Asianet News HindiAsianet News Hindi

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फिर चौंकाया, बड़ा सरप्राइज लेकर पहुंचे इस नेता के घर, कभी-दोनों थे धुर विरोधी

कैलाश विजयवर्गीय के सामने आने पर महाआर्यमन सिंधिया ने प्रणाम किया। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें कहा आशीर्वाद लो।  एमपीसीए के चुनाव के समय से दोनों नेता एक दूसरे के धुरविरोधी माने जाते थे। सिंधिया दूसरी बार कैलाश विजयवर्गीय के घर पहुंचे हैं। 

indore news Jyotiraditya Scindia suddenly reached Kailash  vijayvargiya house shocked to see his surprise pwt
Author
Indore, First Published Aug 23, 2022, 12:28 PM IST

इंदौर. केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार को इंदौर-उज्जैन दौरे में थे। उज्जैन में उन्होंने बाबा महाकाल की शाही सवारी की पूजा कि इसके बाद वो  इंदौर पहुंचे। ज्योतिरादित्य सिंधिया अचानक कैलाश विजयवर्गीय के घर पहुंचे। यहां उनके साथ उनके बेटे महाआर्यमन सिंधिया भी मौजूद थे। महाआर्यमन को देख कैलाश विजयवर्गीय चौंक गए और उन्होंने कहा कि अरे युवराज भी हैं हमें तो पता ही नहीं था। 

सिंधिया ने कहा- आपके लिए सरप्राइज
कैलाश विजयवर्गीय ने दरवाजे में पहुंचकर ज्योतिरादित्य सिंधिया का स्वागत किया। लेकिन जैसे ही उन्हें महाआर्यमन सिंधिाया दिखाई दिए वो हैरान रह गए। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- अरे युवराज भी आए हैं। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- देखिए हम आपके लिए सरप्राइज लेकर आए हैं।

indore news Jyotiraditya Scindia suddenly reached Kailash  vijayvargiya house shocked to see his surprise pwt

 

महाआर्यमन को कहा- आशीर्वाद लो
कैलाश विजयवर्गीय के सामने आने पर महाआर्यमन सिंधिया ने प्रणाम किया। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें कहा आशीर्वाद लो। इसके बाद महाआर्यमन ने कैलाश विजयवर्गीय के पैर छुए जिसके बाद उन्होंने महाआर्यमन को गले लगा लिया। 

कभी धुरविरोधी थे कैलाश-सिंधिया
कैलाश विजयवर्गीय के घर अचानक जाकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सबको चौंका दिया। बता दें कि एमपीसीए के चुनाव के समय से दोनों नेता एक दूसरे के धुरविरोधी माने जाते थे। हालांकि बीजेपी ज्वाइन करने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया इससे पहले भी कैलाश विजयवर्गीय के घर जा चुके हैं लेकिन अपने बेटे महाआर्यमन सिंधिया को लेकर वो पहली बार कैलाश विजयवर्गीय के घर पहुंचे थे लेकिन तब कैलाश विजयवर्गीय बंगाल दौरे पर थे जिस कारण से मुलाकात दोनों नेताओं की मुलाकात नहीं हुई थी।

 

 

बेटे के साथ सार्वजानिक कार्यक्रम में नजर आ रहे हैं सिंधिया
बता दें कि परंपरा के अनुसार, सावन-भादौ में निकलने वाली बाबा महाकाल की शाही सवारी में सिंधिया परिवार के सदस्य शामिल होते हैं। इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने बेटे महाआर्यमन के साथ उज्जैन पहुंचे थे। इससे पहले भी सिंधिया कई कार्यक्रमों में अपने बेटे के साथ नजर आ चुके हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सपरिवार पीएम मोदी से भी मुलाकात की थी।

इसे भी पढ़ें-  हर साल महाकाल की शाही सवारी में क्यों शामिल होते हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया, जानें इसके पीछे का रोचक किस्सा
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios