Asianet News Hindi

दुनिया के सबसे बड़े रोहिंग्या कैंप में लगी आग, 15 की मौत; 400 से ज्यादा शरणार्थी लापता; दर्दनाक Photos

First Published Mar 23, 2021, 9:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ढाका. दक्षिणी बांग्लादेश में रविवार को दुनिया के सबसे बड़े रोहिंग्या कैंप में आग लग गई। बताया जा रहा है कि इसमें 15 लोगों की मौत हो गई। वहीं, 400 से ज्यादा लोग लापता हैं। यूएन के मुताबिक, इस आग ने हजारों अस्थाई घरों को तबाह कर दिया। 

इन कैंपों में करीब 10 लाख शरणार्थी रहते हैं, इनमें से ज्यादातर वे हैं जो 2017 में म्यांमार से लौट कर आए। ये सभी कॉक्स बाजार और इसके आसपास के शिविरों में रहते हैं। संयुक्त राष्ट्र और कई मुस्लिम देश रहने-खाने में इनकी मदद करते हैं।

इन कैंपों में करीब 10 लाख शरणार्थी रहते हैं, इनमें से ज्यादातर वे हैं जो 2017 में म्यांमार से लौट कर आए। ये सभी कॉक्स बाजार और इसके आसपास के शिविरों में रहते हैं। संयुक्त राष्ट्र और कई मुस्लिम देश रहने-खाने में इनकी मदद करते हैं।

यह आग कॉक्स बाजार इलाके में बने बालूखाली शिविर में लगी थी, बाद में यह काफी बड़े इलाके में फैल गई। बताया जा रहा है कि इस आग से करीब 50 हजार लोग बेघर हो गए। आग लगने के बाद यहां रहने वाले लोगों में अफरा तफरी मच गई। वे जो कुछ लेकर भाग सकते थे, भागे। 

यह आग कॉक्स बाजार इलाके में बने बालूखाली शिविर में लगी थी, बाद में यह काफी बड़े इलाके में फैल गई। बताया जा रहा है कि इस आग से करीब 50 हजार लोग बेघर हो गए। आग लगने के बाद यहां रहने वाले लोगों में अफरा तफरी मच गई। वे जो कुछ लेकर भाग सकते थे, भागे। 

बताया जा रहा है कि शिविर में शरणार्थी अस्थायी आवास टेंट, प्लास्टिक शीट और मोटी पॉलीथिन शीट से बने घरों में रहते हैं। ऐसे में आग काफी तेजी से फैली। हालांकि, अभी इस आग के लगने की वजह पता नहीं चली है। 

बताया जा रहा है कि शिविर में शरणार्थी अस्थायी आवास टेंट, प्लास्टिक शीट और मोटी पॉलीथिन शीट से बने घरों में रहते हैं। ऐसे में आग काफी तेजी से फैली। हालांकि, अभी इस आग के लगने की वजह पता नहीं चली है। 

वहीं, यूएन की शरणार्थी एजेंसी की प्रवक्ता लुइस डोनोवान ने बताया कि आग लगने के तुरंत बाद बचाव दल सक्रिय हो गए थे। इस वजह से जान माल के बड़े नुकसान को बचा लिया गया। लेकिन आग में 15 शरणार्थियों के मारे जाने की खबर है। 

वहीं, यूएन की शरणार्थी एजेंसी की प्रवक्ता लुइस डोनोवान ने बताया कि आग लगने के तुरंत बाद बचाव दल सक्रिय हो गए थे। इस वजह से जान माल के बड़े नुकसान को बचा लिया गया। लेकिन आग में 15 शरणार्थियों के मारे जाने की खबर है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios