Asianet News Hindi

नंदगांव की लट्ठमार होली, गोपियां जानिए कैसे हुरियारों पर बरसाती हैं प्रेम पगी लाठियां

First Published Mar 24, 2021, 2:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मथुरा (Uttar Pradesh) । होली आए और मथुरा और नंदगांव का जिक्र न हो ऐसा हो नहीं सकता। जी हां, बरसाना में सोमवार को लड्डू मार होली खेली गई। इसके बाद मंगलवार को नन्दगांव में लट्ठमार होली खेली जाएगी। जिसमें बरसाना की गोपियां नन्दगांव से आए पुरुषों पर लाठियां बरसाकर होली खेलती हैं। बता दें कि नन्दगांव के हुरियारे (होली खेलने वाले) बरसाना की हुरियारिनों (होली खेलने वालियां) की लाठियों की मार अपने हाथों में ली हुई चमड़े की या धातु से बनीं ढालों पर झेलते हैं।

बताते चले कि हर बार की तरह इस बार भी होली खेलने के लिए दूर-दूर से लोग बरसाना और नंदगांव आ रहे हैं। परंपरा के अनुसार, आयोजन से एक दिन पहले दोनों ही गांवों के लोग होली खेलने का निमंत्रण देने के लिए एक-दूसरे के गांवों में जाते हैं।
(फाइल फोटो)
 

बताते चले कि हर बार की तरह इस बार भी होली खेलने के लिए दूर-दूर से लोग बरसाना और नंदगांव आ रहे हैं। परंपरा के अनुसार, आयोजन से एक दिन पहले दोनों ही गांवों के लोग होली खेलने का निमंत्रण देने के लिए एक-दूसरे के गांवों में जाते हैं।
(फाइल फोटो)
 

बरसाना स्थित राधारानी के महल से उनकी सखियां गुलाल लेकर कान्हा के गांव नन्दगांव जाती हैं। वहां, होली खेलने का निमंत्रण देती हैं। तब नन्दभवन में राधारानी की सखियों के साथ धूमधाम से फाग आमंत्रण महोत्सव मनाया जाता है।
(फाइल फोटो)

बरसाना स्थित राधारानी के महल से उनकी सखियां गुलाल लेकर कान्हा के गांव नन्दगांव जाती हैं। वहां, होली खेलने का निमंत्रण देती हैं। तब नन्दभवन में राधारानी की सखियों के साथ धूमधाम से फाग आमंत्रण महोत्सव मनाया जाता है।
(फाइल फोटो)

''फाग आमंत्रण महोत्सव में स्थानीय गोस्वामी समाज के सदस्य और राधारानी की सखियां होली गीतों पर लोकनृत्य करते हैं। इसके बाद सखियों को आदर के साथ विदा किया जाता है।
(फाइल फोटो)
 

''फाग आमंत्रण महोत्सव में स्थानीय गोस्वामी समाज के सदस्य और राधारानी की सखियां होली गीतों पर लोकनृत्य करते हैं। इसके बाद सखियों को आदर के साथ विदा किया जाता है।
(फाइल फोटो)
 

''फाग आमंत्रण महोत्सव में स्थानीय गोस्वामी समाज के सदस्य और राधारानी की सखियां होली गीतों पर लोकनृत्य करते हैं। इसके बाद सखियों को आदर के साथ विदा किया जाता है।
(फाइल फोटो)
 

''फाग आमंत्रण महोत्सव में स्थानीय गोस्वामी समाज के सदस्य और राधारानी की सखियां होली गीतों पर लोकनृत्य करते हैं। इसके बाद सखियों को आदर के साथ विदा किया जाता है।
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios