लॉकडाउन के कारण साहस नहीं जुटा पाया दूल्हा, बारात लेकर ससुराल पहुंची दुल्हन

First Published 25, May 2020, 9:52 AM

कानपुर (Uttar Pradesh) । लॉकडाउन में कुछ शर्तों के साथ शादी करने की छूट भी दी गई है, लेकिन अधिकांश लोग इस बात को लेकर परेशान हैं कि वे बारात में किसी ले जाए और किसे नहीं। इस कारण कुछ ही लोग शादी कर पा रहे हैं। कुछ ऐसा ही एक मामला सामने आया है चौबेपुर के मोहनपुर गांव में। जहां प्रधान अपनी शादी में लोगों को ले जाने को लेकर निर्णय नहीं ले पा रहा था। इस कारण वो तय तिथि पर विवाह करने का साहस नहीं पा रहा था, जिसकी जानकारी दुल्हन को हुई तो वो तय तिथि पर बारात लेकर अपने ससुराल पहुंच गई। अनोखी शादी का नजारा देखने के लिए आसपास के गांव से लोग आए। यहां ग्राम प्रधान से शादी करने दुल्हन खुद परिवार संग उसके घर पहुंच गई थी। मास्क लगाकर जोड़े ने सात फेरे लिए और एहतियात के तौर पर पूरे मोहल्ले का सैनिटाइजेशन किया गया।

<p>आम तौर पर दूल्हा बारात संग दुल्हन को लेने जाता है। मगर मोहनपुर गांव में पंचायत के प्रधान वीरेंद्र कुमार की शादी अलग ही ढंग से हुई।&nbsp;</p>

आम तौर पर दूल्हा बारात संग दुल्हन को लेने जाता है। मगर मोहनपुर गांव में पंचायत के प्रधान वीरेंद्र कुमार की शादी अलग ही ढंग से हुई। 

<p>लॉकडाउन के कारण प्रधान साहस नहीं जुटा पाया, जबकि बारात 2 किलोमीटर दूर ही जानी थी। इसकी जानकारी दुल्हन को हुई।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

लॉकडाउन के कारण प्रधान साहस नहीं जुटा पाया, जबकि बारात 2 किलोमीटर दूर ही जानी थी। इसकी जानकारी दुल्हन को हुई। 
 

<p><br />
लॉकडाउन में कल्याणपुर के गोवा गार्डन निवासी दुल्हन कंचन सुबह ही अपने माता पिता गोपीचंद और कुछ चुनिंदा रिश्तेदारों के साथ विवाह संपन्न कराने दूल्हे के घर पहुंच गईं।<br />
&nbsp;</p>


लॉकडाउन में कल्याणपुर के गोवा गार्डन निवासी दुल्हन कंचन सुबह ही अपने माता पिता गोपीचंद और कुछ चुनिंदा रिश्तेदारों के साथ विवाह संपन्न कराने दूल्हे के घर पहुंच गईं।
 

<p><br />
दुल्हन के स्वागत के लिए दूल्हे ने गांव के प्रवेश द्वार से लेकर घर में बने मंडप तक को कई बार सैनिटाइजेशन कराया गया। शादी में शामिल हुए रिश्तेदार मास्क और शारिरिक दूरी का पालन करते दिखे।</p>


दुल्हन के स्वागत के लिए दूल्हे ने गांव के प्रवेश द्वार से लेकर घर में बने मंडप तक को कई बार सैनिटाइजेशन कराया गया। शादी में शामिल हुए रिश्तेदार मास्क और शारिरिक दूरी का पालन करते दिखे।

<p><br />
मंडप में दूल्हा-दुल्हन ने सभी रस्मों को अदा किया है। दूल्हे वीरेंद्र कुमार ने बताया कि लॉक डाउन की वजह से वह समझ नहीं पा रहे थे कि बारात कैसे लेकर जाएं, कितने लोग साथ होंगे। इसकी चर्चा दुल्हन कंचन से की को वो खुद बारात लेकर घर पहुंच गई।<br />
&nbsp;</p>


मंडप में दूल्हा-दुल्हन ने सभी रस्मों को अदा किया है। दूल्हे वीरेंद्र कुमार ने बताया कि लॉक डाउन की वजह से वह समझ नहीं पा रहे थे कि बारात कैसे लेकर जाएं, कितने लोग साथ होंगे। इसकी चर्चा दुल्हन कंचन से की को वो खुद बारात लेकर घर पहुंच गई।
 

<p>दुल्हन के पिता गोपीचंद ने बताया की शादी पूर्व ही तय हो चुकी थी, क्योंकि लॉकडाउन के दौरान तमाम बंदिशें थी इसलिए नियम कानून का पालन करते हुए बड़ी सादगी से शादी की है।<br />
&nbsp;</p>

दुल्हन के पिता गोपीचंद ने बताया की शादी पूर्व ही तय हो चुकी थी, क्योंकि लॉकडाउन के दौरान तमाम बंदिशें थी इसलिए नियम कानून का पालन करते हुए बड़ी सादगी से शादी की है।
 

<p><br />
दुल्हन के पिता से पूछा गया कि आप लोग बारात लेकर क्यों पहुंचे तो उन्होंने बताया दूल्हा साहस नहीं जुटा पा रहा था बारात लाने के लिए। शायद संकोच भी कर रहा था इसकी जानकारी होने पर बेटी कंचन ने आग्रह किया कि हम लोग चलते हैं बारात लेकर और ऐसे शादी संपन्न हुई।</p>


दुल्हन के पिता से पूछा गया कि आप लोग बारात लेकर क्यों पहुंचे तो उन्होंने बताया दूल्हा साहस नहीं जुटा पा रहा था बारात लाने के लिए। शायद संकोच भी कर रहा था इसकी जानकारी होने पर बेटी कंचन ने आग्रह किया कि हम लोग चलते हैं बारात लेकर और ऐसे शादी संपन्न हुई।

loader