Asianet News HindiAsianet News Hindi

हबीबगंज स्टेशन के बाद MP में धड़ाधड़ बदल रहे जगहों के नाम, CM Shivraj ने इंदौर के इन दो स्पॉट का नाम भी बदला

 सीएम शिवराज मंडला जनजातीय गौरव सप्ताह के समापन अवसर पर यहां पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने आदिवासियों के विकास के लिए कई फैसले किए। साथ ही कहा कि आदिवासी भाइयों के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

janjatiya gaurav saptah ends cm shivraj singh name will be changed Indore bhawar kuan square
Author
Indore, First Published Nov 22, 2021, 6:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंदौर (मध्य प्रदेश). भोपाल की हबीबगंज (Habibganj) रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति (rani kamlapati railway station) हो गया है। लेकिन अब मध्य प्रदेश सरकार कई जगहों के नाम बदलने की तैयारी कर ली है। सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan ने इंदौर के दो प्रमुख्य स्पॉट के नाम बदलने का ऐलान किया।

इंदौर की दो जगह के बदले नाम
दरअसल, सीएम शिवराज सोमवार को मंडला जिले के दौरे पर पहुंचे हुए थे। जहां उन्होंने एक आदिवासी समारोह में हिस्सा लिया। इस दौरान सीएम ने इंदौर के भंवरकुआं चौराहा के नाम बदल कर कहा कि अब ये जगह 'द नायक टंट्या भील' नाम से जाना जाएगा। इसके अलावा एमआर 10 के बस स्टैंड का नाम भी बदलकर टंट्या मामा होगा।

सीएम ने आदिवासियों के लिए कई ऐलान
सीएम ने कहा कि इंदौर में 53 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले बस स्टैंड और पातालपानी रेलवे स्टेशन का नाम टंट्या मामा के नाम पर रखा जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं गोंडवाना के गौरव को पुनर्स्थापित करूंगा। पूरी दुनिया जानेगी कि गोंडवाना कैसा था!। मुख्यमंत्री ने राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बारे में भी लोगों को बताया। सीएम ने कहा कि यह दोनों को आजादी की लड़ाई लड़ने के कारण अंग्रेजों ने तोप से बांधकर उड़ा दिया था। उनके गौरव को स्थापित करने के लिए उनकी प्रतिमा की स्थापना होगी।

आदिवासियों के लिए सीएम ने खोले सभी दरवाजे
 बता दें कि सीएम शिवराज मंडला जनजातीय गौरव सप्ताह के समापन अवसर पर यहां पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने आदिवासियों के विकास के लिए कई फैसले किए। साथ ही कहा कि आदिवासी भाइयों के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

यह भी पढ़ें-PM Modi के कृषि कानून वापसी फैसले पर Uma Bharati हैरान, बोलीं-प्रधानमंत्री ने जो कहा वो बहुत व्यथित कर गया

यह भी पढ़ें-यह भी पढ़ें-रामायण एक्सप्रेस पर संतों का अल्टीमेटम: रेलवे मंत्री को लिखा लेटर, गलती सुधारो नहीं तो ट्रेन चलने नहीं देंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios