अचानक नीले आसमान में बदला रंग, जमीन पर दिखी कयामत की रात

First Published Nov 28, 2020, 12:39 PM IST

हटके डेस्क : बचपन से हम सुनते और देखते आ रहे है कि आसमान का रंग नीला होता है। रात होने के बाद अंधेरा छाता है और इसका रंग हो जाता है। लेकिन अगर हम कहे की आसमान का रंग बैगनी हो गया, तो एक पल के लिए शायद आपको विश्वास नहीं होगा पर ये सच है। स्वीडन (Sweden) के दक्षिणी तट पर ट्रेलीबोर्ग में रात होते ही आसमान काले से बैंगनी (Purple) रंग का हो गया। जिसे देखकर लोगों की आंखें फटी की फटी रह गई। कई लोगों ने इसे कमायत की रात बताया, तो किसी को इस पर विश्वास नहीं हुआ। आखिर इस पर्पल आसमान का सच है क्या आइए आपको बताते हैं।

<p>स्वीडन सिटी में उस वक्त लोग डर से कांप उठे जब अचानक नीले आसमान का रंग बैंगनी हो गया। जी हां पर्पल कलर के इस मंजर को देखकर एक पल के लिए आपको भी विश्वास करना मुश्किल हो सकता है।</p>

स्वीडन सिटी में उस वक्त लोग डर से कांप उठे जब अचानक नीले आसमान का रंग बैंगनी हो गया। जी हां पर्पल कलर के इस मंजर को देखकर एक पल के लिए आपको भी विश्वास करना मुश्किल हो सकता है।

<p>अंधेरा छाने के बाद जब सबकुछ काला-काला नजर आता है, उस समय स्वीडन का आसमान अचानक से बैंगनी हो गया। लोग इससे काफी बुरी तरह डर गए और इसे कमायत की रात बताने लगे।</p>

अंधेरा छाने के बाद जब सबकुछ काला-काला नजर आता है, उस समय स्वीडन का आसमान अचानक से बैंगनी हो गया। लोग इससे काफी बुरी तरह डर गए और इसे कमायत की रात बताने लगे।

<p>हालांकि जब उन्हें इसकी वजह पता चली तो उन्होंने राहत की सांस ली। दरअसल, शहर के पास एक टमाटर फार्म (Tomato Farm) में एनर्जी एफिशिएंट लाइटिंग सिस्टम लगाया गया है, जहां से बैंगनी रंग की रोशनी निकलती है और आसमान का रंग भी बदल जाता है।</p>

हालांकि जब उन्हें इसकी वजह पता चली तो उन्होंने राहत की सांस ली। दरअसल, शहर के पास एक टमाटर फार्म (Tomato Farm) में एनर्जी एफिशिएंट लाइटिंग सिस्टम लगाया गया है, जहां से बैंगनी रंग की रोशनी निकलती है और आसमान का रंग भी बदल जाता है।

<p>कहा जाता है कि पेड़ों पर गिरती रोशनी उनकी सेहत के लिए अच्छी होती है। इसी वजह से ये तेज रोशनी वालीं LED लाइट लगाई गई थी।&nbsp;</p>

कहा जाता है कि पेड़ों पर गिरती रोशनी उनकी सेहत के लिए अच्छी होती है। इसी वजह से ये तेज रोशनी वालीं LED लाइट लगाई गई थी। 

<p>डर के कारण कई स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत भी दर्ज करवाई। जिसके बाद लाइट बंद कर दी गई। ट्रेलीबोर्ग के पर्यावरण प्रबंधक माइकल नोरेन ने कहा है कि हमारा मकसद किसी को डराना या परेशान करना नहीं था। इसलिए फिलहाल कुछ घंटों के लिए लाइट बंद की जा रही है।</p>

डर के कारण कई स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत भी दर्ज करवाई। जिसके बाद लाइट बंद कर दी गई। ट्रेलीबोर्ग के पर्यावरण प्रबंधक माइकल नोरेन ने कहा है कि हमारा मकसद किसी को डराना या परेशान करना नहीं था। इसलिए फिलहाल कुछ घंटों के लिए लाइट बंद की जा रही है।

<p>वही, टमाटर फार्म के मालिक अल्फ्रेड पेडरसन ऐंड सन का कहना है कि बिजली बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा था। उनका इरादा किसी को परेशान करने का नहीं है। बता दें कि आने वाले समय में बिजली बचाने के लिए कोई और योजना बनाई जाएगी।</p>

वही, टमाटर फार्म के मालिक अल्फ्रेड पेडरसन ऐंड सन का कहना है कि बिजली बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा था। उनका इरादा किसी को परेशान करने का नहीं है। बता दें कि आने वाले समय में बिजली बचाने के लिए कोई और योजना बनाई जाएगी।

Today's Poll

आप कितने खिलाड़ियों के साथ ऑनलाइन गेम खेलना पसंद करते हैं?