Asianet News Hindi

श्मशान में तांत्रिक अनुष्ठान की अनुमति मांग रहे थे विदेशी साधक, No पर गुस्साए, फिर यूं काटा बवाल

First Published Apr 23, 2020, 5:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी(Uttar Pradesh ). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में विदेशी साधकों ने जमकर हंगामा किया। ये विदेशी साधक महाश्मसान पर तांत्रिक अनुष्ठान की अनुमति मांग रहे थे। ये सभी विदेशी साधक रामनगर सेल्टर होम में क्वारंटाइन किए गए हैं। प्रशासन ने इन विदेशी साधकों को यहां धार्मिक अनुष्ठान करने की अनुमति नहीं प्रदान की जिसके बाद इन साधकों ने जमकर बवाल काटा। सूचना पर पहुंची पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने इन्हे समझा-बुझा का शांत कराया। 

वाराणसी के रामनगर शेल्टर होम में चार विदेशी नागरिक क्वारंटाइन किए गए हैं। इन नागरिकों में तीन रूस और एक अमेरिका का है। 

वाराणसी के रामनगर शेल्टर होम में चार विदेशी नागरिक क्वारंटाइन किए गए हैं। इन नागरिकों में तीन रूस और एक अमेरिका का है। 

इन्हें रामनगर पुलिस ने गंगा घाट के किनारे से ग्रामीणों के शिकायत के बाद डोमरी गांव में घूमते हुए पकड़ा था और इन्हें पहले गंगा के किनारे रखा और बाद में रामनगर शेल्टर होम में 18 अप्रैल को क्वारंटीन कर दिया गया। (प्रतीकात्मक फोटो)

इन्हें रामनगर पुलिस ने गंगा घाट के किनारे से ग्रामीणों के शिकायत के बाद डोमरी गांव में घूमते हुए पकड़ा था और इन्हें पहले गंगा के किनारे रखा और बाद में रामनगर शेल्टर होम में 18 अप्रैल को क्वारंटीन कर दिया गया। (प्रतीकात्मक फोटो)

बीते बुधवार को इन विदेशी नागरिकों ने बखेड़ा खड़ा कर दिया। दरअसल इन लोगों ने प्रशासन से महाश्मसान में तांत्रिक अनुष्ठान करने की परमीशन मांगी। प्रशासन ने इन्हे परमीशन देने से इंकार कर दिया। 

बीते बुधवार को इन विदेशी नागरिकों ने बखेड़ा खड़ा कर दिया। दरअसल इन लोगों ने प्रशासन से महाश्मसान में तांत्रिक अनुष्ठान करने की परमीशन मांगी। प्रशासन ने इन्हे परमीशन देने से इंकार कर दिया। 

प्रशासन से परमीशन न मिलने के बाद इन साधकों ने हो-हल्ला करना शुरू कर दिया। इनके बवाल को देखते हुए शेल्टर होम में तैनात सिपाहियों ने आलाधिकारियों को सूचित किया। सूचना पर पहुंचे आलाधिकारियों ने इन्हे समझा-बुझा कर शांत कराया। (प्रतीकात्मक फोटो)

प्रशासन से परमीशन न मिलने के बाद इन साधकों ने हो-हल्ला करना शुरू कर दिया। इनके बवाल को देखते हुए शेल्टर होम में तैनात सिपाहियों ने आलाधिकारियों को सूचित किया। सूचना पर पहुंचे आलाधिकारियों ने इन्हे समझा-बुझा कर शांत कराया। (प्रतीकात्मक फोटो)

वाराणसी जिला प्रशासन की माने तो सुरक्षा के लिहाज से किसी को भी तंत्र साधना और स्नान की अनुमति नहीं दी जा सकती है। ऐसे में वाराणसी के इस शेल्टर होम में विदेशी अंदर बन्द हैं और बाहर सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। (फाइल फोटो)

वाराणसी जिला प्रशासन की माने तो सुरक्षा के लिहाज से किसी को भी तंत्र साधना और स्नान की अनुमति नहीं दी जा सकती है। ऐसे में वाराणसी के इस शेल्टर होम में विदेशी अंदर बन्द हैं और बाहर सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण के चलते शहर में लॉक डाउन है। प्रशासन बेहद सख्ती बरत रहा है। वाराणसी में कोरोना पॉजिटिव के मरीज बढ़ रहे हैं, लेकिन जिला प्रशासन की सतर्कता काम आ रही है। जिले में मरीजों की संख्या 19 है। (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण के चलते शहर में लॉक डाउन है। प्रशासन बेहद सख्ती बरत रहा है। वाराणसी में कोरोना पॉजिटिव के मरीज बढ़ रहे हैं, लेकिन जिला प्रशासन की सतर्कता काम आ रही है। जिले में मरीजों की संख्या 19 है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios