ गया है। नए साल का जश्न मनाने वाले लोगों के लिए यह सर्दी जानलेवा है। मौसम विभाग ने मैदानी इलाकों में जाने की चेतावनी जाहिर की है।
 

इस शहर में ठंड ने तोड़ा 46 साल का रिकॉर्ड
चूरू में तो बीती रात आलम यह था कि तापमान 1.5 डिग्री पर पहुंच गया, बताया जाता है कि इतने नीचे तापमान 46 साल बाद दिसंबर के माह में कम हुआ है। इससे पहले चूरू में 28 दिसंबर 1973 में -4.6 डिग्री पहुंचा था।
 

इस शहर में ठंड ने तोड़ा 46 साल का रिकॉर्ड
चूरू में तो बीती रात आलम यह था कि तापमान 1.5 डिग्री पर पहुंच गया, बताया जाता है कि इतने नीचे तापमान 46 साल बाद दिसंबर के माह में कम हुआ है। इससे पहले चूरू में 28 दिसंबर 1973 में -4.6 डिग्री पहुंचा था।
 

माउंट आबू में ओस की बूंदे भी बर्फ बन रहीं
प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में नए साल का जश्न मनाने पहुंचे सैलानी रजाइयों में दुबके बैठे हुए हैं। क्योंकि यहां कड़ाके की ठंड पड़ रही है।  मंगलवार रात यहां का पारा माइनस 4.0 डिग्री दर्ज किया गया। यहां पेड़ों पर ओस की बूंदे भी बर्फ बन रही है। बीती रात माउंट आबू में सीजन की सबसे सर्द रात रही है।  
 

माउंट आबू में ओस की बूंदे भी बर्फ बन रहीं
प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में नए साल का जश्न मनाने पहुंचे सैलानी रजाइयों में दुबके बैठे हुए हैं। क्योंकि यहां कड़ाके की ठंड पड़ रही है।  मंगलवार रात यहां का पारा माइनस 4.0 डिग्री दर्ज किया गया। यहां पेड़ों पर ओस की बूंदे भी बर्फ बन रही है। बीती रात माउंट आबू में सीजन की सबसे सर्द रात रही है।  
 

जमने लगा बर्तनों में रखा पानी..जम गई बर्फ
सीकर-फतेहपुर में तो लोग दिनभर आग जालकर उसके सामने बैठे रहे। यहां खुले बर्तनों में रखा पानी जम जा रहा है। कई जगह पर पिछले दो दिन से मैदानी इलाकों में बर्फ जमीं हुई है। फतेहपुर में माइनस 3 और सीकर में -4 -4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज हुआ।

जमने लगा बर्तनों में रखा पानी..जम गई बर्फ
सीकर-फतेहपुर में तो लोग दिनभर आग जालकर उसके सामने बैठे रहे। यहां खुले बर्तनों में रखा पानी जम जा रहा है। कई जगह पर पिछले दो दिन से मैदानी इलाकों में बर्फ जमीं हुई है। फतेहपुर में माइनस 3 और सीकर में -4 -4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज हुआ।

कड़के की ठंड से हाथ-पांव सुन्न पड़ने लगे
वहीं अगर राजधानी और पिंक सिटी जयपुर की बात करें तो यहां भी सर्दी का सितम जारी है। बीती रात यहां भी तापमान माइनस 1.4 डिग्री दर्ज हुआ। जयपुर में सुबह से ही शीत लहर चल रही है, आलम यह है कि लोगों के कड़के की ठंड से  हाथ-पांव सुन्न पड़ने लगे हैं।

कड़के की ठंड से हाथ-पांव सुन्न पड़ने लगे
वहीं अगर राजधानी और पिंक सिटी जयपुर की बात करें तो यहां भी सर्दी का सितम जारी है। बीती रात यहां भी तापमान माइनस 1.4 डिग्री दर्ज हुआ। जयपुर में सुबह से ही शीत लहर चल रही है, आलम यह है कि लोगों के कड़के की ठंड से  हाथ-पांव सुन्न पड़ने लगे हैं।

मौसम विभान ने लोगों की दी चेतावनी
राजस्तान के मौसम विभाग ने लोगों को चेतावनी दी है कि वह बिना काम के रात को घर से बाहर नहीं निकलें। आने वाली एक दो रातों में तापमान और नीचे जा सकता है। बर्फीली हवाएं चलने से कोल्ड-डे रहने का अलर्ट जारी किया है। खास कर अलवर, चूरू, सीकर, झुंझुनूं, भरतपुर, धौलपुर, कोटा, सवाई माधोपुर सहित पूरे उत्तर-पूर्वी भारत में शीत लहर का प्रकोप जारी रहेगा। 

मौसम विभान ने लोगों की दी चेतावनी
राजस्तान के मौसम विभाग ने लोगों को चेतावनी दी है कि वह बिना काम के रात को घर से बाहर नहीं निकलें। आने वाली एक दो रातों में तापमान और नीचे जा सकता है। बर्फीली हवाएं चलने से कोल्ड-डे रहने का अलर्ट जारी किया है। खास कर अलवर, चूरू, सीकर, झुंझुनूं, भरतपुर, धौलपुर, कोटा, सवाई माधोपुर सहित पूरे उत्तर-पूर्वी भारत में शीत लहर का प्रकोप जारी रहेगा। 


मुख्यमंत्री ने जनता के लिए किया सावधान
प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की ठंड के चलते राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी लोगों को सावधान किया है। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग ने राजस्थान के लिए शीतलहर को लेकर ऑरेन्ज व यलो अलर्ट जारी किया है,इसे देखते हुए सभी से अधिकाधिक सावधानी बरतने का आग्रह है। कोरोना महामारी के इस समय में बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखने की आवश्यकता है।कृपया हैल्थ प्रोटोकॉल्स की पालना करें और कोई लापरवाही न बरतें।


मुख्यमंत्री ने जनता के लिए किया सावधान
प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की ठंड के चलते राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी लोगों को सावधान किया है। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग ने राजस्थान के लिए शीतलहर को लेकर ऑरेन्ज व यलो अलर्ट जारी किया है,इसे देखते हुए सभी से अधिकाधिक सावधानी बरतने का आग्रह है। कोरोना महामारी के इस समय में बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखने की आवश्यकता है।कृपया हैल्थ प्रोटोकॉल्स की पालना करें और कोई लापरवाही न बरतें।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios