Asianet News Hindi

सेक्स वर्कर ने सुनाई पूरी कहानी, कैसे ये सस्पेंड सिपाही लोगों को फंसाकर करता था कमाई

First Published Dec 7, 2020, 2:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कानपुर ( Uttar Pradesh) । दो दिन पहले सेक्स वर्कर के साथ आढ़ती को पकड़ने के बाद उसे ब्लैकमेल करने वाला सस्पेंड सिपाही मुकेश सिंह को लेकर अब नया खुलासा हुआ है। पुलिस के मुताबिक वो ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का मास्टर माइंड है। बता दें कि पुलिस के हाथ सेक्स वर्कर भी लगा है, जिसने पूछताछ में बताया है कि उन लोगों ने अब तक दर्जनों भर लोगों को ब्लैकमेल कर लाखों रुपए वसूले हैं। आढ़ती की घटना से तीन दिन पहले ही एक शख्स को इसी तरह फांसकर तीन लाख रुपये वसूले थे।


मुकेश सिंह चकेरी थाने में तैनात था, जिसे भाजपा नेता के साथ मारपीट करने के मामले में 16 जुलाई को सस्पेंड कर दिया गया था। उसने अपनी पत्नी व बच्चों को प्रयागराज के शिवकुटी स्थित गांव भेज दिया है। 
 


मुकेश सिंह चकेरी थाने में तैनात था, जिसे भाजपा नेता के साथ मारपीट करने के मामले में 16 जुलाई को सस्पेंड कर दिया गया था। उसने अपनी पत्नी व बच्चों को प्रयागराज के शिवकुटी स्थित गांव भेज दिया है। 
 


पुलिस के मुताबिक साल 2017-18 में गोविंदनगर थाने में तैनाती के दौरान मुकेश सिंह की मुलाकात बर्रा में रहने वाली सेक्स रैकेट चलाने वाली महिला माही से हुई। माही ने ही सेक्स वर्कर से उसकी मुलाकात कराई थी। सस्पेंड होने के बाद सिपाही ने आमदनी बढ़ाने के लिए सेक्स वर्कर के साथ मिलकर ब्लैकमेलिंग के धंधे पर उतर आया।
 


पुलिस के मुताबिक साल 2017-18 में गोविंदनगर थाने में तैनाती के दौरान मुकेश सिंह की मुलाकात बर्रा में रहने वाली सेक्स रैकेट चलाने वाली महिला माही से हुई। माही ने ही सेक्स वर्कर से उसकी मुलाकात कराई थी। सस्पेंड होने के बाद सिपाही ने आमदनी बढ़ाने के लिए सेक्स वर्कर के साथ मिलकर ब्लैकमेलिंग के धंधे पर उतर आया।
 

सेक्स वर्कर ग्राहकों को दादानगर स्थित सस्पेंड सिपाही के दोस्त की कॉलोनी पर ही बुलाती थी। मुकेश अपने साथियों के साथ कमरे में तभी पहुंच जाता और फोटो करने के साथ ही वीडियो बना लेता। बदनामी का डर दिखाकर ब्लैकमेल करता। 
 

सेक्स वर्कर ग्राहकों को दादानगर स्थित सस्पेंड सिपाही के दोस्त की कॉलोनी पर ही बुलाती थी। मुकेश अपने साथियों के साथ कमरे में तभी पहुंच जाता और फोटो करने के साथ ही वीडियो बना लेता। बदनामी का डर दिखाकर ब्लैकमेल करता। 
 

सस्पेंड सिपाही के साथ पकड़े गए साथी इलियास ने बताया कि वह कुली बाजार में सिलाई का काम करता था। उसके एक दोस्त ने मुकेश मुलाकात कराई थी, लेकिन उसे यह नहीं पता था कि मुकेश सस्पेंड हो चुका है। मुकेश ने उसे काम होने पर 10 हजार रुपए देने का वादा किया था।

सस्पेंड सिपाही के साथ पकड़े गए साथी इलियास ने बताया कि वह कुली बाजार में सिलाई का काम करता था। उसके एक दोस्त ने मुकेश मुलाकात कराई थी, लेकिन उसे यह नहीं पता था कि मुकेश सस्पेंड हो चुका है। मुकेश ने उसे काम होने पर 10 हजार रुपए देने का वादा किया था।

सेक्स वर्कर ने पुलिस को बताया कि उसकी मुलाकात ग्राहक बनकर आए सस्पेंड सिपाही मुकेश से करीब तीन माह पूर्व बर्रा निवासी माही ने कराई थी। वह पूर्व में रैकेट की संचालिका के मकान में ही किराए पर छह साल की बेटी और एक साल के बेटे के साथ रहती थी। 

सेक्स वर्कर ने पुलिस को बताया कि उसकी मुलाकात ग्राहक बनकर आए सस्पेंड सिपाही मुकेश से करीब तीन माह पूर्व बर्रा निवासी माही ने कराई थी। वह पूर्व में रैकेट की संचालिका के मकान में ही किराए पर छह साल की बेटी और एक साल के बेटे के साथ रहती थी। 

सेक्स रैकेट का संचालन करने वाली महिला की राजनीतिक पहुंच भी है। वह खुद को समाजसेविका बताती है। उसके घर पर अक्सर राजनीति से जुड़े लोगों का आना-जाना रहता था।

सेक्स रैकेट का संचालन करने वाली महिला की राजनीतिक पहुंच भी है। वह खुद को समाजसेविका बताती है। उसके घर पर अक्सर राजनीति से जुड़े लोगों का आना-जाना रहता था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios