Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेबस मां: बेटी को पेट से बांध हौज में कूद गई-दोनों की मौत, बच्ची बच ना जाए इसलिए साड़ी से कसकर बांधा

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से दिल को झकझोर देने वाला मामला सामने आय है। जहां एक मां अपनी दो साल की बेटी को पेट से बंधकर पानी से भरे हौज में कूद गई। डूबने की वजह से दोनों की मौके पर मौत हो गई।

emotional story Indore news Mother commits suicide with two year old daughter for dowry harassment kpr
Author
First Published Nov 13, 2022, 7:27 PM IST

इंदौर (मध्य प्रदेश). एक तरफ जहां बेटियां पूरी दुनिया में परिवार और देश का नाम रोशन कर रही हैं, तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लड़कियों के पैदा होने पर दुखी हो जाते हैं। बस इन्हीं तानों से तंग आकर कई महिलाएं सुसाइड कर लेती हैं। दिल को झकझोर देने वाला एक ऐसा ही मामला इंदौर से सामने आय है। जहां एक मां अपनी दो साल की बेटी को पेट से बंधकर पानी से भरे हौज में कूद गई। डूबने की वजह से दोनों की मौके पर मौत हो गई।

बेटी बच न जाए इसलिए उसे पेट पर साड़ी से कसकर बांधा
दरअसल, यह मामला इंदौर के विजयनगर क्षेत्र का है। यहां की रहने वाली रीना (25) ने दो साल की बेटी साथ लेकर शनिवार  रात हौज में छलांग लगा दी। रात को जब महिला घर में नहीं मिली तो परिवार खोजने के लिए निकला। फिर अगले दिन रविवार सुबह महिला बेटी के साथ हौज में डूबी मिली। बताया जा रहा है कि बेटी बच न जाए इसलिए महिला ने उसे पेट पर अपनी ही साड़ी से कसकर बांध लिया। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव बरामद कर जांच पड़ताल शुरू की। 

बेटी होने का ससुरालवाले मारते थे ताना
मृतका के मायके वालों ने ससुरालवालों के खिलाफ दहेज और सुसाइड के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है।  महिला के भाई केसर सिंह ने बताया कि बहन रीना की पांच साल पहले इंद्रजीत से शादी हुी थी। दो साल बाद एक बेटी पैदा हुई, लेकिन वह दिव्यांग थी, क्योंकि उसका दिमाग सही से विकसित नहीं हुआ था। वहीं ससुराल वाले उसे बेटा नहीं होने का ताना देते थे। खुद पति और सास-ननद रोजाना उसे प्रताड़ित करने लगे थे। वह कई बार अपना दर्द  हमकों बता चुकी थी। हम उसे समझाते थे कि वक्त से साथ सब सही हो जाएगा।

मरने से पहले भाई के सामने बयां किया था अपना दर्द
महिला के भाई ने बताया कि सुसाइ करने से पहले शनिवार शाम रीना ने उसे कॉल किया था। वह अपना दर्द बयां कर रही थी, लेकिन रात ज्यादा होने के कारण मैने बात नहीं की और फोन काट दिया। जब रविवार सुबह बहन की मौत की जानकारी मिली मैं हैरान रह गया। मुझे पता होता तो मैं उसे समझाता, हो सकता था वह यह कदम नहीं उठाती। उसका दर्द बाहर निकल जाता तो वो ऐसा नहीं करती। मेरी गलती थी जो उससे बात नहीं की। मेरी बहन की मौत के जिम्मदार उसके ससुराल वाले हैं। वहीं मामले की जांच कर रही टीआई रवीन्द्र गुर्जर ने कहा कि महिला के मायके पक्ष ने जो आरोप लगाए हैं, उनकी जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें-पति को नंगा कर बैठाया-फिर सामने पत्नी से डेढ़ घंटे तक गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट भी जलाया, रूह कंपा देगी वारदात

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios