Asianet News Hindi

सबसे बड़े राज्य को योगी सरकार ने मुसीबत से निकाला, अब कोरोना से जंग में भूल कर भी न करें ये गलतियां

First Published Apr 18, 2020, 12:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ(Uttar Pradesh ). देश में चल रही कोरोना से जंग में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के मैनेजमेंट की हर ओर तारीफ़ हो रही है। सीएम योगी ने जिस तरह अपने कठोर और त्वरित निर्णयों से प्रदेश में कोरोना के प्रकोप को तेजी से फैलने से रोका है वह वास्तव में अद्वितीय है। देश में एक बड़े क्षेत्रफल व बड़ी आबादी वाले सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से चल रही जंग में  सरकारी मशीनरी का बेहतरीन उपयोग किया है। इसी का परिणाम है कि देश के दूसरे राज्यों की अपेक्षा यूपी में कोरोना का प्रसार तेजी से नहीं हो पाया। 

सूबे में इस समय कोरोना के 900 से अधिक मरीज हैं। अगर इसमें से निजामुद्दीन मरकज के कोरोना पॉजिटिव जमातियों की संख्या को घटा दिया जाए तो ये संख्या 500 के आसपास रह जाती है। ऐसे में ये कहा जा सकता है कि सीएम योगी ने काफी हद तक कोरोना पर अंकुश लगाने में कामयाबी पाई है। 

सूबे में इस समय कोरोना के 900 से अधिक मरीज हैं। अगर इसमें से निजामुद्दीन मरकज के कोरोना पॉजिटिव जमातियों की संख्या को घटा दिया जाए तो ये संख्या 500 के आसपास रह जाती है। ऐसे में ये कहा जा सकता है कि सीएम योगी ने काफी हद तक कोरोना पर अंकुश लगाने में कामयाबी पाई है। 

सीएम योगी के शानदार प्रयासों से धीरे-धीरे यूपी की तमाम व्यवस्थाएं पटरी पर आ रही हैं। इस बीच सीएम योगी ने लोगों से भी इस महामारी से चल रही जंग में सहयोग मांगा है। उन्होंने लोगों से स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना से बचाव के लिए जारी की गई एडवायजरी को पालन करने को कहा है। 

सीएम योगी के शानदार प्रयासों से धीरे-धीरे यूपी की तमाम व्यवस्थाएं पटरी पर आ रही हैं। इस बीच सीएम योगी ने लोगों से भी इस महामारी से चल रही जंग में सहयोग मांगा है। उन्होंने लोगों से स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना से बचाव के लिए जारी की गई एडवायजरी को पालन करने को कहा है। 

इसके लिए उन्होंने लोगों से आवश्यक कार्य से ही घर से बाहर निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि इस महामारी से बचने का सिर्फ एक रास्ता है कि लोग ज्यादा से ज्यादा अपने घरों में रहें। उन्होंने  सभी से लॉकडाउन का पूर्ण पालन करने को कहा है। 

इसके लिए उन्होंने लोगों से आवश्यक कार्य से ही घर से बाहर निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि इस महामारी से बचने का सिर्फ एक रास्ता है कि लोग ज्यादा से ज्यादा अपने घरों में रहें। उन्होंने  सभी से लॉकडाउन का पूर्ण पालन करने को कहा है। 

इसके आलावा लॉकडाउन के दौरान यदि किसी आवश्यक कार्य से घर से बाहर निकलना हो भी रहा है तो चेहरे पर मास्क अवश्य पहनें। इसके लिए सख्ती से निर्देश दिए गए हैं। बिना मास्क पहने घर से निकलने वाले लोगों पर कार्रवाई भी की जा रही है। 

इसके आलावा लॉकडाउन के दौरान यदि किसी आवश्यक कार्य से घर से बाहर निकलना हो भी रहा है तो चेहरे पर मास्क अवश्य पहनें। इसके लिए सख्ती से निर्देश दिए गए हैं। बिना मास्क पहने घर से निकलने वाले लोगों पर कार्रवाई भी की जा रही है। 

कार में ड्राइवर समेत दो लोग व बाइक पर सिर्फ चालक ही सफर करे। इसके लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए इसके निर्देश जारी किए गए हैं। इसका पालन न करने पर भी पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है। 

कार में ड्राइवर समेत दो लोग व बाइक पर सिर्फ चालक ही सफर करे। इसके लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए इसके निर्देश जारी किए गए हैं। इसका पालन न करने पर भी पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है। 

सभी  प्रकार के ऐसे आयोजनों पर पूरी तरह से रोक है जिसमे भीड़ इकट्ठी हो। इसके लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं। किसी भी आयोजन को कोरोना  जंग के दरम्यान न रखा जाए।  भीड़ से कोरोना फैलने के सबसे अधिक संभावनाएं रहती हैं। 
 

सभी  प्रकार के ऐसे आयोजनों पर पूरी तरह से रोक है जिसमे भीड़ इकट्ठी हो। इसके लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं। किसी भी आयोजन को कोरोना  जंग के दरम्यान न रखा जाए।  भीड़ से कोरोना फैलने के सबसे अधिक संभावनाएं रहती हैं। 
 

इसके आलावा सीएम योगी ने सूबे के प्रमुख सभी विभागों में कामकाज शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके लिए सभी विभागों के विभागाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वह केवल उन्ही अधिकारी कर्मचारियों को आफिस बुलाएं जिनसे विभागीय कार्य चल सके।

इसके आलावा सीएम योगी ने सूबे के प्रमुख सभी विभागों में कामकाज शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके लिए सभी विभागों के विभागाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वह केवल उन्ही अधिकारी कर्मचारियों को आफिस बुलाएं जिनसे विभागीय कार्य चल सके।

आवश्यक चीजों से जुड़े हुए 11 उद्योगों को भी खोलने का आदेश दिया गया है। इसके लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं कि कोरोना से सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इन कारखानों में कार्य किया जाए। यहां कर्मियों को ये बताया जाए कि उन्हें कैसे सोशल डिस्टेंसिंग का प्रयोग करना है। 
 

आवश्यक चीजों से जुड़े हुए 11 उद्योगों को भी खोलने का आदेश दिया गया है। इसके लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं कि कोरोना से सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इन कारखानों में कार्य किया जाए। यहां कर्मियों को ये बताया जाए कि उन्हें कैसे सोशल डिस्टेंसिंग का प्रयोग करना है। 
 

लॉकडाउन तोडऩे वालों और पुलिस के साथ बदसलूकी करने वाले उपद्रवियों से अब यूपी पुलिस दंगाइयों की तरह निपटेगी। अब प्रदेश पुलिस बॉडी प्रोटेक्टर और दंगा रोकने के पूरे संसाधनों से लैस होगी। पुलिस को सलाह दी गई है कि तलाशी अभियान या फिर मेडिकल टीम के साथ गली-मोहल्ले में दंगारोधी उपकरणों, बैटन, हेलमेट और बॉडी प्रोटेक्टर पहनकर ड्यूटी दें। यही नहीं पुलिस ये मेडिकल स्टाफ के साथ बदसलूकी करने वालों पर NSA जैसे कठोर कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

लॉकडाउन तोडऩे वालों और पुलिस के साथ बदसलूकी करने वाले उपद्रवियों से अब यूपी पुलिस दंगाइयों की तरह निपटेगी। अब प्रदेश पुलिस बॉडी प्रोटेक्टर और दंगा रोकने के पूरे संसाधनों से लैस होगी। पुलिस को सलाह दी गई है कि तलाशी अभियान या फिर मेडिकल टीम के साथ गली-मोहल्ले में दंगारोधी उपकरणों, बैटन, हेलमेट और बॉडी प्रोटेक्टर पहनकर ड्यूटी दें। यही नहीं पुलिस ये मेडिकल स्टाफ के साथ बदसलूकी करने वालों पर NSA जैसे कठोर कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios