Asianet News Hindi

इस ग्रुप चैट में शेयर होते हैं लड़कियों से रेप के वीडियोज, खुद चाकू से काट लेती है प्राइवेट पार्ट्स

First Published Apr 5, 2020, 12:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: इस समय दुनिया का ध्यान कोरोना की तरफ है। सभी इस जानलेवा वायरस से बचाव करने में ध्यान दे रहे हैं। साथ ही जिस तेजी से ये वायरस फ़ैल रहा है, उसने सभी के होश उड़ा दिए हैं। लेकिन इस बीच साउथ कोरिया से एक ऐसी खौफनाक खबर सामने आई, जिसने सभी के होश उड़ा दिए। यहां सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एक ऐसा ग्रुप चल रहा था, जिसपर लड़कियों को ब्लैकमेल कर अश्लील वीडियोज शेयर किये जा रहे थे। साथ ही लड़कियों को टॉर्चर कर उनसे खौफनाक काम करवाए जा रहे थे। इनमें प्राइवेट पार्ट्स को चाकू से काटना, उनमें नुकीली चीजें घुसाना और घर भेजे गए लोगों द्वारा रेप शूट कर वीडियोज बनवाना शामिल है। जब इस ग्रुप का खुलासा हुआ तो सभी के होश उड़ गए।  

23 मार्च को साउथ कोरिया में पुलिस ने 124 लोगों को अरेस्ट किया। इन लोगों पर लड़कियों को ब्लैकमेल कर उनके अश्लील वीडियोज शेयर करने का आरोप था।

23 मार्च को साउथ कोरिया में पुलिस ने 124 लोगों को अरेस्ट किया। इन लोगों पर लड़कियों को ब्लैकमेल कर उनके अश्लील वीडियोज शेयर करने का आरोप था।

बीते एक साल से यहां टेलीग्राम पर एक ग्रुप बनाकर कुछ लोग लड़कियों के अश्लील वीडियोज शेयर कर रहे थे।

बीते एक साल से यहां टेलीग्राम पर एक ग्रुप बनाकर कुछ लोग लड़कियों के अश्लील वीडियोज शेयर कर रहे थे।

इस ग्रुप का नाम NTH ROOM था। इसपर लगभग 74 लड़कियों के वीडियोज शेयर किये गए थे। इनमें से 16 नाबालिग थीं।

इस ग्रुप का नाम NTH ROOM था। इसपर लगभग 74 लड़कियों के वीडियोज शेयर किये गए थे। इनमें से 16 नाबालिग थीं।

इस ग्रूप का हिस्सा बनने के लिए लोगों से काफी मोटी रकम ली जाती थी। कई लोग मुंह-मांगी रकम अदा कर इस ग्रुप का हिस्सा बनने को तैयार थे।

इस ग्रूप का हिस्सा बनने के लिए लोगों से काफी मोटी रकम ली जाती थी। कई लोग मुंह-मांगी रकम अदा कर इस ग्रुप का हिस्सा बनने को तैयार थे।

कोरियन टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, इस ग्रुप का सरगना 24 साल का चो जुबिन था। उसे अरेस्ट कर लिया गया है।

कोरियन टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, इस ग्रुप का सरगना 24 साल का चो जुबिन था। उसे अरेस्ट कर लिया गया है।

जुबिन ने जो खुलासा किया, वो हैरान करने वाला है। इस ग्रुप के लोग ऐसी लड़कियों को चुनते थे, जो शांत और डरी-सहमी रहती थी। लड़कियों को पहले अलग-अलग तरीके से फंसाया जाता था।

जुबिन ने जो खुलासा किया, वो हैरान करने वाला है। इस ग्रुप के लोग ऐसी लड़कियों को चुनते थे, जो शांत और डरी-सहमी रहती थी। लड़कियों को पहले अलग-अलग तरीके से फंसाया जाता था।

लड़कियों को नौकरी या प्यार के झांसे में लेकर उनके पर्सनल फोटोज लिए जाते थे। फिर इन तस्वीरों के आधार पर उन्हें ब्लैकमेल किया जाता था। इन लड़कियों को ट्रैक भी किया जाता था।

लड़कियों को नौकरी या प्यार के झांसे में लेकर उनके पर्सनल फोटोज लिए जाते थे। फिर इन तस्वीरों के आधार पर उन्हें ब्लैकमेल किया जाता था। इन लड़कियों को ट्रैक भी किया जाता था।

लड़कियों से खौफनाक वीडियोज बनवाए जाते थे। इसमें अपने प्राइवेट पार्ट्स को काटने से लेकर रेप के वीडियोज और अपने परिवार वालो के साथ वीडियोज शूट करना शामिल था।

लड़कियों से खौफनाक वीडियोज बनवाए जाते थे। इसमें अपने प्राइवेट पार्ट्स को काटने से लेकर रेप के वीडियोज और अपने परिवार वालो के साथ वीडियोज शूट करना शामिल था।

अगर लड़कियां इससे इंकार करती थीं, तो अनजान लोग उनके घर आकर उनसे रेप कर वीडियोज बनाते थे। लड़कियां अपने साथ हो रही इन वारदातों की कंप्लेन डर से नहीं कर रही थीं।

अगर लड़कियां इससे इंकार करती थीं, तो अनजान लोग उनके घर आकर उनसे रेप कर वीडियोज बनाते थे। लड़कियां अपने साथ हो रही इन वारदातों की कंप्लेन डर से नहीं कर रही थीं।

इस ग्रुप का मेंबर बनने के लिए लोग एक लाख रुपए तक चुकाते थे। इसके बाद ग्रुप में शेयर वीडियोज एन्जॉय करते थे।

इस ग्रुप का मेंबर बनने के लिए लोग एक लाख रुपए तक चुकाते थे। इसके बाद ग्रुप में शेयर वीडियोज एन्जॉय करते थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios