Asianet News Hindi

राकेश टिकैत के आंसुओं से आंदोलन को मिली संजीवनी, गाजीपुर बॉर्डर पर बढ़ती जा रही किसानों की संख्या

First Published Jan 30, 2021, 1:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

दिल्ली । कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन 66वें दिन भी जारी है। गुरुवार को किसान खत्म होने के कगार पर पहुंचा किसान आंदोलन, किसान नेता राकेश टिकैत के आंसुओं वाले वीडियो वायरल होने के बाद से ही फिर पुराने रंगत में आ गया है। इस समय यूपी, हरियाणा और उत्तराखंड के किसानों का गाजीपुर बॉर्डर आने का सिलसिला जारी है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गाजीपुर बार्डर के दोनों तरफ की सड़कों को बंद कर दिया गया है। 
 

दिल्ली को हरियाणा से जोड़ने वाली सिंघू सीमा पर भारी सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। यहां पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात हैं। इसके अलावा टिकरी सीमा पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है।

दिल्ली को हरियाणा से जोड़ने वाली सिंघू सीमा पर भारी सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। यहां पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात हैं। इसके अलावा टिकरी सीमा पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है।

बताते चले कि 41 किसान संगठनों की 72 टीमें हर घर से एक सदस्य को भेजेने की तैयारी की है। कहा जा रहा है कि इसके लिए पटियाला से 700, मोगा से 450, गुरदासपुर से 50 और होशियारपुर के टांडा से 70 किसान एक दिन पहले ही दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। 
 

बताते चले कि 41 किसान संगठनों की 72 टीमें हर घर से एक सदस्य को भेजेने की तैयारी की है। कहा जा रहा है कि इसके लिए पटियाला से 700, मोगा से 450, गुरदासपुर से 50 और होशियारपुर के टांडा से 70 किसान एक दिन पहले ही दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। 
 

दिल्ली से सटे गाजीपुर बॉर्डर और गाजियाबाद को आने वाली एनएच-24 की सड़कें बंद कर दी गई हैं। इससे पहले किसान के प्रदर्शन के मद्देनजर गाजीपुर बॉर्डर के आसपास के इलाकों में इंटरनेट सेवाएं रोक दी गई थीं।

दिल्ली से सटे गाजीपुर बॉर्डर और गाजियाबाद को आने वाली एनएच-24 की सड़कें बंद कर दी गई हैं। इससे पहले किसान के प्रदर्शन के मद्देनजर गाजीपुर बॉर्डर के आसपास के इलाकों में इंटरनेट सेवाएं रोक दी गई थीं।

किसानों के प्रतिनिधि अनशन पर है। दिल्ली से सटी सीमाओं पर किसान भारी संख्या में मौजूद हैं। किसानों के प्रदर्शन के दौरान किसी अनहोनी को टालने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं।

किसानों के प्रतिनिधि अनशन पर है। दिल्ली से सटी सीमाओं पर किसान भारी संख्या में मौजूद हैं। किसानों के प्रदर्शन के दौरान किसी अनहोनी को टालने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं।

किसानों की आवाज को बुलंद करते हुए भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष और राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत ने भी कहा है कि यूपी के बागपत में कल रविवार को किसानों की पंचायत होनी है। पंचायत होने के बाद हम दिल्ली कूच करेंगे। किसानों पर जो राजनीति हो रही है उस पर पंचायत में चर्चा करेंगे।

किसानों की आवाज को बुलंद करते हुए भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष और राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत ने भी कहा है कि यूपी के बागपत में कल रविवार को किसानों की पंचायत होनी है। पंचायत होने के बाद हम दिल्ली कूच करेंगे। किसानों पर जो राजनीति हो रही है उस पर पंचायत में चर्चा करेंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios