Asianet News HindiAsianet News Hindi

Health Tips: आप चाहती हैं कि आपको ना हो पीरियड्स के दौरान ये समस्या, तो इन बातों का आप रखें खास ध्यान

ज्यादातर महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होती है और लगातार पेट में दर्द भी होता रहता है। जिसके कारण आप सबसे पहले गर्म पानी से सिकाई करने का सोचते हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताएंगे। जिसके जरिए आपको इनकी कभी जरूरत नहीं पड़ेगी।

Health Tips Bleeding and pain during Period MBT
Author
Delhi, First Published Nov 26, 2021, 6:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। पीरियड्स (Periods) के दौरान कई महिलाओं को ज्यादा ब्लड फ्लो सबसे ज्यादा होता है। जिसके कारण पेट के निचले हिस्से में दर्द भी बना रहता है। ऐसे में आप या तो गर्म पानी की बॉटल का इस्तेमाल करते हैं, या फिर दवाई ले लेते हैं। लेकिन उसके बाद भी दर्द कम नहीं होता है। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताएंगे जिसको ध्यान में रखकर आप ये सारी परेशानी कम कर सकते हैं और आराम पा सकते हैं।

डेयरी प्रोडक्ट्स करें अवॉयड

पीरियड्स के दौरान डेयरी प्रोडक्ट्स को खासतौर से अवॉयड करना चाहिए। हालांकि इस दौरान बॉडी को ज्यादा कैल्शियम की जरूरत होती है लेकिन उसकी पूर्ति आप सप्लीमेंट्स से करें तो बेहतर होगा। डेयरी प्रोडक्ट्स खासतौर से दूध, चीज़ और योगर्ट में खास तरह का एसिड मौजूद होता है जो दर्द को और बढा़ने का काम करता है।

जंक फूड्स को कहें ना

हेल्दी खाना वैसे तो हमेशा ही जरूरी होता है लेकिन पीरियड्स के दौरान ये और ज्यादा जरूरी हो जाता है। जंक फूड में सो़डियम बहुत ज्यादा मात्रा में होती है जिससे पीरियड्स के दौरान कई तरह की दूसरी परेशानियां हो सकती हैं।

न करें शेविंग और वैक्सिंग

पीरियड्स के दौरान एस्ट्रोजन लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिससे हल्की सी भी चोट या दर्द बहुत ज्यादा महसूस होती है। इसलिए इस दौरान शेविंग या वैक्सिंग न ही करें तो बेहतर।

पैड्स बदलते रहें

इस टिप्स का कनेक्शन ब्लीडिंग और पेन कम करने से नहीं है बल्कि संक्रमण रोकने से है। एक ही पैड को लंबे समय तक पहने रहने से इंफेक्शन का खतरा तो बढ़ता ही है साथ ही रैशेज की प्रॉब्लम भी, इसलिए ब्लीडिंग के हिसाब से 4-5 या 3-4 घंटे बाद पैड बदलते रहना जरूरी है। अगर टैंपून का इस्तेमाल करती हैं तो हर दो से तीन घंटे में बदलें।

वजाइनल वॉश न करें यूज

पीरियड्स के दौरान तो खासतौर से वजाइनल वॉश यूज नहीं करना चाहिए क्योंकि वहां का नेचुरल पीएच लेवल गडबड़ हो जाता है जिससे इंफेक्शन होने का रिस्क बढ़ जाता है। अगर आपको साफ ही करना ह तो गरम पानी इसके लिए काफी है।

इसे भी पढ़ें-

Health Benefits: सेहत के लिहाज से मशरूम है काफी फायदेमंद, जानिए इसके सेवन से कौन सी बीमारियां होती है दूर

Healthy Recipe: इस तरह बनाएं गर्मा-गर्म अंकुरित मूंग दाल की टिक्की, जानें इसके फायदे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios