बांग्लादेश : दो नावों की हुई टक्कर, एक पलटकर पानी में समा गई, 30 यात्रियों की मौत, कई लापता

First Published 29, Jun 2020, 5:48 PM

ढाका. बांग्लादेश के बुढ़ीगंगा नदी में एक नाव डूबने से 32 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दो बच्चे भी शामिल हैं। हादसा ढाका के श्यामबाजार के पास सुबह 9.30 बजे हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ड्राइवर्स की लापरवाही से हादसा हुआ। नाव में 100 से ज्यादा लोग सवार थे। प्रशासन ने बताया कि निकाले गए शवों की अभी पहचान नहीं की जा सकी है। अभी तक कितने लोग लापता हैं और कितने लोग बचाए जा चुके हैं इसका भी नहीं पता चला है।  

<p style="text-align: center;"><strong><u>दो नावों की टक्कर से हुआ हादसा</u></strong><br />
पुलिस के मुताबिक, मृतकों में पांच महिलाएं और दो बच्चे बी शामिल हैं। मॉर्निंग बर्ड नाम की नाव ढाका से मुंशीगंज जा रही थी, तभी मोयूर 2 नाम की जहाज से उसकी टक्कर हो गई। मोयूर 2 जहाज में 1000 यात्री सवार थे, हालांकि वे सभी सुरक्षित हैं।<br />
 </p>

दो नावों की टक्कर से हुआ हादसा
पुलिस के मुताबिक, मृतकों में पांच महिलाएं और दो बच्चे बी शामिल हैं। मॉर्निंग बर्ड नाम की नाव ढाका से मुंशीगंज जा रही थी, तभी मोयूर 2 नाम की जहाज से उसकी टक्कर हो गई। मोयूर 2 जहाज में 1000 यात्री सवार थे, हालांकि वे सभी सुरक्षित हैं।
 

<p style="text-align: center;"><strong><u>सुबह करीब 9.30 बजे हादसा हुआ</u></strong><br />
फायर सर्विस कंट्रोल अधिकारी रोजिना इस्लाम ने बताया, हादसा ढाका के श्यामबाजार के पास सुबह 9.30 बजे के आसपास हुआ। रोजिना के मुताबिक, गोताखोरों ने घटनास्थल पर पहुंचकर बांग्लादेश इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (बीआईडब्ल्यूटीए) और तटरक्षक बल की मदद से बचाव अभियान शुरू किया।</p>

सुबह करीब 9.30 बजे हादसा हुआ
फायर सर्विस कंट्रोल अधिकारी रोजिना इस्लाम ने बताया, हादसा ढाका के श्यामबाजार के पास सुबह 9.30 बजे के आसपास हुआ। रोजिना के मुताबिक, गोताखोरों ने घटनास्थल पर पहुंचकर बांग्लादेश इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (बीआईडब्ल्यूटीए) और तटरक्षक बल की मदद से बचाव अभियान शुरू किया।

<p style="text-align: center;"><strong><u>लापता यात्रियों की तलाश में आ रही मुश्किल</u></strong><br />
लापता लोगों की तलाश में थोड़ी मुश्किल आ रही है क्योंकि पानी काफी मिट्टी वाला है। <br />
 </p>

लापता यात्रियों की तलाश में आ रही मुश्किल
लापता लोगों की तलाश में थोड़ी मुश्किल आ रही है क्योंकि पानी काफी मिट्टी वाला है। 
 

<p style="text-align: center;"><strong><u>लापरवाही के कारण हादसा हुआ</u></strong><br />
बांग्लादेश के इनलैंड वॉटर ट्रांसपोर्ट के अधिकारी कमोडोर गोलम सादिक ने बताया, लापरवाही के कारण नाव डूबी। नाव पर ज्यादा लोग सवार नहीं थी, नाविक ने लापरवाही नहीं की होती तो हादसा नहीं होता। फिलहाल घटना के बाद जांच की जा रही है। दुर्घटना में शामिल नौका को जब्त कर लिया गया है।<br />
 </p>

लापरवाही के कारण हादसा हुआ
बांग्लादेश के इनलैंड वॉटर ट्रांसपोर्ट के अधिकारी कमोडोर गोलम सादिक ने बताया, लापरवाही के कारण नाव डूबी। नाव पर ज्यादा लोग सवार नहीं थी, नाविक ने लापरवाही नहीं की होती तो हादसा नहीं होता। फिलहाल घटना के बाद जांच की जा रही है। दुर्घटना में शामिल नौका को जब्त कर लिया गया है।
 

<p style="text-align: center;"><strong><u>कैसे हुई दूसरी नाव से टक्कर?</u></strong><br />
बांग्लादेश के इनलैंड वॉटर ट्रांसपोर्ट के अन्य अधिकारी एम डी सलीम ने कहा, कुछ यात्रियों को उतारने के बाद 'मॉर्निंग बर्ड' नाव पीछे की ओर जा रही थी, तभी वह दूसरी नाव से टकरा गई।<br />
 </p>

कैसे हुई दूसरी नाव से टक्कर?
बांग्लादेश के इनलैंड वॉटर ट्रांसपोर्ट के अन्य अधिकारी एम डी सलीम ने कहा, कुछ यात्रियों को उतारने के बाद 'मॉर्निंग बर्ड' नाव पीछे की ओर जा रही थी, तभी वह दूसरी नाव से टकरा गई।
 

<p style="text-align: center;"><strong><u>एक दर्जन यात्री अभी भी लापता</u></strong><br />
अधिकारियों ने बताया कि करीब एक दर्जन यात्री अभी भी लापता हैं। कुछ यात्री तैरकर किनारे आ गए और उनका इलाज नजदीकी अस्पताल में चल रहा था। शामपुर फायर स्टेशन के एक अधिकारी अब्दुल अहद ने कहा, अभी भी बचावकार्य जारी है।</p>

एक दर्जन यात्री अभी भी लापता
अधिकारियों ने बताया कि करीब एक दर्जन यात्री अभी भी लापता हैं। कुछ यात्री तैरकर किनारे आ गए और उनका इलाज नजदीकी अस्पताल में चल रहा था। शामपुर फायर स्टेशन के एक अधिकारी अब्दुल अहद ने कहा, अभी भी बचावकार्य जारी है।

<p style="text-align: center;">तस्वीर में जो नाव दिखाई दे रही है, उसमें सफेद चादर में शवों को लपेटकर रखा गया है। अभी कई मृतकों की पहचान बाकी है।</p>

तस्वीर में जो नाव दिखाई दे रही है, उसमें सफेद चादर में शवों को लपेटकर रखा गया है। अभी कई मृतकों की पहचान बाकी है।

loader