Asianet News HindiAsianet News Hindi

झारखंड के प्रतिभाशाली बच्चों को मिलेगी विदेशों में पढ़ाई करने के लिए स्कॉलरशिप, बस इस डेट से पहले करें आवेदन

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के प्रयास के कारण ब्रिटिश उच्चायोग द्वारा 5 स्टूडेंट को स्कॉलरशिप देने के लिए मरङ गोमके जयपाल सिंह मुण्डा छात्रवृत्ति योजना के साथ साझेदारी  की है। इसके तहत अब अन्य वर्गों के बच्चों को भी स्कॉलरशिप की सुविधा मिलेगी।

ranchi news excellence students of backward classes will get chance to study in foreign through Marang Gomke Jaipal Singh Munda Overseas Scholarship asc
Author
Ranchi, First Published Aug 23, 2022, 2:48 PM IST

रांची (झारखंड). झारखंड के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिभाशाली छात्रों को छात्रवृत्ति मिलेगी। एक्सीलेंट बच्चों को ब्रिटिश हाई कमीशन द्वारा शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा स्कॉलरशिप प्रदान की जायेगी। मुख्यमंत्री के प्रयास से ब्रिटिश उच्चायोग द्वारा अधिकतम पांच छात्र/ छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान करने हेतु मरङ गोमके जयपाल सिंह मुण्डा छात्रवृत्ति योजना के साथ साझेदारी करते हुए शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई है। यह  ग्लोबल स्कॉलरशिप अपने आप में अनूठी है। अब यहां के पिछड़े समाज के प्रतिभाशाली बच्चों को वैश्विक छात्रवृत्ति मिलेगी। इस संबंध में राज्य सरकार विदेश राष्ट्रमंडल विकास कार्यालय (एफसीडीओ), ब्रिटिश उच्चायोग, नई दिल्ली के साथ 23 अगस्त को एमओयू करेगी। अभी तक झारखण्ड सरकार मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना के जरिए यूनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एण्ड नॉर्दन आयरलैण्ड के चयनित संस्थानों / विश्वविद्यालयों के चयनित पाठ्यक्रम में अध्ययन हेतु अनुसूचित जनजाति के छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान कर रही थी। अब अन्य वर्गों यथा अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को इससे लाभान्वित किया जाएगा। शेवनिंग मारंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 1 नवंबर, 2022 है।

पांच छात्रों का चयन होगा
इस एमओयू के तहत प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष के लिए शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति योजना हेतु अधिकतम 5 छात्र-छात्राओं का चयन किया जायेगा। चयनित पांच छात्र-छात्राओं का सम्पूर्ण ट्यूशन फीस झारखण्ड सरकार वहन करेगी। वहीं शेष लागतों का वहन विदेश राष्ट्रमंडल विकास कार्यालय और ब्रिटिश उच्चायोग (एफसीडीओ) द्वारा किया जायेगा। एमओयू के तहत सभी भुगतान भारत सरकार के द्वारा अनुमोदित दिशा निर्देश के आलोक में होगा।

एक वर्षीय मास्टर डिग्री के लिए छात्रवृत्ति
स्कोकॉलरशिप के तहत शैक्षणिक वर्ष 2023- 24 (जिसके लिए अगस्त 2022 में आवेदन आमंत्रित किए गए हैं) में शुरू होगा। जो तीन वर्ष के लिए प्रभावी रहेगा। ऐसे में छात्रों को शैक्षणिक वर्ष 2023/24, 2024/25 और 2025/26 के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जा सकेगी। शैक्षणिक वर्ष 2026-27 में छात्रवृत्ति के प्राप्त आवेदनों के अनुरूप एमओयू को मार्च 2026 तक के लिए किया जाएगा। शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति के लिए छात्र- छात्राओं को शिक्षण शुल्क के साथ परीक्षा एवं थीसिस शुल्क, एकल छात्र के रहने के खर्च हेतु पर्याप्त मासिक भत्ता, एक भत्ता पैकेज तथा निवास स्थान से स्वीकृत मार्ग से आने-जाने का किराया भुगतान किया जायेगा। युनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन के मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों में एक वर्षीय मास्टर डिग्री के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी।

सीएम ने निभाया वादा
स्कॉलरशिप योजना के तहत सितंबर 2021 में जब चयनित सात छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा के लिए विदेश जा रहे थे। उस समय मुख्यमंत्री ने कहा था कि जल्द ही अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिभाशाली युवाओं को भी विदेश में उच्च शिक्षा का अवसर दिया जायेगा। अपने वादे के अनुसार मुख्यमंत्री ने एक वर्ष से भी कम समय में इन बच्चों का विदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करने का मार्ग प्रशस्त किया है। साथ ही मुख्यमंत्री के प्रयास से ब्रिटिश उच्चायोग द्वारा अधिकतम पांच छात्र- छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान करने हेतु मरङ गोमके जयपाल सिंह मुण्डा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना के साथ साझेदारी करते हुए शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति योजना शुरू की है। 

10 से बढ़कर संख्या हुई 25
मालूम हो कि मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना के तहत पूर्व में अधिकतम 10 छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जा रही थी, लेकिन अब अधिकतम 25 छात्र/ छात्राओं को छात्रवृत्ति दी जाएगी। झारखण्ड के अनुसूचित जनजाति के अधिकतम 10, अनुसूचित जाति के अधिकतम पाँच, अल्पसंख्यक के अधिकतम तीन एवं पिछड़ा वर्ग के अधिकतम सात प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को चयनित कर प्रत्येक वर्ष विदेश में स्थित अग्रणी विश्वविद्यालयों और संस्थानों के चयनित कोर्स में उच्चस्तरीय शिक्षा यथा मास्टर्स / एम० फिल० हेतु छात्रवृति प्रदान की जायेगी। अब योजना को और सशक्त बनाने के उद्देश्य से शुरू की गई शेवनिंग मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति योजना उच्च शिक्षा की राह को और आसान बनाएगा। 

शेवनिंग मारंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 1 नवंबर, 2022 है। अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें-
https://www.chevening.org/scholarship/india/

यह भी पढ़े- राजस्थान में ऐसा क्या हुआ कि, वायुसेना के हैलकॉप्टर की कराना पड़ी आपात लैडिंग, जानिए पूरा मामला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios