Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेटे की सियायत बचाने उतरी मां ने जीती चुनावी जंग

हरियाणा के डबवाली विधानसभा क्षेत्र से 2014 में जीत कर पहली बार विधानसभा पहुचने वाली नैना सिंह चौटाला पूर्व उप प्रधानमंत्री स्व. देवीलाल की बहू हैं। नैना सिंह कांग्रेस के प्रत्याशी रणबीर सिंह महेन्द्रा को हराया। बेटे के लिए सियासत में आई थीं ।

women campaigners are family members of candidates ensure their win.
Author
Badhra, First Published Oct 24, 2019, 5:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बाढ़ड़ा. देश के पूर्व उप प्रधानमंत्री स्व. देवीलाल की बहू नैना सिंह चौटाला हरियाणा के डबवाली विधानसभा क्षेत्र से 2014 में  जीत कर पहली बार विधानसभा पहुंची थी। इस बार के विधानसभा चुनाव में बाढ़ड़ा सीट नैना सिंह चौटाला ने भारी जीत दर्ज की। जेजेपी की  नैना को कुल 52938 वोट मिले। इनकी निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के रणबीर सिंह महेन्द्रा को कुल 39234 वोट मिले। 2014 में नैना ने डॉ के वी सिंह को 8545 मतों से हरा कर पहली बार विधानसभा पहुंची थी।

बेटे के लिए राजनीति में उतरीं

पति डॉ अजय चौटाला के जेल में हैं और बेटा दुष्यंत चौटाला राजनीति में परिवार की साख बचाने कोशिश कर रहा है। 2014 से पहले नैना का कोई सक्रिय राजनीतिक कार्यक्रम नही रहा। लेकिन बेटे की राजनीतिक करियर चमकाने के लिए पहली बार नैना सक्रीय रूप से राजनीति में आईं। नैना डबवाली क्षेत्र से दोबारा मैदान में हैं। 

निशानेबाजी में कॉलेज का प्रतिनिधित्व किया 

कॉलेज के समय में नैना चौटाला यूनिवर्सिटी में निशानेबाजी की टीम का प्रतिनिधित्व किया था। नैना ने राजनीति शास्त्र में परास्तानक के प्रथम वर्ष तक की पढ़ाई की है। वो कॉलेज की एनसीसी कैडेट भी रही हैं। नैना का जन्म हिसार जिले के आदमपुर क्षेत्र के गांव दड़ौली में हुआ।

 

(हाई प्रोफाइल सीटों पर हार-जीत, नेताओं का बैकग्राउंड, नतीजों का एनालिसिस और चुनाव से जुड़ी हर अपडेट के लिए यहां क्लिक करें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios