Asianet News Hindi

ये काफिर हैं, इन्हें जान से मार देंगे...देखें पाकिस्तान में कैसे शियाओं के खिलाफ सड़कों पर उतरे सुन्नी

First Published Sep 12, 2020, 4:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में सुन्नी (sunni) और शिया (Shia) समुदाय के मुसलमानों के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। यहां आतंकी संगठन सिपाह-ए-सहाबा पाकिस्तान की अपील के बाद सुन्नी समुदाय के हजारों लोग शिया मुसलमानों के खिलाफ सड़क पर उतर आए। प्रदर्शन में शिया मुसलमानों को काफिक कहा गया। उन्हें मारने की धमकी देने वाले नारे लगाए गए। 

पाकिस्तान के कराची की सड़कों पर बड़ी संख्या में सुन्नी लोग प्रदर्शन करने उतरे। सोशल मीडिया पर #ShiaGenocide ट्रेंड करने लगा। सुन्नी समुदाय शियाओं के खिलाफ कमेंट कर रहे हैं। वहीं, शिया इंसानियत की दुहाई देते दिख रहे हैं। 

पाकिस्तान के कराची की सड़कों पर बड़ी संख्या में सुन्नी लोग प्रदर्शन करने उतरे। सोशल मीडिया पर #ShiaGenocide ट्रेंड करने लगा। सुन्नी समुदाय शियाओं के खिलाफ कमेंट कर रहे हैं। वहीं, शिया इंसानियत की दुहाई देते दिख रहे हैं। 

क्या है मामला?
दरअसल, पिछले महीने मुहर्रम पर आशूरा जुलूस का टीवी चैनल पर प्रसारण किया गया। आरोप है कि शिया धर्म गुरुओं ने इस्लाम के खिलाफ कमेंट किया। इसके बाद देश में कई शिया मुस्लिमों पर धार्मिक पुस्तकों को पढ़ने और आशूरा जुलूस में हिस्सा लेने के लिए हमला किया। 

क्या है मामला?
दरअसल, पिछले महीने मुहर्रम पर आशूरा जुलूस का टीवी चैनल पर प्रसारण किया गया। आरोप है कि शिया धर्म गुरुओं ने इस्लाम के खिलाफ कमेंट किया। इसके बाद देश में कई शिया मुस्लिमों पर धार्मिक पुस्तकों को पढ़ने और आशूरा जुलूस में हिस्सा लेने के लिए हमला किया। 

पाकिस्तान में शिया मुस्लिमों पर अत्याचार किसी से छिपा नहीं है। यहां पिछले 5 साल में उनके खिलाफ हिंसा के मामले काफी हद तक बढ़ गए हैं। पिछले 5 साल में सैकड़ों शिया मुसलमानों की हत्या की गई है। इतना ही नहीं खून से शियाओं के घर पर शिया काफिर है, लिखा जाता है। इतना ही नहीं शिया महिलाओं के खिलाफ भी अत्याचार हो रहे हैं। 

पाकिस्तान में शिया मुस्लिमों पर अत्याचार किसी से छिपा नहीं है। यहां पिछले 5 साल में उनके खिलाफ हिंसा के मामले काफी हद तक बढ़ गए हैं। पिछले 5 साल में सैकड़ों शिया मुसलमानों की हत्या की गई है। इतना ही नहीं खून से शियाओं के घर पर शिया काफिर है, लिखा जाता है। इतना ही नहीं शिया महिलाओं के खिलाफ भी अत्याचार हो रहे हैं। 

पहले शिया मुसलमानों को धमकी दी जाती थी। लेकिन अब ग्रेनेड तक से हमले किए जाते हैं। शिया मुस्लिमों पर हमला करने के सबसे ज्यादा आरोप आतंकी संगठन सिपाह-ए-सहाबा पर ही लगे हैं। 

पहले शिया मुसलमानों को धमकी दी जाती थी। लेकिन अब ग्रेनेड तक से हमले किए जाते हैं। शिया मुस्लिमों पर हमला करने के सबसे ज्यादा आरोप आतंकी संगठन सिपाह-ए-सहाबा पर ही लगे हैं। 

इससे पहले शिया के खिलाफ होने वाले अत्याचार को कवर करने वाले पत्रकार बिलाल फारूकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, पाकिस्तान सरकार भी आतंकी संगठनों और लोगों को शिया के खिलाफ प्रदर्शन करने की मंजूरी दे रही है। 
 

इससे पहले शिया के खिलाफ होने वाले अत्याचार को कवर करने वाले पत्रकार बिलाल फारूकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, पाकिस्तान सरकार भी आतंकी संगठनों और लोगों को शिया के खिलाफ प्रदर्शन करने की मंजूरी दे रही है। 
 

शिया मुसलमानों पर हो रहे लगातार हमलों पर इमरान खान की सरकार भी चुप है। 
 

शिया मुसलमानों पर हो रहे लगातार हमलों पर इमरान खान की सरकार भी चुप है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios