Asianet News Hindi

पढ़िए ये 80 साल के आसाराम का मामला, उम्रकैद की काट रहे सजा, कुछ ऐसे लगाई है गुहार

First Published Nov 24, 2020, 3:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर (Rajasthan) । आसाराम की आयु करीब 80 साल हो गई है। जल्द से जल्द जेल से बाहर आना चाहते हैं। यह तभी संभव है, जब अधीनस्थ कोर्ट के फैसले के विरूद्ध हाईकोर्ट में दायर अपील पर शीघ्र सुनवाई पूरी हो। अब जनवरी के तीसरे सप्ताह में उसकी अपील पर सुनवाई शुरू होगी। कोर्ट ने सोमवार को ही बहस का प्रस्ताव दिया था, लेकिन आसाराम के वकील तैयार नहीं थे। वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दायर याचिका में आसाराम ने अपनी 80 साल की उम्र का हवाला देते हुए जल्द सुनवाई करने की मांग की थी। बता दें कि वो नाबालिग से यौन शोषण के मामले में उम्र कैद काट रहे हैं।


अपने ही गुरुकुल की नाबालिग छात्रा के साथ यौन दुराचार के मामले में आसाराम जोधपुर की सेंट्रल जेल में हैं। इसी मामले में जोधपुर की एससी एसटी की कोर्ट ने 25 अप्रैल 2018 को आसाराम को अंतिम सांस तक कारागार में रहने की सजा सुनाई है। 
 


अपने ही गुरुकुल की नाबालिग छात्रा के साथ यौन दुराचार के मामले में आसाराम जोधपुर की सेंट्रल जेल में हैं। इसी मामले में जोधपुर की एससी एसटी की कोर्ट ने 25 अप्रैल 2018 को आसाराम को अंतिम सांस तक कारागार में रहने की सजा सुनाई है। 
 


एससी-एसटी कोर्ट के फैसले को आसाराम ने उसी साल हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। लेकिन, कहीं से भी राहत नहीं मिली ,जिसके बाद आसाराम ने अपनी आयु का हवाला देते हुए मामले में हाई कोर्ट से शीघ्र सुनवाई की अपील की है। फिलहहाल वे जेल में बंद हैं। 


एससी-एसटी कोर्ट के फैसले को आसाराम ने उसी साल हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। लेकिन, कहीं से भी राहत नहीं मिली ,जिसके बाद आसाराम ने अपनी आयु का हवाला देते हुए मामले में हाई कोर्ट से शीघ्र सुनवाई की अपील की है। फिलहहाल वे जेल में बंद हैं। 


पिछले 7 सालों से अधिक समय से जेल में बंद होने के कारण आसाराम की ओर से शीघ्र सुनवाई की अर्जी लगाई गई थी, जिस पर राजस्थान हाई कोर्ट के जस्टिस संदीप मेहता और रामेश्वर लाल व्यास की कोर्ट ने आसाराम की अर्जी को बहस सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया।


पिछले 7 सालों से अधिक समय से जेल में बंद होने के कारण आसाराम की ओर से शीघ्र सुनवाई की अर्जी लगाई गई थी, जिस पर राजस्थान हाई कोर्ट के जस्टिस संदीप मेहता और रामेश्वर लाल व्यास की कोर्ट ने आसाराम की अर्जी को बहस सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया।


आसाराम की ओर से वीसी (वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग) के जरिए अधिवक्ता प्रदीप चौधरी ने पैरवी की और कहा है कि 2013 से आसाराम जेल में है और उसकी उम्र करीब 80 साल है। उसकी उम्र को देखते हुए अपील पर जल्द सुनवाई की जाए। 


आसाराम की ओर से वीसी (वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग) के जरिए अधिवक्ता प्रदीप चौधरी ने पैरवी की और कहा है कि 2013 से आसाराम जेल में है और उसकी उम्र करीब 80 साल है। उसकी उम्र को देखते हुए अपील पर जल्द सुनवाई की जाए। 


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताहबिक जब कोर्ट से आग्रह किया कि आसाराम की अपील पर जल्द सुनवाई की जाए तो जस्टिस मेहता और जस्टिस व्यास की खंडपीठ ने आसाराम के अधिवक्ता को कहा कि सोमवार को ही अपील पर बहस कर ली जाए। वे सुनने को तैयार हैं, लेकिन अधिवक्ता सुनवाई के लिए तैयार नहीं थे।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताहबिक जब कोर्ट से आग्रह किया कि आसाराम की अपील पर जल्द सुनवाई की जाए तो जस्टिस मेहता और जस्टिस व्यास की खंडपीठ ने आसाराम के अधिवक्ता को कहा कि सोमवार को ही अपील पर बहस कर ली जाए। वे सुनने को तैयार हैं, लेकिन अधिवक्ता सुनवाई के लिए तैयार नहीं थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios