Asianet News Hindi

दिल दहला देने वाला हादसा: 7 भजन गायकों की एक साथ दर्दनाक मौत..खून से सने थे म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट

First Published Sep 6, 2020, 1:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


भीलवाड़ा. राजस्थान में दिल दहला देने वाले हादसे की खबर सामने आई है, जहां  रॉग्ग साइड से आ रहे ट्रेलर ने एक वैन को टक्कर मार दी। जिसमें बैठे 7 लोगों की मौके पर मौत हो गई, वहीं दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की जानकारी लगते ही आसपास के लोग और पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को निकाला गया। बता दें कि हादसे में मारे जाने वाले मृतक भजन गायक और लोक कलाकार थे।

दरअसल, यह दर्दनाक हादसा भीलवाड़ा नेशनल हाईवे पर केसरपुरा के पास शनिवार देर रात में हुआ। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी विनोद कुमार मीणा ने सातों मृतकों की पहचान कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं हादसे की सूचना मृतकों के परिवार को दी। बताया जाता है कि वैन सवार सभी लोग अपनी बेटी की ससुराल एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जा रहे थे। (प्रतीकात्मक फोटो)

दरअसल, यह दर्दनाक हादसा भीलवाड़ा नेशनल हाईवे पर केसरपुरा के पास शनिवार देर रात में हुआ। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी विनोद कुमार मीणा ने सातों मृतकों की पहचान कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं हादसे की सूचना मृतकों के परिवार को दी। बताया जाता है कि वैन सवार सभी लोग अपनी बेटी की ससुराल एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जा रहे थे। (प्रतीकात्मक फोटो)

बताया जाता है कि यह दर्दनाक हादसा गलत तरफ से आते ट्रेलर के कारण हुआ। ट्रेलर से टकराते ही वैन के इंजन में शॉर्ट सर्किट हुआ, जिससे वह जलने लगी और अंदर बैठे सभी सवारियों की मौके पर ही मौत हो गई।

बताया जाता है कि यह दर्दनाक हादसा गलत तरफ से आते ट्रेलर के कारण हुआ। ट्रेलर से टकराते ही वैन के इंजन में शॉर्ट सर्किट हुआ, जिससे वह जलने लगी और अंदर बैठे सभी सवारियों की मौके पर ही मौत हो गई।


हैडकांस्टेबल राजेश कुमार और हाईवे पेट्रोलिंग के प्रभारी धर्मचंद खटीक की ने बताया कि वे हादसे की सूचना मिलने तुरंत बाद मौके पर पहुंच गए थे। उन्होंने देखा कि सड़क पर दूर तक खून फैला हुआ था और लोग बुरी तरह चीख रहे थे। पांच तो मर चुके थे, लेकिन दो युवक बुरी तरह छटपटा रहे थे। किसी तरह हमने उनको अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की लेकिन रास्ते में उन्होंने भी दम तोड़ दिया।


हैडकांस्टेबल राजेश कुमार और हाईवे पेट्रोलिंग के प्रभारी धर्मचंद खटीक की ने बताया कि वे हादसे की सूचना मिलने तुरंत बाद मौके पर पहुंच गए थे। उन्होंने देखा कि सड़क पर दूर तक खून फैला हुआ था और लोग बुरी तरह चीख रहे थे। पांच तो मर चुके थे, लेकिन दो युवक बुरी तरह छटपटा रहे थे। किसी तरह हमने उनको अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की लेकिन रास्ते में उन्होंने भी दम तोड़ दिया।


हादसे में मारे जाने वाले सभी लोग बैंड बजाने, मंदसौरी ढोल बजाने और लोकनाट्य वीर तेजाजी के खेलों का मंचन करते थे। यह लोग गा-बजाकर ही अपने परिवार का पेट पालते थे, लेकिन अब उनके मरने बाद  परिवारों में पीछे कमाने वाला कोई नहीं रहा। किसी के छोटे-छोटे मासूम बच्चे बिलख रहे हैं तो किसी की पत्नी बेसुध है।


हादसे में मारे जाने वाले सभी लोग बैंड बजाने, मंदसौरी ढोल बजाने और लोकनाट्य वीर तेजाजी के खेलों का मंचन करते थे। यह लोग गा-बजाकर ही अपने परिवार का पेट पालते थे, लेकिन अब उनके मरने बाद  परिवारों में पीछे कमाने वाला कोई नहीं रहा। किसी के छोटे-छोटे मासूम बच्चे बिलख रहे हैं तो किसी की पत्नी बेसुध है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios