सादगी से मनाया गया पूर्व सीएम अखिलेश यादव का जन्मदिन, पत्नी डिंपल यादव ने लोगों से की ये खास अपील

First Published 1, Jul 2020, 9:28 PM

लखनऊ(Uttar Pradesh). यूपी के पूर्व सीएम व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का 47वां जन्मदिन बेहद सादगी से मनाया गया। कुछ स्थानों पर सपा कार्यकर्ताओं ने केक काटकर व मिठाईयां बांटकर पूर्व सीएम का जन्मदिन मनाया। सीएम योगी ने भी पूर्व सीएम को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। अखिलेश के जन्मदिन पर उनकी पत्नी व कन्नौज की पूर्व सांसद डिम्पल यादव ने भी उन्हें बधाई देते हुए कार्यकर्ताओं को एक ख़ास संदेश दिया। डिम्पल यादव ने इस अवसर पर जरूरतमंदों की मदद कर पूर्व सीएम का जन्मदिन मनाने की सलाह कार्यकर्ताओं को दिया। 

<p>अखिलेश यादव का 47वां जन्मदिन बेहद सादगी से मनाया गया। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव का जन्म एक जुलाई 1973 को सैफई में हुआ था। 1999 में उनका विवाह डिंपल यादव के साथ हुआ। वह साल 2000 में पहली बार कन्‍नौज से चुनकर लोकसभा में पहुंचे थे। </p>

अखिलेश यादव का 47वां जन्मदिन बेहद सादगी से मनाया गया। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव का जन्म एक जुलाई 1973 को सैफई में हुआ था। 1999 में उनका विवाह डिंपल यादव के साथ हुआ। वह साल 2000 में पहली बार कन्‍नौज से चुनकर लोकसभा में पहुंचे थे। 

<p>15 मार्च 2012 के 38 साल की उम्र में उत्‍तर प्रदेश के सबसे कम उम्र के मुख्‍यमंत्री बने। 19 मार्च 2017 तक वह इस पद पर रहे। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव राजनीतिक जीवन के अलावा भी अपने परिवार को भी पूरा समय देते हैं। वे अपने बच्चों के लिए बेस्ट पापा हैं।<br />
 </p>

15 मार्च 2012 के 38 साल की उम्र में उत्‍तर प्रदेश के सबसे कम उम्र के मुख्‍यमंत्री बने। 19 मार्च 2017 तक वह इस पद पर रहे। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव राजनीतिक जीवन के अलावा भी अपने परिवार को भी पूरा समय देते हैं। वे अपने बच्चों के लिए बेस्ट पापा हैं।
 

<p>विदेश में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अखिलेश ने जब यूपी की राजनीति में कदम रखा तो उनके पिता मुलायम सिंह पहले से ही एक मजबूत जमीन तैयार कर चुके थे। जहां से अखिलेश को बस अपने कदम आगे बढ़ाने थे। हुआ भी कुछ ऐसा ही।<br />
 </p>

विदेश में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अखिलेश ने जब यूपी की राजनीति में कदम रखा तो उनके पिता मुलायम सिंह पहले से ही एक मजबूत जमीन तैयार कर चुके थे। जहां से अखिलेश को बस अपने कदम आगे बढ़ाने थे। हुआ भी कुछ ऐसा ही।
 

<p>डिंपल और अखिलेश की पहली मुलाकात एक दोस्त के जरिए लखनऊ में हुयी थी। तब डिंपल लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थीं। धीरे-धीरे उनकी यह मुलाकातें प्यार में बदल गई। चार साल डेट करने के बाद 1999 में घर वालों की इजाजत के बाद दोनों की शादी हुई।<br />
 </p>

डिंपल और अखिलेश की पहली मुलाकात एक दोस्त के जरिए लखनऊ में हुयी थी। तब डिंपल लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थीं। धीरे-धीरे उनकी यह मुलाकातें प्यार में बदल गई। चार साल डेट करने के बाद 1999 में घर वालों की इजाजत के बाद दोनों की शादी हुई।
 

<p>अपने अधिकारिक ट्विटर से ट्वीट करते हुए उनकी पत्नी डिंपल ने पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को ये संदेश दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है "सपा के लोकप्रिय राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव जी के जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ! उनके अनुरोध पर उनके चाहनेवाले सभी समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं से ये आग्रह है कि वो इस संकटकाल में किसी आयोजन की जगह व्यक्तिगत स्तर पर किसी ज़रूरतमंद की मदद करें । </p>

अपने अधिकारिक ट्विटर से ट्वीट करते हुए उनकी पत्नी डिंपल ने पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को ये संदेश दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है "सपा के लोकप्रिय राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव जी के जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ! उनके अनुरोध पर उनके चाहनेवाले सभी समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं से ये आग्रह है कि वो इस संकटकाल में किसी आयोजन की जगह व्यक्तिगत स्तर पर किसी ज़रूरतमंद की मदद करें । 

loader