Asianet News Hindi

कोरोना को हराकर मुस्कुरा दी बच्ची, 50 दिन तक वायरस से लड़ी योद्धा

First Published Apr 1, 2020, 4:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इटली दुनिया का वह देश है, जहां कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है। यह वायरस चीन के हुबेई प्रोविन्स के वुहान शहर से पूरी दुनिया में फैला, लेकिन चीन में जहां कोरोना से 81,518 लोग संक्रमित हुए और 3,305 लोगों की मौत हुई, वहीं इटली में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 105,792 हो गई है। इटली में कोरोना से अभी तक कुल 12,464 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरा इटली तहस-नहस हो गया है। लेकिन एक कहावत है - जाको राखे साइयां मार सके ना कोय। यह कहावत इटली के एक 6 महीने के बच्चे और 102 साल की महिला पर सटीक बैठती है, जिन्होंने कोरोना की जंग जीत ली। 6 महीने का लियोनार्दो कोरोना के संक्रमण का शिकार हो कर 50 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहा। उसके बचने की कोई उम्मीद नहीं थी। लेकिन वह बच गया। उसे अब 'वंडरफुल फेस ऑफ होप' और 'मिरेकल बेबी' कहा जा रहा है। वहीं, कोरोना से पीड़ित 102 साल की दादी अम्मा इटालिका ग्रोन्डोना भी कोरोना को हरा देने में कामयाब रहीं। इन्हें 'द इमोर्टल' नाम से पुकारा जा रहा है। ये 20 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहीं। जब ये लियानार्दो की उम्र की यानी 6 महीने की थीं, तब इन्हें स्पेनिश फ्लू नाम की बीमारी हुई थी। यह बीमारी भी काफी खतरनाक माना जाती है, लेकिन तब भी इन्होंने जल्दी ही इससे छुटकारा पा लिया था। देखें तस्वीरें।  
 

6 महीने का लियानार्दो कोरोना से संक्रमित होने के बाद 50 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहा। उसके बचने की कोई उम्मीद नहीं थी, लेकिन उसने कोरोनो से जंग जीत ली। अब इसे 'वंडरफुल फेस ऑफ होप' कहा जा रहा है।

6 महीने का लियानार्दो कोरोना से संक्रमित होने के बाद 50 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहा। उसके बचने की कोई उम्मीद नहीं थी, लेकिन उसने कोरोनो से जंग जीत ली। अब इसे 'वंडरफुल फेस ऑफ होप' कहा जा रहा है।

कोरोना से पीड़ित 102 साल की दादी अम्मा इटालिका ग्रोन्डोना भी कोरोना को हरा देने में कामयाब रहीं।

कोरोना से पीड़ित 102 साल की दादी अम्मा इटालिका ग्रोन्डोना भी कोरोना को हरा देने में कामयाब रहीं।

कोरोना वायरस से इटली में सबसे ज्यादा तबाही मची है। एक मरीज को आईसीयू में ले जाते डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ।

कोरोना वायरस से इटली में सबसे ज्यादा तबाही मची है। एक मरीज को आईसीयू में ले जाते डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ।

रोम की एक सुनसान पड़ी इमारत। पहले यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता था।

रोम की एक सुनसान पड़ी इमारत। पहले यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता था।

कोरोना वायरस के कहर के चलते इटली के शहरों की सड़कों पर भुतहा सन्नाटा पसरा है। सूनी सड़क से अकेले गुजरता एक शख्स।

कोरोना वायरस के कहर के चलते इटली के शहरों की सड़कों पर भुतहा सन्नाटा पसरा है। सूनी सड़क से अकेले गुजरता एक शख्स।

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में खास इंतजाम किए गए हैं, फिर भी इटली में सबसे ज्यादा लोगों की जान गई है।

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में खास इंतजाम किए गए हैं, फिर भी इटली में सबसे ज्यादा लोगों की जान गई है।

इटली के एक शहर का सूना पड़ा बाजार। कोरोना की वजह से पूरे देश में बदहाली छा गई है।

इटली के एक शहर का सूना पड़ा बाजार। कोरोना की वजह से पूरे देश में बदहाली छा गई है।

रोम की सूनी पड़ी एक ऐतिहासिक इमारत। एक समय इन जगहों पर पर्यटकों की भारी भीड़ नजर आती थी।

रोम की सूनी पड़ी एक ऐतिहासिक इमारत। एक समय इन जगहों पर पर्यटकों की भारी भीड़ नजर आती थी।

कोरोना के एक मरीज का गहन चिकित्सा कक्ष में इलाज हो रहा है। कोरोना के मरीजों को सांस लेने में काफी दिक्कत होती है। इसलिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखना पड़ता है।

कोरोना के एक मरीज का गहन चिकित्सा कक्ष में इलाज हो रहा है। कोरोना के मरीजों को सांस लेने में काफी दिक्कत होती है। इसलिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखना पड़ता है।

इटली के लोग मूवी देखने के काफी शौकीन हैं, लेकिन कोरोना के फैलने के बाद अब थियेटर और सिनेमा हॉल में शायद ही कोई नजर आता हो।

इटली के लोग मूवी देखने के काफी शौकीन हैं, लेकिन कोरोना के फैलने के बाद अब थियेटर और सिनेमा हॉल में शायद ही कोई नजर आता हो।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios