Asianet News Hindi

लॉकडाउन में नहीं आई एंबुलेंस, ठेले पर भाभी को ले गया अस्पताल, बीच रास्ते में ही तोड़ा दम

First Published Apr 12, 2020, 4:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मैनपुरी (Uttar Pradesh)। लॉक डाउन में हर ओर परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एंबुलेंस न पहुंचने के कारण एक बीमार महिला की मौत हो गई। आरोप है कि सरकारी एम्बुलेंस सेवा को फोन किया तो एम्बुलेंस पर तैनात ईएमटी द्वारा अपनी वजह बताकर सेवा देने से फिलहाल इंकार कर दिया गया। ऐसे में महिला के देवर ने उसे हाथ वाले ठेले पर रखकर जिला अस्पताल की इमरजेंसी में ले गए। लेकिन, उनके पहुंचने में देर हो गई। चिकित्सकों ने बताया कि रास्ते में ही महिला की मौत हो गई। 
 

शहर के मोहल्ला कटरा निवासी 42 साल की गुड्डी देवी के पति लक्ष्मी राठौर और बेटा जयपुर में प्राइवेट नौकरी करते हैं। लॉकडाउन के कारण वो दोनों वहीं फंसे हैं। रविवार सुबह गुड्डी देवी की अचानक तबीयत बिगड़ गई।

शहर के मोहल्ला कटरा निवासी 42 साल की गुड्डी देवी के पति लक्ष्मी राठौर और बेटा जयपुर में प्राइवेट नौकरी करते हैं। लॉकडाउन के कारण वो दोनों वहीं फंसे हैं। रविवार सुबह गुड्डी देवी की अचानक तबीयत बिगड़ गई।

देवर परिजनों ने सरकारी एंबुलेंस सेवा के लिए 102 नंबर पर फोन किया। परिजनों के अनुसार उन्होंने 102 नंबर पर समस्या बताई तो वहां से 108 पर फोन करने के लिए कह दिया गया।

देवर परिजनों ने सरकारी एंबुलेंस सेवा के लिए 102 नंबर पर फोन किया। परिजनों के अनुसार उन्होंने 102 नंबर पर समस्या बताई तो वहां से 108 पर फोन करने के लिए कह दिया गया।

108 नंबर पर फोन किया तो एंबुलेंस पर तैनात ईएमटी ने कहा कि एंबुलेंस अभी नहीं आ पाएगी। गाड़ी दूर है। लॉकडाउन के कारण परिजनों को कोई निजी वाहन भी नहीं मिल रहा था।

108 नंबर पर फोन किया तो एंबुलेंस पर तैनात ईएमटी ने कहा कि एंबुलेंस अभी नहीं आ पाएगी। गाड़ी दूर है। लॉकडाउन के कारण परिजनों को कोई निजी वाहन भी नहीं मिल रहा था।

गुड्डी देवी की तबियत बिगड़ती ही जा रही थी। परिजन बीमार गुड्डी देवी को हाथठेला पर ही लिटाकर जिला अस्पताल के लिए चल दिए।

गुड्डी देवी की तबियत बिगड़ती ही जा रही थी। परिजन बीमार गुड्डी देवी को हाथठेला पर ही लिटाकर जिला अस्पताल के लिए चल दिए।

परिजन ठेला लेकर सीधे अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंच गए। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। गुड्डी की सांसें थम गई थीं। चिकित्सक ने जांच के बाद गुड्डी देवी को मृत घोषित कर दिया।

परिजन ठेला लेकर सीधे अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंच गए। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। गुड्डी की सांसें थम गई थीं। चिकित्सक ने जांच के बाद गुड्डी देवी को मृत घोषित कर दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios