Asianet News HindiAsianet News Hindi

अंडे की सप्लाई करने वाला प्रेम प्रकाश ऐसे बना झारखंड का सबसे बड़ा ब्रोकर, IAS के भी करवा देता था ट्रांसफर

प्रेम प्रकाश के हरमू स्थित ठिकाने से दो एके-47 राइफल बरामद किया है। प्रेम प्रकाश उर्फ पीपी झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के करीबी हैं। खनन घोटाले में उसका नाम वरिष्ठ आईएएस पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद सामने आया था।

ranchi news Prem Prakash biggest broker of Jharkhand ed raids in illegal mining case pwt
Author
Ranchi, First Published Aug 24, 2022, 2:03 PM IST

रांची. झारखंड में मीड डे मील योजना में सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए अंडे की सप्लाई करने वाला प्रेम प्रकाश उर्फ पीपी झारखंड में सत्ता के गलियारे में एक चर्चित नाम है। अंडे की सप्लाई के दौरान पीपी कई बड़े अधिकारी और आईएएस अफसरों के संपर्क में आया। उसके बाद धीरे-धीरे ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने वाले बड़े चेहरे के तौर पर उनकी पहचान बन गई। बुधवार को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग और अवैध खनन से जुड़े केस में रांची में प्रेम प्रकाश उर्फ पीपी के ऑफिस सहित रांची के 12 ठिकानों और झारखंड के कुल 17 जगहों पर एक साथ छापेमारी की। 

प्रेम प्रकाश के हरमू स्थित ठिकाने से दो एके-47 राइफल बरामद किया है। यहां बता दें कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने भी ट्वीट करके एके-47 राइफल मिलने की जानकारी दी है। हालांकि इसकी अधिकारी तौर पर कोई पुष्टि नहीं हो पाई है, जो जानकारी सामने आ रही है उसके मुताबिक, छापेमारी के दौरान ईडी को प्रेम प्रकाश के ठिकाने से दो एके-47 मिला है। मौके पर ईडी ने एनआईए को जांच के लिए बुलाया है। सूचना है कि प्रेम प्रकाश के बिहार के सासाराम में बैंक कालोनी के गोरक्षणी मुहल्ला स्थित आवास में भी सुबह से ही ईडी की छापेमारी चल रही है।

प्रेम प्रकाश उर्फ पीपी झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के करीबी हैं। खनन घोटाले में उसका नाम वरिष्ठ आईएएस पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद सामने आया था। उसके बाद ही ईडी ने प्रेम प्रकाश के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर बुधवार को उसके हर संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। प्रेम प्रकाश के रांची और बिहार स्थित कई ठिकानों पर मई में भी ईडी ने छापेमारी की थी। तब ईडी को प्रेम प्रकाश के रांची स्थित घर से दुर्लभ कंबोडिया का कछुआ भी मिला था। अधिकारियों ने इस कछुए को अपने कब्जे में लेने के बाद वन विभाग को सौंप दिया था। 

रघुवर सरकार में भी थी खास पैठ
जानकारी के मुताबिक प्रेम प्रकाश पिछली रघुवर सरकार में भी महत्वपूर्ण शख्सियत थे। राजनीतिक गलियारों में पीपी के नाम से मशहूर प्रेम प्रकाश रघुबर दास के भी करीबी बताए जाते थे। बताया जाता है कि इनका ट्रांसफर पोस्टिंग करवाने में भी हाथ रहता था।

प्रेम प्रकाश के कई ठिकाने पर छापेमारी जारी
ईडी बुधवार को अरगोड़ा चौक के पास वसुंधरा अपार्टमेंट के आठवें तल पर पहुंची। यहां प्रेम प्रकाश के दफ्तर में छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा ओल्ड एजी कॉलोनी स्थित हॉली एंजल स्कूल भी ईडी की रडार पर है। छापेमारी के दौरान सुरक्षा की दृष्टि से सीआरपीएफ जवानों को तैनात किया गया है। इसके अलावा ईडी प्रेम के अशोक नगर स्थित बंद पड़े ऑफिस में छापेमारी कर रही है। वहीं दूसरी ओर ईडी हॉली एंजल स्कूल भी पहुंची है। माना जा रहा है मुख्यमंत्री के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर यह छापेमारी की जा रही है। 

आतंकवादी व नक्सलियों का सरगना है प्रेम प्रकाश : निशिकांत दुबे
गोड्डा सांसद निशिकांत ने ट्वीट करके कहा है कि, झारखंड के मुख्यमंत्री जी और उनके पारिवारिक मित्र अमित अग्रवाल जी के सहयोगी झारखंड के दलालों के सरगना प्रेम प्रकाश जी के यहां सूत्रों के अनुसार AK 47 बरामद की गई है। यानी वह आतंकवादी व नक्सलियों का सरग़ना है। इस मामले को NIA को जांच अपने हाथों में लेना चाहिए। 

पहले भी बीजेपी उठा चुकी है सवाल
झारखंड में ऐसा माना जाता है कि सरकार की तरफ से होने वाले हर ट्रांसफर पोस्टिंग में उनकी सहमति होती है, बिना उनकी सहमति के कोई भी तबादला नहीं हो सकता है। भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने प्रेम प्रकाश को लेकर कुछ दिन पहले कई ट्वीट किए थे। 25 मई 2022 को अपने ट्वीट में निशिकांत दुबे ने लिखा था कि 'प्रेम प्रकाश के यहां आख़िर ईडी पहुंच गया। प्रेम भइया झारखंड के खेल के शातिर खिलाड़ी हैं, नेता, अधिकारी सब इनके जेब में, अमित भैया के तो सर्वे सर्वा, ट्रांसफर पोस्टिंग बिना इनकी मर्जी के नहीं। आगे का इंतजार। वहीं, विधायक सरयू राय ने भी प्रेम प्रकाश की तस्वीर ट्विटर पर डालते हुए यह लिखा था कि यह शख्स कौन है, क्या आप सब इसे पहचानते है, इसकी सत्ता के गलियारों में खूब चलती है।

इसे भी पढ़ें-  कभी लालू यादव का चुराया था फोन, अब झारखंड के सीएम का करीबी, जानिए कौन है प्रेम प्रकाश जिसके घर में मिली AK-47

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios