Asianet News HindiAsianet News Hindi

झारखंड में पूर्व विधायक गुरूचरण नायक पर नक्सली हमला, फुटबॉल मैच के दौरान अटैक, एक गार्ड की मौत, दूसरा लापता

एक बॉडीगार्ड पूर्व विधायक को सुरक्षित निकालने में सफल रहा। वहीं दो बॉडीगार्ड नक्सलियों के घेराबंदी में फंस गए। दोनों बॉडीगार्ड को नक्सलियों ने कब्जे में ले लिया। पुलिस को एक बॉडीगार्ड का शव मिला है जबकि एक अन्य बॉडीगार्ड लापता है।

Jharkhand Ex BJP MLA from Manoharpur Guru Charan Nayak attacked by Naxals in Chaibasa stb
Author
Ranchi, First Published Jan 4, 2022, 9:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची : झारखंड (Jharkhand) में मनोहरपुर के पूर्व विधायक भाजपा नेता गुरुचरण नायक (Guru Charan Nayak) नक्सली हमले में बाल-बाल बच गए हैं। उनकी सुरक्षा में तैनात एक बॉडीगार्ड ने किसी तरह पूर्व विधायक घटना स्थल से निकालने में सफल रहा। बॉडीगार्ड उन्हें लेकर सोनुआ थाने पहुंचा और पूरी जानकारी दी। वहीं दो बॉडीगार्ड नक्सलियों के घेराबंदी में फंस गए।

एक गार्ड की मौत, एक लापता
पूर्व विधायक गुरुचरण नायक एक फुटबॉल टूर्नामेंट के समारोह में भाग लेने के लिए गए थे। इसकी सूचना पहले से नक्सलियों को थी। इसी दौरान घात लगाए नक्सलिओं ने अचानक हमला कर दिया। हमले के दौरान पूर्व विधायक के साथ तीन बॉडीगार्ड थे। एक बॉडीगार्ड पूर्व विधायक को सुरक्षित निकालने में सफल रहा। वहीं दो बॉडीगार्ड नक्सलियों के घेराबंदी में फंस गए। दोनों बॉडीगार्ड को नक्सलियों ने कब्जे में ले लिया। पुलिस को एक बॉडीगार्ड का शव मिला है जबकि एक अन्य बॉडीगार्ड लापता है।

100 की संख्या में आए थे नक्सली - प्रत्यक्षदर्शी
एक प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि नक्सलियों की संख्या 100 के करीब थी। उनकी माने तो नक्सलियों ने एक बॉडीगार्ड का गला रेतकर मार डाला। वहीं पूर्व विधायक गुरुचरण नायक ने बताया कि नक्सली पहले से ही घात लगाकर बैठे हुए थे। नक्सलियों के द्वारा फायरिंग भी की गई, जिसके बाद किसी तरह जान बचाकर सोनुआ थाना पहुंच घटने की जानकारी पुलिस को दी। उन्होंने बताया कि नक्सलियों के द्वारा 4 राउंड फायरिंग की गई जिसके बाद किसी तरह खेत-खलिहान के रस्ते जान बचाकर भागने में सफल हुए।

पहले भी हो चुके हैं हमले
बता दें कि इससे पहले भी विधायक रहने के दौरान नक्सलियों ने उन पर हमला किया था। पश्चिमी सिंहभूम जिले के आनंदपुर प्रखंड में एक स्कूल भवन के उद्घाटन और सड़क का शिलान्यास करने गए गुरुचरण पर एक घंटे के अंदर दो बार हमला कर किया था। विधायक की सुरक्षा में साथ गई पुलिस के साथ नक्सलियों की करीब डेढ़ घंटे तक फायरिंग हुई थी। हालांकि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ था। हमले की पहली घटना आनंदपुर प्रखंड के नक्सल ग्रस्त हरता गांव में हुई थी। दूसरी बार खटांगबेड़ा गांव में नक्सलियों ने हमला किया था।

इसे भी पढ़ें-नया साल जिंदगीभर का दर्द दे गया: झारखंड में ट्रक मजदूरों पर जा पलटा, 6 लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत

इसे भी पढ़ें-झारखंड में दरोगा की संदिग्ध अवस्था में मौत, रात में पिकैट ड्यूटी पर खाना खाकर सोए थे, सुबह उठे ही नहीं

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios