Asianet News Hindi

मौत के बाद मिले SEX, इसलिए ऐसे दफनाया गया राजा, 15 सौ साल बाद 6 लड़कियों संग निकला बाहर

First Published Sep 27, 2020, 5:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: शौक तो बड़ी चीज होती ही हैं। पुराने जमाने में राजा-महाराजों के शौक देखकर दुनिया भी हैरान हो जाती थी। अपने शौक पर ये लोग पानी की तरह पैसे बहा देते थे। इनके पास हर तरह की सुविधाएं होती थी। इनके महल, इनकी गाड़ियों के कलेक्शन देखने लायक होते थे। सोने-चांदी से इनका खजाना भरा रहता था। कई महाराजाओं के हरम भी हुआ करते थे। इनमें कई महिलाएं उनका मन बहलाने के लिए मौजूद होती थी। लेकिन हाल ही में जर्मनी के Brücken-Hackpfüffel में एक्सपर्ट्स को खुदाई के दौरान एक राजा की जो बॉडी मिली है उसने शौक के सारे लिमिट्स को क्रॉस कर दिया। इस राजा की बॉडी 6 लड़कियों की बॉडी से घिरी थी। कहा जा रहा है कि 15 सौ साल पहले इस राजा की मौत के बाद इन लड़कियों को उसकी सेक्स की चाहत को मौत के बाद पूरा करने के लिए साथ ही दफना दिया गया था। ये खोज तब हुई जब एरिया में पॉल्ट्री फार्म खोलने के लिए मजदूर खुदाई कर रहे थे। इस दौरान ही ये बॉडी मिली। 

आसमान से कैद की गई राजा की मिली कब्र। राजा की बॉडी 6 महिलाओं से घिरी थी। इसके अलावा राजा की कब्र के पास घोड़े और कुत्ते सहित 11 जानवरों के अवशेष भी मिले। 
 

आसमान से कैद की गई राजा की मिली कब्र। राजा की बॉडी 6 महिलाओं से घिरी थी। इसके अलावा राजा की कब्र के पास घोड़े और कुत्ते सहित 11 जानवरों के अवशेष भी मिले। 
 

राजा के मुख्य कब्र को बेहद सावधानी से निकाला गया। इस मकबरे को इतिहास के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है। साथ ही इसे जमीन से बाहर निकाल कर एक प्रयोगशाला में भेजा जाएगा, जहां सावधानीपूर्वक इसका विश्लेषण किया जाएगा।

राजा के मुख्य कब्र को बेहद सावधानी से निकाला गया। इस मकबरे को इतिहास के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है। साथ ही इसे जमीन से बाहर निकाल कर एक प्रयोगशाला में भेजा जाएगा, जहां सावधानीपूर्वक इसका विश्लेषण किया जाएगा।

ये साइट (चित्र) ब्रूकेन-हैकपफेल के निकट सक्सोनी-एनामल में अनजाने में मिल गया। दरअसल, यहां बिल्डरों द्वारा पॉल्ट्री फार्म बनाया जा रहा था। लेकिन वहां ये डेड बॉडी मकबरे में मिल गई। इस साइट का एड्रेस अभी गोपनीय रखा गया है। 

ये साइट (चित्र) ब्रूकेन-हैकपफेल के निकट सक्सोनी-एनामल में अनजाने में मिल गया। दरअसल, यहां बिल्डरों द्वारा पॉल्ट्री फार्म बनाया जा रहा था। लेकिन वहां ये डेड बॉडी मकबरे में मिल गई। इस साइट का एड्रेस अभी गोपनीय रखा गया है। 

यह बहुत अच्छी तरह से संरक्षित कांच का कटोरा आगे की परीक्षा के लिए लैंडेसम्यूजियम फर वोरगेस्चीच की कार्यशाला में भेजा गया है। यह आधुनिक समय में मैन्सफेल्ड-सुदरज़ में एक राजसी दरबार की 60 अनडैमेज कब्रों के साथ 1,500 साल पुराने मकबरे में पाई गई वस्तुओं में से एक था।
 

यह बहुत अच्छी तरह से संरक्षित कांच का कटोरा आगे की परीक्षा के लिए लैंडेसम्यूजियम फर वोरगेस्चीच की कार्यशाला में भेजा गया है। यह आधुनिक समय में मैन्सफेल्ड-सुदरज़ में एक राजसी दरबार की 60 अनडैमेज कब्रों के साथ 1,500 साल पुराने मकबरे में पाई गई वस्तुओं में से एक था।
 

इस कब्र के साथ मिले इन औजारों को लांडेसम्यूजिक फर वर्गेस्चीच की कार्यशाला में भेजा गया है। इसमें क्लिप, जिसमें स्नैग्ड टेक्सटाइल के टुकड़े शामिल हैं, एक जर्मनिक जनजाति की उपस्थिति को इंगित करता है। 

इस कब्र के साथ मिले इन औजारों को लांडेसम्यूजिक फर वर्गेस्चीच की कार्यशाला में भेजा गया है। इसमें क्लिप, जिसमें स्नैग्ड टेक्सटाइल के टुकड़े शामिल हैं, एक जर्मनिक जनजाति की उपस्थिति को इंगित करता है। 

15 सौ साल बाद भी इस कब्र से मिले इस क्लिप को देख किसी को विश्वास नहीं हुआ। ये अविश्वसनीय रूप से अच्छी तरह से शाही कब्रिस्तान में संरक्षित था। 

15 सौ साल बाद भी इस कब्र से मिले इस क्लिप को देख किसी को विश्वास नहीं हुआ। ये अविश्वसनीय रूप से अच्छी तरह से शाही कब्रिस्तान में संरक्षित था। 

पुरातत्वविद अर्नोल्ड मुहाल ने अपनी कार्यशाला में कलात्मक वेस्टेज क्लैप्स दिखाए। वस्तुएं 1,500 वर्ष पुरानी हैं और एक जर्मन स्वामी की कब्र के साथ 60 बिना छेड़छाड़ की  कब्रों में रखी थी। 

पुरातत्वविद अर्नोल्ड मुहाल ने अपनी कार्यशाला में कलात्मक वेस्टेज क्लैप्स दिखाए। वस्तुएं 1,500 वर्ष पुरानी हैं और एक जर्मन स्वामी की कब्र के साथ 60 बिना छेड़छाड़ की  कब्रों में रखी थी। 

यह जर्मनिक देव प्रतिमा लगभग 1,800 साल पुरानी मानी जाती है। इसे देखकर इसके पवित्र वस्तु होने की संभावना जताई गई है और पुरातत्वविदों का मानना ​​है कि इसे इसके मालिक के साथ दफन किया गया था। 

यह जर्मनिक देव प्रतिमा लगभग 1,800 साल पुरानी मानी जाती है। इसे देखकर इसके पवित्र वस्तु होने की संभावना जताई गई है और पुरातत्वविदों का मानना ​​है कि इसे इसके मालिक के साथ दफन किया गया था। 

इस सोने के सिक्के में पूर्वी रोमन सम्राट ज़ेनो का सिर है जो 480 के आसपास रहता था और इसे कब्रिस्तान में ही दफन किया गया था। 

इस सोने के सिक्के में पूर्वी रोमन सम्राट ज़ेनो का सिर है जो 480 के आसपास रहता था और इसे कब्रिस्तान में ही दफन किया गया था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios