Asianet News Hindi

क्या आप भी फैला रहे हैं कोरोना?

First Published Apr 3, 2020, 11:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: भारत में कोरोना को रोकने के लिए लॉकडाउन 24 मार्च से ही कर दिया गया था। यहां लापरवाही और साजिश के तहत कोरोना फैलाया गया। इसका उदाहरण साफ़ देखने को मिल रहा है कि कैसे कुछ लोग इस वायरस को दूसरों तक फैलाने के लिए काम कर रहे हैं। लेकिन सिर्फ दूसरों पर थूकने और खांसने से ही ये वायरस नहीं फैलता। हम और आप भी हर दिन कुछ ऐसा कर जाते हैं, जिससे ये संक्रमण फ़ैल रहा है। आज हम आपको कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें हम और आप अनजाने में ही कर संक्रम बढ़ाने का काम कर रहे हैं। 

स्मोक करना: धूम्रपान करने वालों में कोरोना से संक्रमित होने का खतरा तीन गुना ज्यादा है। द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडीसिन में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, चीन में कोरोना से संक्रमित 1 हजार 99 लोगों का अध्ययन किया गया।  इसमें पाया गया कि जो सिगरेट पीते थे, उनमें कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा था। साथ ही उन्हें सांस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही थी।

स्मोक करना: धूम्रपान करने वालों में कोरोना से संक्रमित होने का खतरा तीन गुना ज्यादा है। द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडीसिन में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, चीन में कोरोना से संक्रमित 1 हजार 99 लोगों का अध्ययन किया गया। इसमें पाया गया कि जो सिगरेट पीते थे, उनमें कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा था। साथ ही उन्हें सांस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही थी।

नींद की कमी: अगर आपकी नींद पूरी नहीं हो रही है तो आपने इस  वायरस की चपेट में आने का खतरा साढ़े चार गुना ज्यादा  बढ़ जाता है। वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के रिसर्च में पाया गया कि नींद पूरी ना होने से इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। साथ ही यूके के नेशनल हेल्थ सर्विस के रिसर्च में पता चला कि जो लोग 5 घंटे से कम सोते हैं, उन्हें सर्दी-जुकाम जल्दी पकड़ता है।

नींद की कमी: अगर आपकी नींद पूरी नहीं हो रही है तो आपने इस वायरस की चपेट में आने का खतरा साढ़े चार गुना ज्यादा बढ़ जाता है। वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के रिसर्च में पाया गया कि नींद पूरी ना होने से इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। साथ ही यूके के नेशनल हेल्थ सर्विस के रिसर्च में पता चला कि जो लोग 5 घंटे से कम सोते हैं, उन्हें सर्दी-जुकाम जल्दी पकड़ता है।

शराब पीना: ऐसी अफवाह आई कि शराब पीने या उसका छिड़काव करने से कोरोना से बचा जा सकता है। लेकिन ये सच नहीं है। शराब आपकी रोगों से लड़ने की क्षमता कम कर देता है। मेरिका के नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की रिसर्च के मुताबिक, शराब के सेवन से न्यूमोनिया का खतरा होता है।

शराब पीना: ऐसी अफवाह आई कि शराब पीने या उसका छिड़काव करने से कोरोना से बचा जा सकता है। लेकिन ये सच नहीं है। शराब आपकी रोगों से लड़ने की क्षमता कम कर देता है। मेरिका के नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की रिसर्च के मुताबिक, शराब के सेवन से न्यूमोनिया का खतरा होता है।

नाख़ून चबाना: कई लोगों में नाख़ून चबाने की आदत होती है। अगर आपने हाथ सैनिटाइजर से साफ किये हैं और इसके बाद भी आप नाख़ून चबाते हैं, तो आपके संक्रमित होने के चांसेस काफी बढ़ जाएंगे।

नाख़ून चबाना: कई लोगों में नाख़ून चबाने की आदत होती है। अगर आपने हाथ सैनिटाइजर से साफ किये हैं और इसके बाद भी आप नाख़ून चबाते हैं, तो आपके संक्रमित होने के चांसेस काफी बढ़ जाएंगे।

नाखून लंबे रखना: अगर आपके नाख़ून लंबे हैं, तो आपका हाथ धोना बेकार है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कोरोना वायरस 125 नैनोमीटर का होता है। ये साइज इतना छोटा है कि आपके नाखून के अंदर या नेलपेंट की दरारों में भी फंस सकता है। ऐसे में अगर आपके नाखून लंबे हैं, तो ये वायरस उसके अंदर चिप सकता है।

नाखून लंबे रखना: अगर आपके नाख़ून लंबे हैं, तो आपका हाथ धोना बेकार है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कोरोना वायरस 125 नैनोमीटर का होता है। ये साइज इतना छोटा है कि आपके नाखून के अंदर या नेलपेंट की दरारों में भी फंस सकता है। ऐसे में अगर आपके नाखून लंबे हैं, तो ये वायरस उसके अंदर चिप सकता है।

बालों में हाथ फेरना: कोरोना वायरस कुछ घंटों तक आपके बालों में रह सकते हैं। ऐसे में अगर आप बार-बार अपने बाल छुएंगे तो वायरस वहां से आपके हाथों में और फिर चेहरे तक आसानी से पहुंच जाएगा। इस कारण अपने बाल ना छुएं। पुरुषों को भी अपनी ढाढ़ी छोटी या क्लीन शेव  ही रखने को कहा जा रहा है।

बालों में हाथ फेरना: कोरोना वायरस कुछ घंटों तक आपके बालों में रह सकते हैं। ऐसे में अगर आप बार-बार अपने बाल छुएंगे तो वायरस वहां से आपके हाथों में और फिर चेहरे तक आसानी से पहुंच जाएगा। इस कारण अपने बाल ना छुएं। पुरुषों को भी अपनी ढाढ़ी छोटी या क्लीन शेव ही रखने को कहा जा रहा है।

नाखून से दांत साफ़ करना: नाखून के अंदर  कोरोना छिपा हो सकता है। ऐसे में हमें अपने दांतों को नाखून से साफ नहीं करना चाहिए।

नाखून से दांत साफ़ करना: नाखून के अंदर कोरोना छिपा हो सकता है। ऐसे में हमें अपने दांतों को नाखून से साफ नहीं करना चाहिए।

पिंपल्स फोड़ना: अगर आप अपने चेहरे को बार-बार हाथ लगाएंगे तो संक्रमित होने के चान्सेस बढ़ जाएंगे। इसलिए ऐसा करना अवॉयड करना चाहिए।

पिंपल्स फोड़ना: अगर आप अपने चेहरे को बार-बार हाथ लगाएंगे तो संक्रमित होने के चान्सेस बढ़ जाएंगे। इसलिए ऐसा करना अवॉयड करना चाहिए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios