Asianet News Hindi

हवा में मंडराता रहा विमान, नहीं हो पाई लैंडिंग, यात्रियों की अटकी सांसे रोने लगे..जानिए फिर क्या हुआ

First Published Mar 21, 2021, 2:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जेसलमेर. राजस्थान के जैसलमेर एयरपोर्ट पर विमान उतरने से पहले ही यात्रियों की धड़कनें बढ़ने लगीं। क्योंकि विमान की तकनीकी कारणों से लैंडिंग नहीं हो पाई। करीब एक घंटे तक वह हवा में मंडराता रहा, पायलट ने प्लेन को लैंड कराने के लिए तीन बार प्रयास किए, लेकिन वह सफल नहीं हो सका।  ऐसी स्थिति में उसे फिर से अहमदाबाद ले जाना पड़ा, जहां से उसने उड़ान भरी थी।


दरअसल, स्पाइसजेट की उड़ान सेवा एसजी 3012 ने अहमदाबाद से जैसलमेर के लिए नियमित रूप से दोपहर करीब 12 बजे उड़ान भरता है। जिसकी लैंडिग 1 बजे तय समय अनुसार हो जाती है। शनिवार को जो हुआ वह ऐसा शायद ही जैसलमेर में कभी हुआ हो। पायलट जैसे ही विमान को एयरपोर्ट पर लाया और उसे लैंडिंग कराता रहा। उसने कई बार अपनी पोजिशन ली, अलग-अलग डायरेक्शन से विमान की लैंडिंग करवाने की कोशिश की गई। इस तरह चालक एक नहीं तीन बार उसे लैंड कराता रहा  लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाया।


दरअसल, स्पाइसजेट की उड़ान सेवा एसजी 3012 ने अहमदाबाद से जैसलमेर के लिए नियमित रूप से दोपहर करीब 12 बजे उड़ान भरता है। जिसकी लैंडिग 1 बजे तय समय अनुसार हो जाती है। शनिवार को जो हुआ वह ऐसा शायद ही जैसलमेर में कभी हुआ हो। पायलट जैसे ही विमान को एयरपोर्ट पर लाया और उसे लैंडिंग कराता रहा। उसने कई बार अपनी पोजिशन ली, अलग-अलग डायरेक्शन से विमान की लैंडिंग करवाने की कोशिश की गई। इस तरह चालक एक नहीं तीन बार उसे लैंड कराता रहा  लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाया।


जब विमान की लैंडिग नहीं हो पाई तो इस दौरान यात्रियों की सांसे अटक गईं, कई यात्री घबराकर रोने लगे। किसी तरह एयरहोस्टेस ने लोगों को समझाया, आपको कुछ नहीं होगा। फिर भी कुछ लोग चीखने लगी पता नहीं हम बचेंगे या नहीं।


जब विमान की लैंडिग नहीं हो पाई तो इस दौरान यात्रियों की सांसे अटक गईं, कई यात्री घबराकर रोने लगे। किसी तरह एयरहोस्टेस ने लोगों को समझाया, आपको कुछ नहीं होगा। फिर भी कुछ लोग चीखने लगी पता नहीं हम बचेंगे या नहीं।


पायलट ने अपनी समझदारी दिखाते हुए विमान को वापस अहमदाबाद की तरफ डायवर्ट कर दिया। जिसके बाद एयरलाइंस कंपनी ने बाद में दूसरे पायलट के साथ विमान को जैसलमेर भेजा। फिर  2 बजकर 40 मिनट पर सुरक्षित लैंडिंग कराई गई।


पायलट ने अपनी समझदारी दिखाते हुए विमान को वापस अहमदाबाद की तरफ डायवर्ट कर दिया। जिसके बाद एयरलाइंस कंपनी ने बाद में दूसरे पायलट के साथ विमान को जैसलमेर भेजा। फिर  2 बजकर 40 मिनट पर सुरक्षित लैंडिंग कराई गई।


एयरलाइंस कंपनी के आदेश के बाद पायलट ने करीब दो घंटे बाद यात्रियों को उसी विमान में बैठाकर अहमदाबाद से जैसलमेर के लिए उड़ान भरी। फिर जैसलमेर एयरपोर्ट पर  5 बजकर 15 मिनट पर सुरक्षित लैंडिंग हो सकी। जैसलमेर एयरपोर्ट डायरेक्टर बीएस मीणा ने बताया कि विमान की लैंडिंग में तकनीकी कारणों से दिक्कत आई थी। जिसे सही कर दिया गया है।


एयरलाइंस कंपनी के आदेश के बाद पायलट ने करीब दो घंटे बाद यात्रियों को उसी विमान में बैठाकर अहमदाबाद से जैसलमेर के लिए उड़ान भरी। फिर जैसलमेर एयरपोर्ट पर  5 बजकर 15 मिनट पर सुरक्षित लैंडिंग हो सकी। जैसलमेर एयरपोर्ट डायरेक्टर बीएस मीणा ने बताया कि विमान की लैंडिंग में तकनीकी कारणों से दिक्कत आई थी। जिसे सही कर दिया गया है।


बता दें कि इस विमान में करीब 44 यात्री बैठे थे। हालांकि इस फ्लाइट की झमता  90 यात्रियों की बैठने की है। फिर भी वह लैंड नहीं हो पाया था।


बता दें कि इस विमान में करीब 44 यात्री बैठे थे। हालांकि इस फ्लाइट की झमता  90 यात्रियों की बैठने की है। फिर भी वह लैंड नहीं हो पाया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios