Asianet News Hindi

दुनिया के सबसे ताकतवर देश की 20 शॉकिंग तस्वीरें, हार की बौखलाहट में ट्रंप समर्थकों ने मचाया तांडव

First Published Jan 7, 2021, 12:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वर्ल्ड डेस्क:  दुनिया में अमेरिका भले ही अपनी शक्ति का कितना भी प्रदर्शन कर ले, एक झटके में देश की पोल खुल है। 6 जनवरी को आने वाले राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों से ठीक पहले ही वहां संसद भवन में ट्रंप के समर्थकों ने हमला कर दिया। अमेरिका के संसद भवन यानी यूएस कैपिटल हिल के सामने नतीजों की घोषणा से ठीक पहले हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थक पहुंचे और जमकर हंगामा मचाया। इस दौरान समर्थक संसद भवन में घुसने की कोशिश करते दिखे। हंगामे में जमकर हिंसा की गई जिसकी वजह से कई लोग घायल हुए। नतीजों के दिन आए शॉकिंग तस्वीरें... 

अमेरिका में सत्ता परिवर्तन को शायद कुछ लोग पचा नहीं पा रहे। इस कारण वहां 6 जनवरी को ऐसी घटना देखने को मिली जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। देश के संसद भवन पर लोगों ने हमला कर दिया। 
 

अमेरिका में सत्ता परिवर्तन को शायद कुछ लोग पचा नहीं पा रहे। इस कारण वहां 6 जनवरी को ऐसी घटना देखने को मिली जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। देश के संसद भवन पर लोगों ने हमला कर दिया। 
 

इन हमले को करने वाले ट्रंप समर्थक थे। उन्होंने इस दौरान ट्रंप के समर्थन में नीले कपड़े और लाल टोपी पहन रखी थी।  विरोध के दौरान उन्होंने हिंसा का रास्ता अपना लिया। 

इन हमले को करने वाले ट्रंप समर्थक थे। उन्होंने इस दौरान ट्रंप के समर्थन में नीले कपड़े और लाल टोपी पहन रखी थी।  विरोध के दौरान उन्होंने हिंसा का रास्ता अपना लिया। 

अमेरिकी संसद भवन की दीवार पर चढ़ ये अंदर घुसने का प्रयास करते नजर आए। ऐसे में छत से गिरने के कारण कई लोग घायल भी हो गए। 

अमेरिकी संसद भवन की दीवार पर चढ़ ये अंदर घुसने का प्रयास करते नजर आए। ऐसे में छत से गिरने के कारण कई लोग घायल भी हो गए। 

पुलिस को इन्हें रोकने के लिए एक्शन लेना पड़ा। लाठीचार्ज के साथ पानी की बौछारें भी विरोध कर्मियों पर की गई। 

पुलिस को इन्हें रोकने के लिए एक्शन लेना पड़ा। लाठीचार्ज के साथ पानी की बौछारें भी विरोध कर्मियों पर की गई। 

इस बीच अभी तक इस हिंसा में चार लोगों की मौत की खबर है जिसमें से एक महिला को पुलिस की गोली लगी थी। ये घटना तब हुई जब विरोधियों को सुरक्षाबल खदेड़ रहा था। 
 

इस बीच अभी तक इस हिंसा में चार लोगों की मौत की खबर है जिसमें से एक महिला को पुलिस की गोली लगी थी। ये घटना तब हुई जब विरोधियों को सुरक्षाबल खदेड़ रहा था। 
 

ट्रंप समर्थक इतने उग्र हो गए थे कि पुलिस को लाठियां बरसानी पड़ी। इसमें कई लोग घायल हुए। खून-खराबे के बीच अमेरिकी चुनाव के नतीजे आए। 
 

ट्रंप समर्थक इतने उग्र हो गए थे कि पुलिस को लाठियां बरसानी पड़ी। इसमें कई लोग घायल हुए। खून-खराबे के बीच अमेरिकी चुनाव के नतीजे आए। 
 

 समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया। उन्होंने संसद भवन के बाहर जमावड़ा लगाया और फिर धीरे-धीरे संसद के अंदर जाने की कोशिश करने लगे। 

 समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया। उन्होंने संसद भवन के बाहर जमावड़ा लगाया और फिर धीरे-धीरे संसद के अंदर जाने की कोशिश करने लगे। 

इस हंगामे के बाद संसद भवन को लॉक कर दिया गया। अंदर ही सारे सांसदों को बंद कर दिया गया ताकि किसी तरह की कोई अप्रिय घटना ना घट जाए। 

इस हंगामे के बाद संसद भवन को लॉक कर दिया गया। अंदर ही सारे सांसदों को बंद कर दिया गया ताकि किसी तरह की कोई अप्रिय घटना ना घट जाए। 

इस विरोध प्रदर्शन में कुछ लोग बच्चों के साथ पहुंचे। हो हंगामे के बीच इन मासूमों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। 

इस विरोध प्रदर्शन में कुछ लोग बच्चों के साथ पहुंचे। हो हंगामे के बीच इन मासूमों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। 

ये प्रदर्शन हुआ ट्रंप की हार के विरोध में। ट्रंप समर्थकों की मांग है कि चुनाव के नतीजे कैंसिल किये जाए। 

ये प्रदर्शन हुआ ट्रंप की हार के विरोध में। ट्रंप समर्थकों की मांग है कि चुनाव के नतीजे कैंसिल किये जाए। 

उनका कहना है कि इन नतीजों के साथ छेड़छाड़ की गई है। इसमें जो बिडन नहीं, ट्रंप की जीत हुई थी। 
 

उनका कहना है कि इन नतीजों के साथ छेड़छाड़ की गई है। इसमें जो बिडन नहीं, ट्रंप की जीत हुई थी। 
 

विरोध के दौरान कुछ ट्रंप समर्थक संसद भवन के अंदर भी चले गए थे। उन्हें देख सांसदों की हालत खराब हो गई। 

विरोध के दौरान कुछ ट्रंप समर्थक संसद भवन के अंदर भी चले गए थे। उन्हें देख सांसदों की हालत खराब हो गई। 

संसद भवन के अंदर ही सुरक्षाकर्मियों ने मोर्चा संभाला। बन्दूक के साथ सभी समर्थकों को बाहर निकाला गया। 

संसद भवन के अंदर ही सुरक्षाकर्मियों ने मोर्चा संभाला। बन्दूक के साथ सभी समर्थकों को बाहर निकाला गया। 

संसद भवन के बाहर पुलिस को आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े। फिर भी समर्थक टस से मस नहीं हो रहे थे। 

संसद भवन के बाहर पुलिस को आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े। फिर भी समर्थक टस से मस नहीं हो रहे थे। 

काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने संसद भवन के बाहर से भीड़ हटाई। लोगों के जाने के कई घंटों के बाद दुबारा संसद शुरू हुई। 

काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने संसद भवन के बाहर से भीड़ हटाई। लोगों के जाने के कई घंटों के बाद दुबारा संसद शुरू हुई। 

इस पूरी घटना के बाद कई देशों ने हैरानी जताई। दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश की ऐसी तस्वीरें किसी ने आजतक नहीं देखी थी। 

इस पूरी घटना के बाद कई देशों ने हैरानी जताई। दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश की ऐसी तस्वीरें किसी ने आजतक नहीं देखी थी। 

भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसका चिंता जताई। उन्होंने कहा कि सत्ता परिवर्तन शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए। 

भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इसका चिंता जताई। उन्होंने कहा कि सत्ता परिवर्तन शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए। 

वहीं डोनाल्ड ट्रंप को ट्विटर और इंस्टाग्राम से ब्लॉक कर दिया गया है। ट्विटर ने उनके कुछ ट्वीट्स डिलीट किये और 12 घंटे के लिए उनका अकाउंट ब्लॉक कर दिया। 
 

वहीं डोनाल्ड ट्रंप को ट्विटर और इंस्टाग्राम से ब्लॉक कर दिया गया है। ट्विटर ने उनके कुछ ट्वीट्स डिलीट किये और 12 घंटे के लिए उनका अकाउंट ब्लॉक कर दिया। 
 

अमेरिकी संसद भवन पर हुए इस अटैक का हंगामा 6 जनवरी को शाम 6 बजे से लेकर अगले दिन सुबह 6 बजे तक चला। 
 

अमेरिकी संसद भवन पर हुए इस अटैक का हंगामा 6 जनवरी को शाम 6 बजे से लेकर अगले दिन सुबह 6 बजे तक चला। 
 

फिलहाल पूरे इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है। खास लोगों के अलावा किसी और को शहर से बाहर जाने की इजाजत नहीं दी गई है। 

फिलहाल पूरे इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है। खास लोगों के अलावा किसी और को शहर से बाहर जाने की इजाजत नहीं दी गई है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios