Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिग्विजय सिंह ने आकाश विजयवर्गीय का उदाहरण देकर साधा निशाना, बोले-'BJP-RSS लिंचिंग के लिए लोगों को उकसा रहे'

दिग्विजय सिंह ने कहा- देश में मॉब लिंचिंग के दो वजह है-पहली लोगों को न्याय नहीं मिला, दूसरा बीजेपी और आरएसएस के लोग लिंचिंग के लिए उकसा रहे।  

Digvijay Singh gave an example of Akash Vijayvargiya and said, "BJP-RSS is inciting people for lynching".
Author
Bhopal, First Published Jul 7, 2019, 12:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. कांग्रेस के दिग्गज नेता और भोपाल लोकसभा से उम्मीदवार रहे दिग्विजय सिंह ने बीजेपी और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ताओं को दोषी बताया है। दिग्विजय ने रविवार इंदौर के आकाश विजयवर्गीय पर तंज कसते हुए उदाहरण दिया है कि इस तरह के लोग लिंचिंग के लिए उकसा रहे हैं, जिस वजह से आए दिन घटनाएं सामने आ रही हैं। 

क्या बोले दिग्गी

दिग्विजय सिंह ने कहा है -'देश में मॉब लिंचिंग की दो वजहे हैं- पहला यह कि लोगों को समय पर न्याय नहीं, जिस वजह से लोगों के अंदर गुस्सा भरा है। दूसरी वजह बीजेपी और आरएसएस हैं। इनके कार्यकर्ता लोगों को मॉब लिंचिंग के लिए उकसा रहे हैं। आप देख सकते हैं, आकाश विजयवर्गीय, ने कहा था हम लोग पहले आवेदन, निवेदन और फिर दे दना दन करते हैं। मॉब लिंचिंग इस मानसिकता का परिणाम है।'

वहीं इससे इतर इंदौर में शबाना आजमी ने भी बीजेपी पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा आज का जो माहौल है, उसमें जरूरी है कि हम घुटने नहीं टेके। ये हमारा मुल्क है और इसकी बेहतरी के लिए हमें उन बुराइयों से बात करना होगी, जो इसे पीछे ले जा रही हैं। लेकिन माहौल कुछ ऐसा बन रहा है कि आपने ज़रा भी बुराई की, सरकार के खिलाफ कुछ कहा तो आपको एंटी नेशनल (देशद्रोही) कह दिया जाता है। इससे डरना नहीं चाहिए। इस पर मैं फ़ैज़ का ये शेर सुनाना चाहूंगी- "दिल नाउम्मीद तो नहीं, नाक़ाम ही तो है, लंबी है ग़म की शाम, मगर शाम ही तो है।

क्या था आकाश विजयवर्गीय मामला
कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश ने बैट से निगम अधिकारी धीरेंद्र बायस पिटाई कर दी थी। जिसके बाद चौतरफा बवाल खड़ा हो गया था। वहीं इस मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, बेटा किसी का भी हो, इस तरह की मनमानी और घमंड बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios