Asianet News Hindi

मां के साथ देश का फर्ज: दूसरों के लिए मिसाल बनी ये IAS अफसर, 22 दिन की बेटी को गोद में लेकर आती ऑफिस

First Published Oct 12, 2020, 7:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश). पूरा देश इस समय कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है। लेकिन इसके बावजूद भी कई महिला अफसर दिन रात ड्यूटी करके मिसाल पेश कर रही हैं। ऐसी एक लेडी युवा आईएएस अधिकारी की तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसने इस संकट की घड़ी में एक नया उदाहरण पेश किया है। IAS सौम्या पांडेय  ने 22 दिन पहले एक प्यारी से बेटी को जन्म दिया है। डिलीवरी होने के इतने कम समय के बाद भी वह जनता की सेवा के लिए वापस ड्यूटी पर लौट आईं हैं। वह 22 दिन की बिटिया को गोद में लेकर ऑफिस आती हैं और 10 से 12 घंटे नौकरी करने के बाद ही घर जाती हैं।


मूल रूप से प्रयागराज की रहने वाली सौम्या पांडेय 2017 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। जो मुश्किल समय में घबराने की बजाय डटकर सामना करने का संदेश समाज को दे रही हैं।
 


मूल रूप से प्रयागराज की रहने वाली सौम्या पांडेय 2017 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। जो मुश्किल समय में घबराने की बजाय डटकर सामना करने का संदेश समाज को दे रही हैं।
 


फिलहाल  IAS सौम्या पांडेय गाजियाबाद में मोदीनगर एसडीएम के पद पर तैनात हैं। वह अपनी पहली नियुक्ति के बाद से ही इसी शहर में सेवाएं दे रही हैं।


फिलहाल  IAS सौम्या पांडेय गाजियाबाद में मोदीनगर एसडीएम के पद पर तैनात हैं। वह अपनी पहली नियुक्ति के बाद से ही इसी शहर में सेवाएं दे रही हैं।

 IAS सौम्या पांडेय ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुझे जिस पद पर रखा गया है मैं उसके साथ बेईमानी नहीं कर सकती। इसलिए मेरी जिम्मेदारी बनती है कि इस पद के साथ इंसाफ करूं। इस संकट के समय में अपनी के बेटी के साथ साथ दूसरी बेटियों की रक्षा करना भी मेरी जिम्मेदारी बनती है।
 

 IAS सौम्या पांडेय ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुझे जिस पद पर रखा गया है मैं उसके साथ बेईमानी नहीं कर सकती। इसलिए मेरी जिम्मेदारी बनती है कि इस पद के साथ इंसाफ करूं। इस संकट के समय में अपनी के बेटी के साथ साथ दूसरी बेटियों की रक्षा करना भी मेरी जिम्मेदारी बनती है।
 


आईएएस सौम्या पांडे के पिता एके पांडेय बिजनेसमैन हैं और माता साधना पांडेय डॉक्टर हैं। वह शूरु से ही यूपी कैडर चाहती थीं। इतना ही नहीं सौम्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित हैं।


आईएएस सौम्या पांडे के पिता एके पांडेय बिजनेसमैन हैं और माता साधना पांडेय डॉक्टर हैं। वह शूरु से ही यूपी कैडर चाहती थीं। इतना ही नहीं सौम्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित हैं।

मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक की डिग्री हासिल करने वाली सौम्या ने देश के सबसे बड़ी परीक्षा यूपीएससी में ऑल इंडिया लेवल पर चौथी रैंकिंग हासिल की है। इतना ही नहीं उन्होंने महिलाओं में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक की डिग्री हासिल करने वाली सौम्या ने देश के सबसे बड़ी परीक्षा यूपीएससी में ऑल इंडिया लेवल पर चौथी रैंकिंग हासिल की है। इतना ही नहीं उन्होंने महिलाओं में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios