Asianet News Hindi

ये हैं धरती के भगवान! सामने आईं इनकी शर्मनाक तस्वीर, चीखते मरीजों के बीच नर्स ने डॉक्टर को जड़े थप्पड़

First Published Apr 27, 2021, 11:27 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रामपुर (उत्तर प्रदेश). कोरोना की दूसरी लहर ने सभी  रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। बिगड़ते हालात के बीच महामारी के खिलाफ जारी जंग में डॉक्टर और नर्स अपनी जान खतरे में डालकर रोजाना हजारों लोगों की जिंदगी बचाने में जुटे हुए हैं। जहां हर कोई इन देवदूतों को धरती का भगवान कह रहा है। लेकिन  उत्तर प्रदेश के रामपुर से जो तस्वीर सामने आई है वह बेहद शर्मनाक है। यहां संक्रमित मरीजों का इलाज करने रहे डॉक्टर और नर्स के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि नौबत मारपीट तक आ गई। नर्स ने डॉक्टर के मुहं पर तड़ातड़ थप्पड़ तक जड़ दिए। जानिए क्या है पूरा मामला


दरअसल, यह  हैरान कर देने वाली यह घटना सोमवार देर रात रामपुर के जिला अस्पताल से सामने आई है। जहां अचानक कोरोना मरीजों की संख्या ज्यादा बढ़ गई है। इसी दौरान ड्यूटी पर तैनात  डॉक्टर और नर्स के बीच किसी बात पर विवाद इतना बड़ गया कि  दोनों के बीच गाली-गलौज हुई और फिर हाथापाई होने लगी। पहले नर्स ने डॉक्टर को तमाचा जड़ दिया। इसके बाद डॉक्टर ने भी नर्स को थप्पड़ मार दिया।


दरअसल, यह  हैरान कर देने वाली यह घटना सोमवार देर रात रामपुर के जिला अस्पताल से सामने आई है। जहां अचानक कोरोना मरीजों की संख्या ज्यादा बढ़ गई है। इसी दौरान ड्यूटी पर तैनात  डॉक्टर और नर्स के बीच किसी बात पर विवाद इतना बड़ गया कि  दोनों के बीच गाली-गलौज हुई और फिर हाथापाई होने लगी। पहले नर्स ने डॉक्टर को तमाचा जड़ दिया। इसके बाद डॉक्टर ने भी नर्स को थप्पड़ मार दिया।


इस घटना को अस्पताल में मरीजों के परिजन देख रहे थे। इन्हीं में से किसी ने मारपीट का वीडियो बना लिया। अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मामला जिले के डीएम तक पहुंचा। नगर मजिस्ट्रेट रामजी मिश्र ने दोनों को बुलाया है। उनका कहना है कि दोनों के बीच जो भी समस्या है उसे सुलझाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना अस्पताल में होनी नहीं चाहिए, यह दुर्घटना घटी जो बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। इसकी पूरी जांच करके मामले को शांत कराया जाएगा।


इस घटना को अस्पताल में मरीजों के परिजन देख रहे थे। इन्हीं में से किसी ने मारपीट का वीडियो बना लिया। अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मामला जिले के डीएम तक पहुंचा। नगर मजिस्ट्रेट रामजी मिश्र ने दोनों को बुलाया है। उनका कहना है कि दोनों के बीच जो भी समस्या है उसे सुलझाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना अस्पताल में होनी नहीं चाहिए, यह दुर्घटना घटी जो बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। इसकी पूरी जांच करके मामले को शांत कराया जाएगा।


नगर मजिस्ट्रेट रामजी मिश्र ने बताया कि कोरोना वायरस लोगों को बीमार तो कर ही रहा। लेकिन दिन रात मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टर और नर्सों के मन और मस्तिष्क पर भी इसका गहरा असर पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में सोमवार के शाम को काफी भीड़ थी और जिसकी वजह से दोनों के बीच तनाव बढ़ गया। हो सकता है कि डॉक्टर ने तनाव में आकर नर्स को ऐसा कुछ कह दिया हो जिससे वह गुस्से में आ गई और विवाद शुरू हो गया।
 


नगर मजिस्ट्रेट रामजी मिश्र ने बताया कि कोरोना वायरस लोगों को बीमार तो कर ही रहा। लेकिन दिन रात मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टर और नर्सों के मन और मस्तिष्क पर भी इसका गहरा असर पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में सोमवार के शाम को काफी भीड़ थी और जिसकी वजह से दोनों के बीच तनाव बढ़ गया। हो सकता है कि डॉक्टर ने तनाव में आकर नर्स को ऐसा कुछ कह दिया हो जिससे वह गुस्से में आ गई और विवाद शुरू हो गया।
 


बता दें कि यह घटना उस दौरान घटी जब दोनों के सामने पुलिस मौजूद थी। पहले नर्स ने डॉक्टर से किसी बात पर जमकर बहस की। फिर पुलिस अफसर के सामने ही थप्पड़ जड़ दिया। पुलिस सामने मारपीट होता देख सबकुछ देखती रही। वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने मामले का संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। हालांकि रामपुर जिला अस्पताल मामले को दबाने में जुटा हुआ है।  दोनों में सुलह की कोशिश की जा रही है। ताकि समय पर कोरोना मरीजों का इलाज हो सके।


बता दें कि यह घटना उस दौरान घटी जब दोनों के सामने पुलिस मौजूद थी। पहले नर्स ने डॉक्टर से किसी बात पर जमकर बहस की। फिर पुलिस अफसर के सामने ही थप्पड़ जड़ दिया। पुलिस सामने मारपीट होता देख सबकुछ देखती रही। वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने मामले का संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। हालांकि रामपुर जिला अस्पताल मामले को दबाने में जुटा हुआ है।  दोनों में सुलह की कोशिश की जा रही है। ताकि समय पर कोरोना मरीजों का इलाज हो सके।


वहीं अस्पताल के अन्य स्टाफ ने बताया कि इलाज के दौरान किसी कोरोना मरीज की मौत हो गई थी। मरीज के परिजनों ने डॉक्टर से मृत्यु प्रमाण पत्र देने को कहा। इस दौरान डॉक्टर ने कोविड वार्ड में तैनात नर्स से मरीज की मौत लिखकर लाने को कहा। इसी दौरान मरीज के परिजन नर्स के पास पहुंचे तो वह भड़क गई। जिसके बाद डॉक्टर और नर्स के बीच कहासुनी के बाद विवाद बढ़ गया।


वहीं अस्पताल के अन्य स्टाफ ने बताया कि इलाज के दौरान किसी कोरोना मरीज की मौत हो गई थी। मरीज के परिजनों ने डॉक्टर से मृत्यु प्रमाण पत्र देने को कहा। इस दौरान डॉक्टर ने कोविड वार्ड में तैनात नर्स से मरीज की मौत लिखकर लाने को कहा। इसी दौरान मरीज के परिजन नर्स के पास पहुंचे तो वह भड़क गई। जिसके बाद डॉक्टर और नर्स के बीच कहासुनी के बाद विवाद बढ़ गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios