Asianet News Hindi

बारिश का कहर फिर भी 'कुंभकर्णी नींद' में कमलनाथ सरकार, सिंधिया के बोल का BJP को हुआ फायदा

भाजपा ने सोमवार को आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार राहत और बचाव के लिये पर्याप्त कदम नहीं उठा रही है।  प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह कहा-"सूबे में प्राकृतिक आपदा से उत्पन्न भयावह हालात की सुध लिये बगैर कमलनाथ सरकार ‘कुंभकर्ण की नींद’ सो रही है।"

kamalnath government failed for not relief and rescue on rain in mp
Author
Indore, First Published Sep 16, 2019, 7:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंदौर. मध्य प्रदेश में अतिवृष्टि और बाढ़ के हालात को लेकर सत्तारूढ़ कांग्रेस पर हमला बोलते हुए भाजपा ने सोमवार को आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार राहत और बचाव के लिये पर्याप्त कदम नहीं उठा रही है। रविवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया के दिए बयान हवाला देते हुए सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है।  

‘कुंभकर्ण की नींद’ में  कमलनाथ सरकार
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा, "अतिवृष्टि और बाढ़ से प्रदेश में हाहाकार है। किसानों की फसल चौपट हो गई हैं, लेकिन प्रभावितों का हाल-चाल जानने को उनके दरवाजे पर जाने के लिए मुख्यमंत्री तो छोड़िये, कोई मंत्री भी तैयार नहीं है।" उन्होंने कहा, "सूबे में प्राकृतिक आपदा से उत्पन्न भयावह हालात की सुध लिये बगैर कमलनाथ सरकार ‘कुंभकर्ण की नींद’ सो रही है।"

सिंधिया ने भी कमलनाथ सरकार पर साधा था निशाना
गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश में अतिवृष्टि और बाढ़ के हालात पर चिंता जताते हुए कल रविवार को यहां कहा था कि राज्य सरकार को किसानों समेत सभी प्रभावित लोगों को जल्द से जल्द मुआवजा और सहायता राशि प्रदान करनी चाहिये।

बीजेपी ने सिंधिया के बयान का दिया हवाला
सिंह ने इस बयान का हवाला देते हुए कहा, "अतिवृष्टि और बाढ़ के हालात पर सिंधिया ने वही बात कही है, जो भाजपा पहले से कह रही है। जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी भाजपा की बात दोहरा रहे हैं, तो राज्य सरकार का भला क्या मतलब रह जाता है?"उन्होंने कहा, "अगर मुख्यमंत्री कमलनाथ मानते हैं कि मैं और सिंधिया झूठ बोल रहे हैं, तो वह इसके बारे में मीडिया के सामने स्पष्टीकरण दें।"

एमपी सरकार पर लगाए ये आरोप
कमलनाथ सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने तंज किया, "प्रदेश में जब भी किसी मंत्री या कांग्रेस विधायक के आर्थिक हित पूरे नहीं होते, तो वह चिल्लाने लगता है। इस पर मुख्यमंत्री तत्काल उसके मुंह में दूध की बोतल देकर उसे चुप कराना शुरू कर देते हैं।"
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios