Asianet News HindiAsianet News Hindi

हर दिन डाइट में शामिल करें 2 चम्मच शहद, कई तरह की बीमारियों से मिलेगा छुटकारा, नए शोध में हुआ खुलासा

नए शोध के अनुसार दिन में दो चम्मच शहद डॉक्टर को दूर रखने में मदद कर सकता है। 80 प्रतिशत चीनी होने के बाद भी शहद का सेवन करने से कुछ आश्चर्यजनक हेल्थ बेनिफिट मिलता है। आइए जानते हैं नए शोध में शहद को लेकर कौन सी बात बताई गई है।

Honey is good for your heart and metabolism new study reveal NTP
Author
First Published Nov 21, 2022, 5:51 PM IST

हेल्थ डेस्क.शहद के गुण से तो हर कोई वाकिफ है। ये कई तरह के हेल्थ बेनिफिट पहुंचाता है। एक नए स्टडी में पाया गया है कि ब्लड शुगर को बैलेंस करने और कोलेस्ट्रॉल के लेबल को सुधार करने में शहद मदद कर सकता है। जो कि कार्डियो मेटाबॉलिज्म का हेल्थ इंडिकेटर है। कार्डियो मेटाबोलिक रोग दिल का दौरा, स्ट्रोक, डायबिटीज, इंसुलिन प्रतिरोध और नन अल्कोहलिक फैटी लीवर से जुड़ा होता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि डाइट में ज्यादा मिठास जैसे की चाय में चीनी को शहद से रिप्लेस करने से टाइप 2 डायबिटीज, हृदय रोग और  नन अल्कोहलिक फैटी लीवर से जुड़ी बीमारी का खतरा कम किया जा सकता है।टोरंटो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने हाल ही में  1,100 से अधिक प्रतिभागियों पर 18 तरह के परीक्षण किए गए और निष्कर्ष का विश्लेषण करने पर पाया गया कि वैसे शहद जो एक फूल से निकले होते हैं उनका शरीर पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ा।

एक फूल से निकले शहद का होता है ज्यादा फायदा

उन्होंने यह भी पाया कि उपवास ब्लड शुगर और ब्ल्ड में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है, जबकि अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और सूजन को कम करता है।अध्ययन में प्रतिभागियों ने आम तौर पर हेल्दी डाइट का पालन किया और चीनी का उनके दैनिक कैलोरी सेवन का 10% या उससे कम हिस्सा था। 8 सप्ताह तक उन्हें हर दिन औसतन 40 ग्राम, या लगभग दो बड़े चम्मच शहद दिया जाता था। बाद में देखा गया कि ज्यादातर लाभ उन लोगों में देखा गया जो एक फूल से बने शहद को खाया।

शहद को ज्यादा गर्म नहीं करना चाहिए

शोध में यह भी पाया गया कि 65 डिग्री सेल्सियस से ऊपर शहद को गर्म करने से उसके कई गुण नष्ट हो जाते हैं। जिससे स्वास्थ्य लाभ नहीं मिलता है।यूनिवर्सिटी के फैकल्टी ऑफ मेडिसिन के एक वरिष्ठ शोधकर्ता तौसीफ खान ने कहा,'शहद भी सामान्य और दुर्लभ शुगर,प्रोटीन, कार्बनिक अम्ल और अन्य जैव-सक्रिय यौगिकों का एक जटिल संयोजन है, जिसके स्वास्थ्य लाभ होने की संभावना है।'लेकिन सभी शुगर का इलाज एक जैसा नहीं होना चाहिए।तौसीफ ने कहा, 'हम यह नहीं कह रहे हैं कि अगर आप चीनी से परहेज करते हैं तो आपको शहद खाना शुरू कर देना चाहिए।'

उन्होंने कहा कि यदि आप किसी चीज में चीनी, सिरप या अन्य स्वीटनर का उपयोग कर रहे हैं तो शहद के साथ इसे स्विच करके कार्डियो मेटाबॉल्जिम जोखिम को कम कर  सकते हैं।

और पढ़ें:

'जवानी' को रखना है बरकरार, तो इस चीज से भूलकर भी ना करें समझौता

बच्चों के सामने शर्मिंदा होने पर मां ने ऐसे घटाया 61Kg वजन, ट्रांसफॉर्मेशन देखकर दंग रह जाएंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios