Asianet News Hindi

इजिप्ट में मिले हजारों साल पुराने ताबूत, बड़ी आर्कियोलॉजिकल डिस्कवरी से सामने आई यह विरासत

First Published Oct 4, 2020, 3:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंटरनेशनल डेस्क। इजिप्ट में एक महत्वपूर्ण आर्कियोलॉजिकल डिस्कवरी में 59 प्राचीन ताबूत मिले हैं। ये ताबूत 2,500 साल पुराने हैं। शनिवार को इजिप्ट की राजधानी काहिरा में आर्कियोलॉजिस्ट्स ने इस खोज के बारे में बताया। आर्कियोलॉजिस्ट्स का कहना है कि ये ताबूत उन पुजारियों और राज कर्मचारियों के हो सकते हैं, जो मिस्र के 26वें राजवंश के थे।आर्कियोलॉजिस्ट्स का कहना है कि अभी और भी ताबूत मिल सकते हैं। इजिप्ट की संस्कृति भारत और चीन की तरह ही बहुत ही प्राचीन रही है। वहां के पिरामिड दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। माना जाता है कि ये पिरामिड 5 हजार साल पुराने हैं। इजिप्ट में ही शवों को ममी बना कर रखने की परंपरा की शुरुआत हुई। इजिप्ट के पिरामिडों में वहां के शासकों के मरने के बाद उनके शवों की ममी बना कर दफनाया जाता था। शवों को ममी बनाने की पद्धति की खोज इजिप्ट में ही की गई थी। इजिप्ट का आर्कियोलॉजिकल मिशन इस अभियान में साल 2018 से ही लगा था। देखें इससे जुड़ी तस्वीरें।   

पुरातत्वविदों का कहना है कि काहिरा के पास विशाल सकरारा नेक्रोपोलिस में 10 और भी ताबूत पाए गए हैं, जो कम से कम 2500 साल पुराने हैं ।

पुरातत्वविदों का कहना है कि काहिरा के पास विशाल सकरारा नेक्रोपोलिस में 10 और भी ताबूत पाए गए हैं, जो कम से कम 2500 साल पुराने हैं ।

इन 59 ताबूतों को इस साल अगस्त में काहिरा के दक्षिण में स्थित यूनेस्को के वर्ल्ड हेरिटेज स्थल पर खोजा गया था। इन्हें सबसे महत्वपूर्ण अंतिम संस्कार के देवताओं में से एक प्राचीन मिस्र के सेकर की 28 मूर्तियों के साथ तीन 10-12 मीटर के गहराई में दफन किया गया था।

इन 59 ताबूतों को इस साल अगस्त में काहिरा के दक्षिण में स्थित यूनेस्को के वर्ल्ड हेरिटेज स्थल पर खोजा गया था। इन्हें सबसे महत्वपूर्ण अंतिम संस्कार के देवताओं में से एक प्राचीन मिस्र के सेकर की 28 मूर्तियों के साथ तीन 10-12 मीटर के गहराई में दफन किया गया था।

पुरातत्वविदों ने कहा कि ये ताबूत मिस्र के 26वें राजवंश के पुजारी और राज कर्मचारियों के थे। करीब 2500 साल पहले वहां मुस्तफा अल-वजिरी का शासन था, जो मिस्र के सुप्रीम काउंसिल का प्रमुख था।  

पुरातत्वविदों ने कहा कि ये ताबूत मिस्र के 26वें राजवंश के पुजारी और राज कर्मचारियों के थे। करीब 2500 साल पहले वहां मुस्तफा अल-वजिरी का शासन था, जो मिस्र के सुप्रीम काउंसिल का प्रमुख था।  

इस खोज में इजिप्ट का पुरातात्विक मिशन 2018 से लगा था। पहले ममीकृत जानवरों के ताबूतों का पता चला। इसके बाद 'वाहटी' नामक पांचवें राजवंशीय शाही पुजारी की एक अच्छी तरह से संरक्षित कब्र मिली।

इस खोज में इजिप्ट का पुरातात्विक मिशन 2018 से लगा था। पहले ममीकृत जानवरों के ताबूतों का पता चला। इसके बाद 'वाहटी' नामक पांचवें राजवंशीय शाही पुजारी की एक अच्छी तरह से संरक्षित कब्र मिली।

आर्कियोलॉजिकल टीम के एक पुरातत्ववेत्ता वजीरी ने बताया कि टीम ने तीनों शाफ्टों को खोल दिया था, जहां ताबूतों को सही स्थिति में रखा गया था। उन्हें बहुत अच्छी तरह से रखा गया था, ताकि केमिकल रिएक्शन से उनका बचाव हो सके।

आर्कियोलॉजिकल टीम के एक पुरातत्ववेत्ता वजीरी ने बताया कि टीम ने तीनों शाफ्टों को खोल दिया था, जहां ताबूतों को सही स्थिति में रखा गया था। उन्हें बहुत अच्छी तरह से रखा गया था, ताकि केमिकल रिएक्शन से उनका बचाव हो सके।

आर्कियोलॉजिकल  मिशन ग्रैंड मिस्र म्यूजियम में इन प्राचीन ताबूतों और सामग्रियों के अगले साल प्रदर्शन से पहले ताबूतों को खोलना और उनमें पाई जाने वाली चीजों का अध्ययन करना जारी रखेगा।
 

आर्कियोलॉजिकल  मिशन ग्रैंड मिस्र म्यूजियम में इन प्राचीन ताबूतों और सामग्रियों के अगले साल प्रदर्शन से पहले ताबूतों को खोलना और उनमें पाई जाने वाली चीजों का अध्ययन करना जारी रखेगा।
 

पुरातात्विक खोज में मिला सरकोफेगी लगभग 2500 साल पुराना है। ऐसे ही ताबूत मिस्र के गीजा में साककारा नेक्रोपोलिस के पास नए खोजे गए कब्रिस्तान में भी मिले हैं।

पुरातात्विक खोज में मिला सरकोफेगी लगभग 2500 साल पुराना है। ऐसे ही ताबूत मिस्र के गीजा में साककारा नेक्रोपोलिस के पास नए खोजे गए कब्रिस्तान में भी मिले हैं।

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाए गए हजारों साल पुराने ममीकृत शव। 

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाए गए हजारों साल पुराने ममीकृत शव। 

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाया गया हजारों साल पुरानी ममी। 

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाया गया हजारों साल पुरानी ममी। 

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाई गई हजारों साल पुरानी ममी। 

पुरातात्विक खोज में ताबूत में पाई गई हजारों साल पुरानी ममी। 

इस विशालकाय को ममी को देखते हुए पुरातत्वविद। आर्कियोलॉजिस्ट्स का कहना है इसे देखने से लगता है कि यह ममी किसी शासक की होगी। कुछ बच्चे और दूसरे लोग भी इसे देखने आ गए हैं। पुरातत्वविदों का कहना है कि इस खोज से इजिप्ट के इतिहास के एक नए अध्याय को समझा जा सकेगा।  

इस विशालकाय को ममी को देखते हुए पुरातत्वविद। आर्कियोलॉजिस्ट्स का कहना है इसे देखने से लगता है कि यह ममी किसी शासक की होगी। कुछ बच्चे और दूसरे लोग भी इसे देखने आ गए हैं। पुरातत्वविदों का कहना है कि इस खोज से इजिप्ट के इतिहास के एक नए अध्याय को समझा जा सकेगा।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios