Asianet News HindiAsianet News Hindi

शराब की दुनिया का भी बेताज बादशाह था प्रेम प्रकाश, हर सरकार में चलता था सिक्का..अब छिपाना पड़ रहा मुंह

झारखंड में प्रेम प्रकाश के घर ईडी में छापेमारी के दौरान तिजोरी से 2 एके-47 राइफल बरामद की है। 60 कारतूस भी मिले हैं।  स्कूलों में अंडों की सप्लाई करने वाला प्रेम प्रकाश शराब की दुनिया का भी बेताज बादशाह था। वह महंगी शराब पीने का भी शौकिन है।

ed raids in illegal mining case prem prakashs in jharkhand sorens government KPR
Author
Ranchi, First Published Aug 24, 2022, 6:59 PM IST

रांची.  झारखंड के खनन घोटाले में बुधवार को 16 ठिकानों पर ED की रेड चल रही है। CM हेमंत सोरेन के करीबी प्रेम प्रकाश के रांची स्थित ठिकानों पर छापा मारा गया। प्रेम प्रकाश के घर तिजोरी से 2 एके-47 राइफल बरामद की गई हैं। 60 कारतूस भी मिली हैं। इसकी तस्वीरें सामने आई हैं। सरकारी स्कूलों में अंडों की सप्लाई करने वाला प्रेम प्रकाश शराब की दुनिया का भी बेताज बादशाह था। वह महंगी शराब पीने का भी शौकिन है। कई नौकरशाहों को भी उसने महंगी शराब पिलाई है। अंडों की सप्लाई करते-करते अचानक उसने शराब के ठेके लेने भी शुरु कर दिया। 2018 में वह शराब की दुनिया का बादशाह बना। वर्ष 2018 में राज्य में शराब को बंदोबस्ती सरकार के हाथ में थी। उस वक्त प्रेम प्रकाश राज्य के 9 जिलों में शराब बेचता था। झारखंड में जिस जिला में चाहा वहां उसने शराब दुकान का ठेका लिया। बता दें कि प्रेम प्रकाश का हर सरकार में सिक्का चलता था। वो बीजेपी की रघुवर दास की सरकार के समय भी शराब की सरकारी दुकानों में मैनपावर की नियुक्ति करता था।

 बरामद एके 47 और 60 कारतूस जिला पुलिस के
प्रेम प्रकाश के घर से मिले दो एके-47 और सात कारतूस जिला पुलिस के जवानों की है। इसकी जांच करने पहुंचे अरगोड़ा थाना प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि बरामद हथियार और कारतूस जिला पुलिस के जवानों के हैं। बारिश होने के कारण 23 अगस्त की रात दो जवान अपना हथियार वही रख आए थे। इधर, बताया जा रहा है कि लापरवाह जवानों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। थोड़ी देर में जिले के एसएसपी इस मामले को लेकर प्रेस ब्रीफिंग करेंगे। तब ही पूरा मामला स्पष्ट हो पाएगा। 
 
अमित अग्रवाल के जरिए बढ़ाई नौकरशाहों तक पहुंच
भाजपा सांसद निशिकांत दुबे में अपने ट्वीट में अमित अग्रवाल को प्रेम प्रकाश का सहयोगी बताया है। बताया जा रहा है कि अमित अग्रवाल के जरिए ही प्रेम प्रकाश ने अपनी पहुंच नौकरशाहों के बीच बनाई। अमित अग्रवाल कोलकाता के व्यापारी है। रियल स्टेट और जामताड़ा में वनस्पति तेल के उद्योग से अमित अग्रवाल जुड़े हुए हैं। अमित अग्रवाल की सरकार के बीच काफी अच्छी पकड़ मानी जाती है। ये वहीं अमित अग्रवाल हैं जिन्होंने झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार को कोलकाता में 50 लाख रुपए केश के साथ गिरफ्तार करवाया था। अमित अग्रवाल के जरिए ही प्रेम प्रकाश ने नौकरशाहों तक अपनी पहुंच बनाई। इसके बाद सरकारी स्कूल में अंडे की सप्लाई करने लगा और शराब का ठेका भी वह चलाने लगा। 

कई सीए के घर भी छापेमारी
प्रेम प्रकाश के कई सीए के घर भी ईडी की टीम छापेमारी कर रही है। रांची के सीए एके झा, यश एंड कंपनी की सीए अनिता कुमारी समेत अन्य के घर में ईडी ने कागजात खंगाले। प्रेम प्रकाश के बिहार के सासाराम स्थित घर पर भी ईडी की टीम रेड कर रही है।

इसे भी पढ़ें-  कभी लालू यादव का चुराया था फोन, अब झारखंड के सीएम का करीबी, जानिए कौन है प्रेम प्रकाश जिसके घर में मिली AK-47

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios