Asianet News HindiAsianet News Hindi

मौत के 12 घंटे बाद हुआ 'चमत्कार', ताबूत में बंद 3 साल की बच्ची फिर से हुई जिंदा

कहते हैं जिंदगी और मौत ऊपरवाले के हाथ में है, उसे कोई नहीं बदल सकता है। इस लाइन को चरितार्थ करने वाली एक घटना मेक्सिको से सामने आई, जहां अंतिम संस्कार के दौरान 3 साल की बच्ची जिंदा हो  गई।

3 year old girl wake up at own funeral in mexico NTP
Author
Mexico, First Published Aug 24, 2022, 5:35 PM IST

हेल्थ डेस्क. मेक्सिको की रहने 3 साल की बच्ची के साथ ईश्वर ने गजब खेल खेला। पहले उसे जिंदा किया और फिर दोबारा उसकी जिंदगी छीन लीं। दरअसल, 3 साल की कैमिलिया रोक्साना (Camila Roxana) के पेट में इंफेक्शन हो गया था। इलाज के दौरान डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। 12 घंटे बाद जब बच्ची को ताबूत में डालकर अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही थी तब वो फिर से जिंदा हो गई। लेकिन इसके बाद जो हुआ वो और भी बुरा था।

कैमिला की मां मैरी जेन मेंडोजा ने बताया कि उनकी 3 साल की बच्ची को उल्टी हो रही थी। पेट में दर्द और बुखार था। वह बच्ची को विला डी रोमास में एक चाइल्ड स्पेशलिस्ट के पास गए थे। बच्ची की स्थिति को देककर चाइल्ड स्पेशलिस्ट ने उन्हें सामुदायिक अस्पताल में ले जाने के कहा गया। सामुदायिक अस्पताल में बच्ची का डिहाईड्रेशन और बुखार का इलाज किया गया था। इसके बाद बच्ची को घर ले जाने के लिए कह दिया गया।

बच्ची की हालत बिगड़ने पर दोबारा अस्पताल लाया गया

घर लाने के बाद बच्ची की हालत फिर से बिगड़ गई। जब वो उसे दोबारा अस्पताल ले कर गए तो इलाज के कुछ घंटे बाद डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। बच्ची की मां ने बताया कि वो उसे आईवी ड्रिप के लिए लेकर आए थे। लेकिन ऑक्सीजन मिलने में समय लग गया। इलाज शुरू हुआ तो डॉक्टर ने मुझसे मेरी बच्ची को दूर कर दिया। कुछ देर बाद उन्होंने बताया कि बच्ची नहीं रही।

कैमिला को डॉक्टर ने मृत घोषित किया

17 अगस्त को कैमिला रोक्साना को मृत घोषित किया गया था। 12 घंटे बाद जब अंतिम संस्कार की तैयारी हो रही थी तब  बच्ची की मां ने ताबूत में कांच के ऊपर भाप जैसा जमा देखा। इसकी जानकारी उन्होंने वहां मौजूद लोगों को दी। लेकिन किसी ने इसका विश्वास नहीं किया और बोलें की वो सदमे में है इसलिए ऐसा दिख रहा है और ताबूत खोलने से रोक दिया।

ताबूत में बंद बच्ची दोबारा हुई जिंदा मां को पुकारा

इसके बाद मैरी की सास ने यानी बच्ची की दादी ने देखा कि उसकी पुतलियां हिल रही हैं। आखिरकार बच्ची अंदर रोने लगी और आवाज देने लगी। तब ताबूत खोला गया। बच्ची जिंदा हो गई थी। जिसके बाद परिवावाले उसे लेकर तुरंत अस्पताल भागे। लेकिन किस्मत का खेल देखिए बच्ची दोबार इस दुनिया को छोड़कर चली गई। डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

एक पल की खुशी फिर मातम में बदला

बच्ची की मां का कहना है कि अगर उसे वक्त पर इलाज मिल गया होता तो कैमिला उनके पास होती।जनरल स्टेट अटॉर्नी, जोस लुइस रुइज़ के अनुसार, मामले की जांच की जा रही है। बच्ची के शव का परीक्षण किया जा रहा है।

और पढ़ें:

अंधी थी तब उसने प्यार किया, जब आंखों की रोशनी आई तो बदल गई दुनिया

सावधान! छोटे बच्चों को Tomato Flu का अधिक खतरा, केंद्र ने जारी की गाइडलाइन,जानें लक्षण और इलाज

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios