Asianet News HindiAsianet News Hindi

कमलनाथ ने जन्मदिन पर काटा हनुमानजी की तस्वीर लगा केक, मचा बवाल...सीएम शिवराज बोले-ये बगुला भगत

मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के केक काटने पर बवाल मच गया है। बीजेपी ने इसे लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा, वहीं सीएम शिवराज ने कहा-कांग्रेसी बगुला भगत हैं और उन्हें भगवान की भक्ति से कोई लेना-देना नहीं है।

Kamal Nath Cutting Temple Shaped Cake With Pic Of Lord Hanuman bjp calls it insult to hindus kpr
Author
First Published Nov 17, 2022, 11:46 AM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने जन्मदिन पर केक क्या काटा पूरे प्रदेश में सियासत गरमा गई। बीजेपी से लेकर जनत तक ने उनका विरोध किया। दरअसल, कमलनाथ ने अपना बर्थड़े केक  मंदिर के आकार का काटा और उस पर भगवान हनुमान की तस्वीर लगी हुई थी। बस इसी को लेकर उनका जबरदस्त विरोध हो रहा है। भाजपा ने इसे लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि यह  हिंदू की आस्था के साथ खिलवाड़ है और इससे हम हिंदुओं का अपमान किया है।

कमलनाथ का पूरा केक मंदिर के आकार का...भगवा झंडा भी लगा था
कांग्रेस नेता कमलनाथ ने अपने गृह जिले छिंदवाड़ा के शिकारपुर में बुधवार को अपने जन्मदिन से पहले केक काटा था। इस केक को एक मंदिर की तरह बनाया गया था। जो दिखने में एकदम मंदिर लग रहा था। इसके ऊपरी हिस्से पर एक भगवा रंग का झंडा भी दिखाया था। साथ ही उस पर हनुमानजी की तस्वीर लगा रखी थी। जिसको लेकर भाजपा ने कांग्रेस और कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा है।

हनुमानजी वाले केक का वीडियो वायरल
कमलनाथ के जरिए मंदिर की तरह दिखने वाला केक काटने का वीडियो भी वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि केक काटने और जश्न मनाने का यह वीडियो को किसी और ने नहीं बल्कि कांग्रेस के जिला जिलाध्यक्ष ने ही सोशल मीडिया पर शेयर किया है। जिसको लेकर भाजपा ने आड़े हाथ ले लिया। 

Kamal Nath Cutting Temple Shaped Cake With Pic Of Lord Hanuman bjp calls it insult to hindus kpr

सीएम शिवराज ने कहा कि कांग्रेसी बगुला भगत हैं....
प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा-कांग्रेसियों का भगवान की भक्ति से कोई लेना-देना ही नहीं है, यह बगुला भगत हैं। इनकी पार्टी कभी श्रीराम मंदिर का विरोध करती थी। आप केक पर बना हनुमान जी रहे हैं और फिर केक काट भी रहे हैं। यह सनातन परंपरा और हिंदू धर्म का अपमान है, जिसको यह समाज स्वीकार नहीं करेगा।

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios