Asianet News Hindi

सोमवती अमावस्या 12 अप्रैल को, शुभ फल पाने के लिए इस दिन करें ये उपाय

First Published Apr 11, 2021, 3:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. इस बार 12 अप्रैल, सोमवार को अमावस्या होने से सोमवती अमावस्या का योग बन रहा है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन मौन व्रत रखने से सहस्र गो दान का फल प्राप्त होता है। सोमवती अमावस्या पर पवित्र नदी में स्नान और जरूरतमंदों को दान करने की भी परंपरा है। जानिए शुभ फल पाने के लिए इस दिन और कौन-से काम कर सकते हैं…

1. तुलसी पर जल चढ़ाएं और 108 बार परिक्रमा करें। इस दिन सूर्य नारायण को जल देने से भी परेशानियां दूर होती हैं।
 

1. तुलसी पर जल चढ़ाएं और 108 बार परिक्रमा करें। इस दिन सूर्य नारायण को जल देने से भी परेशानियां दूर होती हैं।
 

2. सोमवती अमावस्या पर पीपल की पूजा करने का विशेष महत्व है। पीपल के मूल में भगवान विष्णु, तने में शिवजी तथा अग्रभाग में ब्रह्माजी का निवास होता है। अत: इस दिन पीपल के पूजन से सौभाग्य की वृद्धि होती है।
 

2. सोमवती अमावस्या पर पीपल की पूजा करने का विशेष महत्व है। पीपल के मूल में भगवान विष्णु, तने में शिवजी तथा अग्रभाग में ब्रह्माजी का निवास होता है। अत: इस दिन पीपल के पूजन से सौभाग्य की वृद्धि होती है।
 

3. अमावस्या पर पितरों की आत्मा की शांति के लिए तर्पण, पिंडदान आदि करना चाहिए।
 

3. अमावस्या पर पितरों की आत्मा की शांति के लिए तर्पण, पिंडदान आदि करना चाहिए।
 

4. इस दिन जरूरतमंदों को यथाशक्ति अनाज, कपड़े, भोजन व अन्य चीजों का दान करना चाहिए।
 

4. इस दिन जरूरतमंदों को यथाशक्ति अनाज, कपड़े, भोजन व अन्य चीजों का दान करना चाहिए।
 

5. जिन लोगों की जन्म कुंडली में चंद्रमा कमजोर है, उन्हें गाय को दही- चावल लिखाने चाहिए, इससे चंद्र दोष कम होता है।
 

5. जिन लोगों की जन्म कुंडली में चंद्रमा कमजोर है, उन्हें गाय को दही- चावल लिखाने चाहिए, इससे चंद्र दोष कम होता है।
 

6. कालसर्प दोष की शांति के लिए भी अमावस्या पर विशेष उपाय करने चाहिए या फिर विधिपूर्वक नवनाग स्त्रोत का पाठ करना चाहिए।
 

6. कालसर्प दोष की शांति के लिए भी अमावस्या पर विशेष उपाय करने चाहिए या फिर विधिपूर्वक नवनाग स्त्रोत का पाठ करना चाहिए।
 

7. सोमवती अमावस्या पर गाय को चारा खिलाना चाहिए और मछलियों के लिए आटे की गोलियां बनाकर नदी-तालाब में डालना चाहिए।
 

7. सोमवती अमावस्या पर गाय को चारा खिलाना चाहिए और मछलियों के लिए आटे की गोलियां बनाकर नदी-तालाब में डालना चाहिए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios