Asianet News HindiAsianet News Hindi

क्या होता है सफेद और पीले कद्दू में अंतर, जानें कौन सा खाना है ज्यादा फायदेमंद

आज तक आपने नारंगी या पीले रंग का कद्दू खाया होगा। लेकिन आज हम आपको बताते हैं सफेद कद्दू को खाने के फायदे और इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।

Health tips 5 benefits of white pumpkin from asthma to heart health dva
Author
First Published Nov 10, 2022, 4:02 PM IST

फूड डेस्क: कद्दू का नाम सुनते ही अधिकतर लोग मुंह बना लेते हैं। इसे खाना कई लोगों को पसंद नहीं होता है। लेकिन भारतीय रसोई में कद्दू की सब्जी जरूर बनाई जाती है। यह स्वाद में थोड़ा सा मीठा होता है। आज तक आपने नारंगी या पीले रंग का कद्दू तो खाया होगा। लेकिन आज हम आपको बताते हैं सफेद कद्दू के बारे में और इसमें छुपे पोषक तत्वों के बारे में कि कैसे यह आपके श्वसन तंत्र, कोलेस्ट्रॉल लेवल और आंखों को हेल्दी रखता है और आपके शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी को भी पूरा करता है।

सफेद और पीले कद्दू में अंतर
कद्दू पीले, चमकीले नारंगी, भूरे, भूरे और सफेद से लेकर विभिन्न किस्मों और रंगों में उपलब्ध हैं। आज  सफेद कद्दू में मौजूद न्यूट्रिएंट्स की बात करें तो यह विटामिन ए, विटामिन- बी 6, विटामिन सी और विटामिन ई से भरपूर होता है। इसके साथ ही इसमें मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन, फोलेट, नियासिन और थायमिन जैसे मिनरल्स भी पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करते हैं।

कद्दू के फायदे
कोलेस्ट्रॉल कम करें

सफेद कद्दू में काफी मात्रा में फाइटोस्टेरॉल पाया जाता है। ये यौगिक कोलेस्ट्रॉल लेवल को नॉर्मल रखता है और शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। जिससे हार्ट और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

एंटी डिप्रेसेंट
ट्रिप्टोफैन की कमी से डिप्रेशन होता है। सफेद कद्दू एल-ट्रिप्टोफैन से भरपूर होता है। यह एक आवश्यक अमीनो-एसिड होता है, जिसका शरीर निर्माण नहीं कर सकता है। ऐसे से सफेद कद्दू का सेवन करना उदास मनोदशा को कम करने, खुशी और कल्याण की भावना को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

आंखों की सेहत के लिए फायदेमंद
सफेद कद्दू में ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन की प्रचुर मात्रा होती है जो आंखों को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने और मोतियाबिंद को रोकने के मदद करता है। सफेद कद्दू का नियमित रूप से सेवन करने से आंखों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद मिलती है क्योंकि यह विटामिन ए से भरपूर होता है।

एंटी इंफ्लेमेटरी
कद्दू के हरे बीजों में सूजन-रोधी गुण होते हैं और इस प्रकार गठिया और जोड़ों की सूजन को कम करने में ये प्रभावी होता है। कद्दू के गूदे से बने हर्बल काढ़े का उपयोग आंतों की सूजन के इलाज में किया जा सकता है।

अस्थमा में फायदेमंद
सफेद कद्दू में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट श्वसन प्रणाली को संक्रमण और मुक्त कणों के हमलों से बचाते हैं। इसलिए, ये अस्थमा के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है।

और पढ़ें: जान भी ले सकता है लौकी का जूस, अगर आपने इस बात पर नहीं किया गौर, YouTube देखकर किया था दर्द का इलाज

सर्दियों में कितना पानी पीना है जरूरी? इस तरह पिएंगे पानी तो शरीर रहेगा हाइड्रेटेड

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios