Asianet News Hindi

देवता से बात करने के लिए काट दी थी जुबान, 2 हजार साल बाद सोने की जीभ के साथ मिली ममी

First Published Feb 4, 2021, 9:34 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: मिस्र देश ममियों के लिए मशहूर है। इस देश में पिरामिड में कई ममियां मिल चुकी हैं। यहां प्राचीन काल में मौत के बाद डेड बॉडीज को सहेजने के लिए लोग इसपर ख़ास तरह का लेप चढ़ाकर उसे कपड़े से लपेट देते थे। इस तरह बॉडीज को लंबे समय तक सड़ने से बचाया जाता था। हजारों सालों बाद भी मिस्र में ऐसी कई ममियां मिलती हैं, जो ताजा होती हैं। हाल ही में इस देश में एक ऐसी ममी मिली, जिसकी जीभ सोने की थी। कहा जा रहा है कि मौत के बाद देवता से बात करने के लिए उसकी जुबान काटकर सोने की कर दी गई होगी। हालांकि, इसका वैज्ञानिक कारण साफ़ नहीं है। अब इस ममी को निकालने के बाद पुरातत्व विभाग इसकी जांच कर रहा है। 

मिस्र प्राचीन कलाओं का अद्भुत संगम है। इस देश की कहानियां काफी रोमांचकारी होती हैं। इतिहास में इस देश के राजाओं और उसकी परम्पराओं की काफी चर्चा है। ये सारी कहानियां यहां होने वाली खुदाई और उसमें मिले अवशेषों पर आधारित है। मिस्र को ममियों का देश भी कहा जाता है। 

मिस्र प्राचीन कलाओं का अद्भुत संगम है। इस देश की कहानियां काफी रोमांचकारी होती हैं। इतिहास में इस देश के राजाओं और उसकी परम्पराओं की काफी चर्चा है। ये सारी कहानियां यहां होने वाली खुदाई और उसमें मिले अवशेषों पर आधारित है। मिस्र को ममियों का देश भी कहा जाता है। 

हाल ही में खुदाई करने वालों को इस देश में एक सोने की जीभ वाली ममी मिली। इस ममी को मिस्र के तापोसिरिस मैग्ना से निकाला गया। इस ममी को 2 हजार साल पुराना बताया जा रहा है। 

हाल ही में खुदाई करने वालों को इस देश में एक सोने की जीभ वाली ममी मिली। इस ममी को मिस्र के तापोसिरिस मैग्ना से निकाला गया। इस ममी को 2 हजार साल पुराना बताया जा रहा है। 

खुदाई के दौरान 16 ममियां मिली थीं। इसमें से एक की जीभ सोने की थी। यहां कई तरह के देवता है। इनमें पाताल लोक के देवता की भी पूजा की जाती है। इन्हीं से बात करने के लिए लोग सोने की जीभ का इस्तेमाल करते थे। 
 

खुदाई के दौरान 16 ममियां मिली थीं। इसमें से एक की जीभ सोने की थी। यहां कई तरह के देवता है। इनमें पाताल लोक के देवता की भी पूजा की जाती है। इन्हीं से बात करने के लिए लोग सोने की जीभ का इस्तेमाल करते थे। 
 

ममी की जीभ सोने की देख सभी हैरान हो गए। इस ममी को लेकर इजिप्शियन एंटीक्वीटीस मिनिस्ट्री ने कहा कि अभी तक ये साफ़ नहीं है कि आखिर इस ममी की जीभ सोने की क्यों है? लेकिन अंदाजा लगाया जा रहा है कि मौत के बाद ये भगवान से बात कर सके इसलिए जीभ को सोने का बनाया गया होगा। 

ममी की जीभ सोने की देख सभी हैरान हो गए। इस ममी को लेकर इजिप्शियन एंटीक्वीटीस मिनिस्ट्री ने कहा कि अभी तक ये साफ़ नहीं है कि आखिर इस ममी की जीभ सोने की क्यों है? लेकिन अंदाजा लगाया जा रहा है कि मौत के बाद ये भगवान से बात कर सके इसलिए जीभ को सोने का बनाया गया होगा। 

पुरानी परंपराओं के मुताबिक, मिस्र में सोने की जीभ पाताल लोक के देवता ओसिरिस से बात करने में मदद करती थी। मरने के बाद इसे देवता से बात करने की योग्यता माना जाता था। 

पुरानी परंपराओं के मुताबिक, मिस्र में सोने की जीभ पाताल लोक के देवता ओसिरिस से बात करने में मदद करती थी। मरने के बाद इसे देवता से बात करने की योग्यता माना जाता था। 

अभी तक इस ममी की जीभ की वजह पौराणिक कथाओं के हिसाब से ही मानी जा रही है। इसका कोई वैज्ञानिक कारण सामने नहीं आया है। कई लोग इसे देवता से जोड़ रहे हैं तो कई का कहना है कि हो सकता है मौत के समय वो बोल ना पाता हो इसलिए उसे सोने की जीभ दी गई है। 

अभी तक इस ममी की जीभ की वजह पौराणिक कथाओं के हिसाब से ही मानी जा रही है। इसका कोई वैज्ञानिक कारण सामने नहीं आया है। कई लोग इसे देवता से जोड़ रहे हैं तो कई का कहना है कि हो सकता है मौत के समय वो बोल ना पाता हो इसलिए उसे सोने की जीभ दी गई है। 

मिस्र में कई तरह की ममियां मिलती हैं। एक ममी ने डेथ मास्क लगाया था। वहीं इलाके में मिली एक ममी के चेहरे पर स्माइल ने भी चर्चा बटोरी। कई ममियां गोल्डन रैप के साथ मिली। तो कुछ के हेयरस्टाइल ने सुर्खियां बटोरी। अब सोने की जीभ की काफी चर्चा हो रही है। 

मिस्र में कई तरह की ममियां मिलती हैं। एक ममी ने डेथ मास्क लगाया था। वहीं इलाके में मिली एक ममी के चेहरे पर स्माइल ने भी चर्चा बटोरी। कई ममियां गोल्डन रैप के साथ मिली। तो कुछ के हेयरस्टाइल ने सुर्खियां बटोरी। अब सोने की जीभ की काफी चर्चा हो रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios