Asianet News HindiAsianet News Hindi

रांची में दुखद हादसाः हुंडरु फॉल में अचानक आए तेज बहाव में एक छात्र डूबा, जबकि चार ने तैरकर बचाई जान

रांची में दर्दनाक हादसा हुआ है। यहां हुंडरू फॉल घूमने गया एक छात्र वहां अचानक आए तेज बहाव में बह गया। उसके साथ 5 दोस्तों में चार ने तैरकर अपनी जान बचाई, तो वहीं छात्रा को गोताखोरों ने बचाया। शाम होने तक युवक को नहीं खोजा जा सका है। बुधवार की सुबह से फिर रेस्क्यू मिशन किया जाएगा।

ranchi accident news sudden increase of water flow in hundru waterfall one student drowned there asc
Author
First Published Sep 20, 2022, 8:31 PM IST

रांची: झारखंड की राजधानी रांची में मंगलवार को बड़ी घटना हुई। रांची में स्थित हुंडरु फॉल घूमने आए एक छात्र पानी के तेज बहाव में बह गया। जबकि उसके चार दोस्तों ने तैर कर अपनी जान बचा ली। जबकि एक छात्रा को शैलानियों ने बचा लिया। छात्र अपने चार दोस्तों के साथ हुंडरु फॉल घुमने गया था। जहां डैम को पार कर रहे थे। फॉल में अचानक बहाव आया जिसमें सभी एक साथ बहने लगे। एक पानी के बहाव में बह गया। जबकि अन्य तैर कर बाहर निकले। वहां मौजूद अन्य शैलानियों ने भी चारों के पानी से निकलने में मदद की। घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। लापता छात्र को खोजने का प्रयास जारी है। अब तक वह नहीं मिला है। आशंका जताई जा रही है कि पानी के बहाव में वह कहीं दूर बह गया।

डेम के गेट खुलने से बढ़े पानी में बहा युवक
डैम का फाटक खोलने से नदी में अचानक पानी का तेज बहाव आया। जिसमें पाचों छात्र बहने लगे। लापता छात्र रितिक कुमार साहु (19) रांची के पिठोरिया थाना क्षेत्र के चंदवे गांव का रहने वाला था। घटना की सूचना पर उसके परिजन भी मौके पर पहुंचे। फिल्हाल पानी कम होने का इंजतार किया जा रहा है। पानी कम होने के बाद लापता छात्र के मिलने की संभावना है। घटना के बाद डैम को बंद कर दिया गया। घटना के बाद परिजनों में चीख पुकार मचा है। अंधेरा होने के कारण रिस्क्यू ऑपरेशन रोक दिया गया है। 

एक छात्रा भी बची, रिम्स में चल रहा इलाज
बताया जा रहा है कि एक छात्रा भी युवकों के साथ डैम घुमने गई थी। पानी के बहाव में वह भी बहने लगी। जिसे वहां मौजूद शैलानियों ने बचा लिया। उसे इलाज के लिए रांची के रिम्स ले जाया गया है। घटना के बाद हुंडरू फॉल घूमने आए शैलानियों में हड़कंप मच गया। स्थानीय गोताखोरं की मदद से लापता छात्र को करीब चार घंटे तक खोजा गया लेकिन वह नहीं मिला। बुधवार सुबह वापस गोताखोरों को नदी में उतारा जाएगा।

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री गहलोत के लिए अब अलवर से टेंशन वाली खबर, हजारों लोगों की भीड़ लेकर सड़कों पर उतर आए सांसद

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios