Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिग्विजय सिंह का Mathmatics:7 साल बाद हिंदू-मुस्लिम सबकी जनसंख्या बराबर होगी, खतरा तो सिर्फ मोदी-ओवैसी को है

राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह  (congress leader Digvijay Singh) अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा में बने रहते हैं। इस बार फिर उन्होंने कुछ ऐसा कहा कि वह मीडिया की सुर्खियां तो आ ही गए हैं।
 

Congress leader Digvijaya Singh talk about Hindu Muslim population ratio
Author
Bhopal, First Published Sep 23, 2021, 12:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल ( मध्य प्रदेश). राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह  (congress leader Digvijay Singh) अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा में बने रहते हैं। इस बार फिर उन्होंने कुछ ऐसा कहा कि वह मीडिया की सुर्खियां तो आ ही गए हैं, लेकिन उनके इस बयान से राजनीति गरमा सकती है। दिग्विजय सिंह ने हिन्दू-मुस्लिम आबादी का ऐसा गणित समझाया है कि 2028 तक दोनों की संख्या बराबर हो जाएगी।

किसानों को हिन्दू-मुस्लिम का पाठ पढ़ा रहे थे
दरअसल, दिग्विजय सिंह मध्य प्रदेश के सिहोर में किसान पदयात्रा कार्यक्रम के समापन पहुंचे हुए थे। इस दौरान वह जनता को हिन्दू-मुस्लिम आबादी का गणित समझने लगे। उन्होंने कहा कि 'जिस तरह से जनसंख्या की जन्मदर घट रही है, इस लिहाज से  2028 तक हिंदुओं और मुसलमानों की जन्मदर बराबर हो जाएगी'।

1951 की एक स्टडी रिपोर्ट का दिया हवाला
दिग्विजय सिंह कहा कि हमने एक स्टडी रिपोर्ट पढ़ी है, जो कि जनगणना के आंकड़ों पर आधारित है। उस रिपोर्ट के मुताबिक, 1951 के बाद से मुस्लिमों की जन्मदर तेजी से गिरी है। जो कि हिन्दुओं की संख्या से कहीं ज्यादा थी। कांग्रेस नेता ने कहा कि आज के समय में मुस्लिम की प्रजनन दर  2.7 है और हिंदुओं की 2.3 है। यानि परिवार में 2.3 परिवार आ जाता है। जिस हिसाब से हिन्दुओं  की यह जन्मदर घट रही है। उसी के हिसाब से  साल 2028 तक हिन्दुओं और मुस्लिमों की जनसंख्या लगभग बराबर हो जाएगी।

खतरा तो सिर्फ मोदी-ओवैसी को है
दिग्विजय सिंह यहीं नहीं रुके कहने लगे कि कुछ लोग कहते हैं कि मुस्लिम  4-4 बीवी रख लेते हैं और दर्जनों बच्चे पैदा कर लेते हैं। इस हिसाब से मुसलमान 10-20 साल बाद बहुसंख्यक हो जाएंगे और हिंदू अल्पसंख्यक रह जाएंगे। अगर इनको इस मुद्दे पर चर्चा करनी है तो में इन लोगों को खुली चेतावनी देता हूं आओ मेरे साथ चर्चा करो। इतना ही नहीं वह आगे बोले कि वो झूठ फैला रहे हैं और लोगों को गुमराह कर रहे हैं। एक तरफ असदुद्दीन ओवैसी मुसलमानों को गुमराह करते हैं तो दूसरी तरफ बीजेपी वाले हिन्दुओं को गुमराह कर रहे हैं। खतरा हिंदु-मुस्लिम को एक-दूसरे से नहीं  है, बल्कि असली खतरा तो मोदी जी और ओवैसी जी को है।


 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios