पुलिस और सीबीआई बन अन्तरराज्यीय गिरोह के ठग करते थे ठगी, पर झारखंड में नहीं जमी धाक, पढ़े अलर्ट करने वाली खबर

| Dec 07 2022, 08:35 PM IST

पुलिस और सीबीआई बन अन्तरराज्यीय गिरोह के ठग करते थे ठगी, पर झारखंड में नहीं जमी धाक, पढ़े अलर्ट करने वाली खबर
पुलिस और सीबीआई बन अन्तरराज्यीय गिरोह के ठग करते थे ठगी, पर झारखंड में नहीं जमी धाक, पढ़े अलर्ट करने वाली खबर
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

झारखंड के जमशेदपुर में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां तीन लोगों को पुलिस ने अरेस्ट करने में सफलता हासिल की है। ये आरोपी सीबीआई और पुलिस बन करते थे लोगों से ठगी। बुधवार के दिन पुलिस ने किया अरेस्ट।

जमशेदपुर (jamshedpur). झारखंड के जमशेदपुर जिले में पुलिस ने तीन बदमाशों को अरेस्ट करने में सफलता हासिल की है। जानकारी में सामने आया है कि ये किसी अन्तरराज्यीय गैंग के मेंबर है और भेष बदल कर ठगी की वारदात को अंजाम देते थे। कई राज्यों में लूट की वारदात करने के बाद यहां आए थे। पुलिस आरोपियों को अरेस्ट कर पूछताछ कर उनके गैंग का पता लगा रही है। मामले की जांच जमशेदपुर पुलिस कर रही है।

सीबीआई या पुलिस बन करते थे ठगी
आरोपियों को अरेस्ट करने के बाद पूछताछ में बदमाशों ने पुलिस को बताया कि वह क्राइम ब्रांच या सीबीआई या पुलिस बनकर लोगों के घरों में जाते और फिर उनको अपने जाल में फंसा कर लूट की वारदात को अंजाम देते थे। उन्होंने कोलकाता और पुरुलिया के अलावा बोकारो ( झारखंड) में इसी तरह की वारदात को अंजाम दे चुके थे। और अभी जमशेदपुर में भी इस तरह की वारदात को अंजाम देने आए थे। पर पकड़े गए थे। दोनो की पहचान मध्य प्रदेश और एक महाराष्ट्र निवासी के रूप में हुई। उन्होंने  अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। और अपने साथियों की पहचान भी बताई है।

Subscribe to get breaking news alerts

बुजुर्गों को बनाते थे निशाना, दूसरे राज्यों में ठगी का सामान बरामद
आरोपियों ने बाताया कि ठगने के लिए वे अधिकारी बन लोगों के घर जाते थे। अपने शिकार के तौर पर वे बुजुर्गों को अपना निशाना बनाते थे। उनको अपराध होने की संभावना बता कर उनके गहने सुरक्षित रखने का बोल कर हाथ साफ करते और नकली माल पकड़ा जाते। पुलिस ने उनके पास से कोलकाता में की गई लूट का सामान बरामद किया है। जिसमें  2 सोने के कंगन, 2 चैन,  17सोने की अंगूठियां, एक चांदी की अंगूठी 3 मोबाइल फोन शामिल है।र

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने बताया कि बदमाशों की जानकारी के आधार पर उनके गिरोह के अन्य सदस्यों को पकड़ने का प्रयास कर रही है। जल्द ही सारे आरोपी पुलिस की गिरफ्त मे होंगे।

यह भी पढ़े- 'हम पुलिसवाले हैं और तुम्हारे पास गांजा है' कहकर लूट लिए 50 हजार, फिरोजाबाद पुलिस जांच में जुटी