Asianet News Hindi

जमीन पर बैठीं प्रियंका गांधी, लंगर में मिली पनीर की सब्जी, रोटी और जलेबी; वायरल हो रही तस्वीर

First Published Feb 9, 2020, 3:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (Uttar Pradesh)। कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हैं। दोपहर पहुंची प्रिय़ंका गांधी सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर में जयंती पर्व के मौके पर मत्था टेकने गई। मंदिर में प्रियंका का स्वागत सिर पर पारंपरिक पटका (कपड़ा) बांधकर किया गया। प्रियंका ने संत रविदास की प्रतिमा पर माल्यर्पण कर परिक्रमा की। सेवादार से प्रसाद भी लिया। वहां से मंदिर के बगल में लंगर स्थल पहुंचीं। जमीन पर बैठकर लोगों लंगर छका। इस दौरान उन्हें प्रसाद में पनीर की सब्जी, दही, बुनियां, रोटी और जलेबी दी गई। लंगर का प्रसाद लेने के बाद उन्होंने अपनी थाली को उठाकर बर्तन घर ले जाकर रखा। इसके पहले ट्वीटर पर बधाई संदेश देते हुए लिखा कि ‘ऐसा चाहूँ राज मैं, जहां मिले सबन को अन्न,छोट-बड़ों सब सम बसै, रैदास रहे प्रसन्न’,। प्रियंका गांधी के इस दौरे की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं है।
 

प्रियंका गांधी ने जमीन पर बैठकर लोगों लंगर छका। इस दौरान उन्हें प्रसाद में पनीर की सब्जी, दही, बुनियां, रोटी और जलेबी दी गई। लंगर का प्रसाद लेने के बाद उन्होंने अपनी थाली को उठाकर बर्तन घर ले जाकर रखा।

प्रियंका गांधी ने जमीन पर बैठकर लोगों लंगर छका। इस दौरान उन्हें प्रसाद में पनीर की सब्जी, दही, बुनियां, रोटी और जलेबी दी गई। लंगर का प्रसाद लेने के बाद उन्होंने अपनी थाली को उठाकर बर्तन घर ले जाकर रखा।

प्रियंका गांधी इसके पहले रविदास मंदिर मंदिर पहुंचीं तो प्रबंधन की तरफ से निर्मल चंद के साथ शमशेर सिंह दुल्लो ने स्वागत किया। इसके बाद प्रियंका ने संत रविदास की प्रतिमा पर मत्था टेकने के बाद रविदास जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

प्रियंका गांधी इसके पहले रविदास मंदिर मंदिर पहुंचीं तो प्रबंधन की तरफ से निर्मल चंद के साथ शमशेर सिंह दुल्लो ने स्वागत किया। इसके बाद प्रियंका ने संत रविदास की प्रतिमा पर मत्था टेकने के बाद रविदास जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

प्रियंका ने अमृतवाणी पर माला चढ़ाने के बाद प्रसाद ग्रहण किया। वहां से पास के लंगर हाल में लंगर छकने गई। भीड़ में सुरक्षा कर्मियों के पसीने छूट गए। लंगर हाल में प्रियंका कार्यकताओं के साथ लंगर छकने के बाद सत्संग पंडाल की तरफ रवाना हुईं तो संत निरंजनदास से आशीर्वाद लिया।

प्रियंका ने अमृतवाणी पर माला चढ़ाने के बाद प्रसाद ग्रहण किया। वहां से पास के लंगर हाल में लंगर छकने गई। भीड़ में सुरक्षा कर्मियों के पसीने छूट गए। लंगर हाल में प्रियंका कार्यकताओं के साथ लंगर छकने के बाद सत्संग पंडाल की तरफ रवाना हुईं तो संत निरंजनदास से आशीर्वाद लिया।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने इसके पहले ट्विटर पर लोगों को अपने आने की जानकारी दी थी। साथ ही लिखा था कि ‘ऐसा चाहूँ राज मैं, जहां मिले सबन को अन्न, छोट-बड़ों सब सम बसै, रैदास रहे प्रसन्न’। जगत पितामा, साहिबे कमाल, सदगुरु श्री रविदास जी महाराज की जयंती की  आप सबको लख लख बधाइयाँ, संत शिरोमणि गुरु रविदास जन्म स्थान मंदिर की चौखट पर मत्था टेकने आज बनारस में रहूँगी। #रविदासजयंती

प्रियंका गांधी वाड्रा ने इसके पहले ट्विटर पर लोगों को अपने आने की जानकारी दी थी। साथ ही लिखा था कि ‘ऐसा चाहूँ राज मैं, जहां मिले सबन को अन्न, छोट-बड़ों सब सम बसै, रैदास रहे प्रसन्न’। जगत पितामा, साहिबे कमाल, सदगुरु श्री रविदास जी महाराज की जयंती की आप सबको लख लख बधाइयाँ, संत शिरोमणि गुरु रविदास जन्म स्थान मंदिर की चौखट पर मत्था टेकने आज बनारस में रहूँगी। #रविदासजयंती

प्रियंका 10 जनवरी को भी रविदास मंदिर में पूजा करने आई थीं। पिछले साल फरवरी में पार्टी महासचिव बनने के बाद वे 20 मार्च को पहली बार वाराणसी आई थीं। इसके बाद 16 मई और 19 जुलाई को यहां पहुंचीं। वाराणसी से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लोकसभा सदस्य हैं। 2019 के चुनाव में यहां से उनके खिलाफ प्रियंका के उतरने की चर्चा थी।

प्रियंका 10 जनवरी को भी रविदास मंदिर में पूजा करने आई थीं। पिछले साल फरवरी में पार्टी महासचिव बनने के बाद वे 20 मार्च को पहली बार वाराणसी आई थीं। इसके बाद 16 मई और 19 जुलाई को यहां पहुंचीं। वाराणसी से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लोकसभा सदस्य हैं। 2019 के चुनाव में यहां से उनके खिलाफ प्रियंका के उतरने की चर्चा थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios