यूपी में शिक्षक भर्ती घोटाले का पर्दाफाश करने वाले अफसर पर गिरी 'गाज', सोशल मीडिया पर भड़के लोग

First Published 16, Jun 2020, 11:37 AM

लखनऊ(Uttar Pradesh). उत्तर प्रदेश में 69000 शिक्षक भर्ती के मामले का खुलासा कर कड़े कदम उठाने वाले SSP प्रयागराज सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को हटा दिया गया है।उन्हें SSP प्रयागराज के पद से हटाकर वेटिंग लिस्ट में डाल दिया गया है। सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज के ट्रांसफर से सोशल मीडिया पर सरकार के इस फैसले पर कड़ा विरोध जताया जा रहा है। प्रतियोगी छात्रों ने इसे SSP द्वारा नक़ल माफिया और जालसाजों के खिलाफ कार्रवाई के बदले सरकार द्वारा दी गई सजा बता रहे हैं। सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज के आलावा 13 अन्य IPS अधिकारियों का भी तबादला सोमवार देर रात किया गया है।

<p>69000 शिक्षक भर्ती के जालसाज व नकल माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने वाले प्रयागराज के एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को प्रतीक्षारत सूची में डालने के फैसले पर प्रतियोगी छात्रों ने सवाल खड़े किए हैं। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को सोमवार रात प्रतीक्षारत सूची में भेजते हुए आईपीएस अभिषेक दीक्षित को प्रयागराज का नया एसएसपी बनाया गया है।</p>

69000 शिक्षक भर्ती के जालसाज व नकल माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने वाले प्रयागराज के एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को प्रतीक्षारत सूची में डालने के फैसले पर प्रतियोगी छात्रों ने सवाल खड़े किए हैं। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को सोमवार रात प्रतीक्षारत सूची में भेजते हुए आईपीएस अभिषेक दीक्षित को प्रयागराज का नया एसएसपी बनाया गया है।

<p>प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि शिक्षक भर्ती के मामले में तमाम एफआईआर कराने और नकल माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने पर एसएसपी के सजा के तौर पर वेटिंग लिस्ट पर भेजा गया है।</p>

प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि शिक्षक भर्ती के मामले में तमाम एफआईआर कराने और नकल माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने पर एसएसपी के सजा के तौर पर वेटिंग लिस्ट पर भेजा गया है।

<p>सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने ही बतौर एसएसपी प्रयागराज के सोरांव थाने में एक प्रतियोगी छात्र के अनुरोध पर एफआईआर कराई थी। 69000 सहायक शिक्षक भर्ती के मामले में एफआईआर कराते हुए एसएसपी ने खुद जांच की मॉनिटरिंग की थी।</p>

सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने ही बतौर एसएसपी प्रयागराज के सोरांव थाने में एक प्रतियोगी छात्र के अनुरोध पर एफआईआर कराई थी। 69000 सहायक शिक्षक भर्ती के मामले में एफआईआर कराते हुए एसएसपी ने खुद जांच की मॉनिटरिंग की थी।

<p>&nbsp;इस जांच में दो ऐसे आईपीएस अफसरों को लगाया था, जिनकी पहचान पश्चिमी यूपी में नकल माफिया के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए रही है। अशोक वेंकटेश और अनिल यादव नाम के इन दो अफसरों के साथ एसएसपी ने खुद इन जालसाजों पर एक्शन शुरू किया।</p>

 इस जांच में दो ऐसे आईपीएस अफसरों को लगाया था, जिनकी पहचान पश्चिमी यूपी में नकल माफिया के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए रही है। अशोक वेंकटेश और अनिल यादव नाम के इन दो अफसरों के साथ एसएसपी ने खुद इन जालसाजों पर एक्शन शुरू किया।

<p>इस कार्रवाई के असर से ही तमाम आरोपियों की गिरफ्तारी होने लगी और शिक्षक भर्ती में सॉल्वर से लेकर नकल माफिया तक के शामिल होने की बात सामने आने लगी। शुरुआती दौर पर प्रयागराज एसएसपी के निर्देश पर ही कार से जा रहे 6 संदिग्धों को साढ़े सात लाख रुपये के साथ हिरासत में लिया। इसके अलावा तमाम स्कूलों के खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए नकल माफिया कृष्ण लाल पटेल समेत तमाम आरोपी गिरफ्तार किए गए।</p>

इस कार्रवाई के असर से ही तमाम आरोपियों की गिरफ्तारी होने लगी और शिक्षक भर्ती में सॉल्वर से लेकर नकल माफिया तक के शामिल होने की बात सामने आने लगी। शुरुआती दौर पर प्रयागराज एसएसपी के निर्देश पर ही कार से जा रहे 6 संदिग्धों को साढ़े सात लाख रुपये के साथ हिरासत में लिया। इसके अलावा तमाम स्कूलों के खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए नकल माफिया कृष्ण लाल पटेल समेत तमाम आरोपी गिरफ्तार किए गए।

<p>प्रतियोगी छात्रों का आरोप है कि नकल माफिया और शिक्षक भर्ती की अनियमितता को उजागर करने के कारण ही सरकारी तंत्र ने एसएसपी पर कड़ी कार्रवाई की है। प्रयागराज के तमाम प्रतियोगी छात्र एसएसपी के ट्रांसफर को लेकर सोशल मीडिया पर अपना विरोध भी जता रहे हैं।</p>

प्रतियोगी छात्रों का आरोप है कि नकल माफिया और शिक्षक भर्ती की अनियमितता को उजागर करने के कारण ही सरकारी तंत्र ने एसएसपी पर कड़ी कार्रवाई की है। प्रयागराज के तमाम प्रतियोगी छात्र एसएसपी के ट्रांसफर को लेकर सोशल मीडिया पर अपना विरोध भी जता रहे हैं।

<p>उधर IPS सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने ट्विटर पर लिखा है "एस एस पी प्रयागराज पद पर रहते हुए प्रयागराज की जनता ने जो प्यार और भरोसा दिया उसका मैं सदैव आभारी रहूँगा। आपका यह भरोसा पुलिस पर सदैव बना रहे यही कामना है। प्रयागराजवासियों को अशेष शुभकामनायें--सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज"<br />
&nbsp;</p>

उधर IPS सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने ट्विटर पर लिखा है "एस एस पी प्रयागराज पद पर रहते हुए प्रयागराज की जनता ने जो प्यार और भरोसा दिया उसका मैं सदैव आभारी रहूँगा। आपका यह भरोसा पुलिस पर सदैव बना रहे यही कामना है। प्रयागराजवासियों को अशेष शुभकामनायें--सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज"
 

<p>सरकार ने सोमवार देर रात कुल 14 आईपीएस अफसरों के तबादले किए हैं। इसमें प्रयागराज के एसएसपी रहे सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को प्रतीक्षारत किया गया है। एस आनंद एसपी शाहजहांपुर, आरपी सिंह एसपी सीतापुर, एलआर कुमार पुलिस उपमहानिरीक्षक सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ, विक्रांत वीर एसपी हाथरस, गिरव बंसवाल, पुलिस अधीक्षक, अपराध मुख्यालय पुलिस महानिदेशक लखनऊ, रोहन पी कनय एसपी उन्नाव, अजय कुमार सिंह एसपी बागपत और प्रताप गोपेन्द्र यादव को पुलिस अधीक्षक मुख्यालय पुलिस महानिदेशक लखनऊ के पद पर नई तैनाती मिली है।</p>

सरकार ने सोमवार देर रात कुल 14 आईपीएस अफसरों के तबादले किए हैं। इसमें प्रयागराज के एसएसपी रहे सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को प्रतीक्षारत किया गया है। एस आनंद एसपी शाहजहांपुर, आरपी सिंह एसपी सीतापुर, एलआर कुमार पुलिस उपमहानिरीक्षक सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ, विक्रांत वीर एसपी हाथरस, गिरव बंसवाल, पुलिस अधीक्षक, अपराध मुख्यालय पुलिस महानिदेशक लखनऊ, रोहन पी कनय एसपी उन्नाव, अजय कुमार सिंह एसपी बागपत और प्रताप गोपेन्द्र यादव को पुलिस अधीक्षक मुख्यालय पुलिस महानिदेशक लखनऊ के पद पर नई तैनाती मिली है।

loader